Advertisement

politics

  • Nov 12 2019 2:14PM
Advertisement

महाराष्ट्र में बनेगी सरकार या लागू होगा राष्ट्रपति शासन, फैसला आज शाम तक, PM मोदी ने बुलाई कैबिनेट बैठक

महाराष्ट्र में बनेगी सरकार या लागू होगा राष्ट्रपति शासन, फैसला आज शाम तक,  PM मोदी ने बुलाई कैबिनेट बैठक

मुंबईः महाराष्ट्र राष्ट्रपति शासन की ओर बढ़ता दिख रहा है. महाराष्ट्र के राजनीतिक हालात को लेकर प्रधानमंत्री के निवास पर कैबिनेट की एक इमरजेंसी मीटिंग हो रही है.  भारतीय जनता पार्टी जब राज्य में सरकार नहीं बना सकी थी तो राज्यपाल ने रविवार को शिवसेना को सरकार बनाने का मौका दिया था और 24 घंटे में समर्थन जुगाड़ करने को कहा था, लेकिन शिवसेना बहुमत के लिए जरूरी 145 विधायकों का समर्थन जुगाड़ नहीं कर पाई. इसके बाद राज्यपाल ने अगले 24 घंटे में एनसीपी को सरकार बनाने के लिए जरूरी बहुमत जुगाड़ करने को कहा है.

लगातार बैठकों के बाद भी कांग्रेस एनसीपी और शिवसेना की गठबंधन वाली सरकार को समर्थन देने को लेकर कोई फैसला नहीं कर पाई है. एनसीपी के पास मंगलवार शाम साढ़े आठ बजे तक का वक्त है. इस बीच, खबर आ रही है कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की सिफारिश कर दी है.

विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद से यहां सरकार बनाने की कोशिश चल रही है लेकिन अभी तक कोई स्पष्ट हल नहीं दिख रहा. सोमवार सुबह से लेकर अबतक शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के बीच कई राउंड की वार्ता के बाद भी सरकार गठन को लेकर कोई बात साफ नहीं हो पायी है.

सूत्रों के मुताबिक, राज्यपाल ने अपने सिफारिश में कहा है कि राज्य में कोई भी पार्टी सरकार बनाने की स्थिति में नहीं है, ऐसे में राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करना ही एक विकल्प है. सिफारिश भेजने के बाद राज्यपाल आज शाम तक का इंतजार करेंगे. अगर एनसीपी तब तक बहुमत साबित नहीं कर पाती है तो राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू हो जाएगा.

इधर,  महाराष्ट्र में सियासी संकट के बीच शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने देश के वरिष्ठ वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल से फोन पर बात की है. शिवसेना तीन दिन का समय मांग रही है. अगर ऐसा नहीं होता है तो शिवसेना कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकती है. इसी मसले पर ठाकरे ने सिब्बल से बात की है. 

 
मुंबई जाकर पवार से मिलेंगे कांग्रेस नेता
महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर आज सुबह कांग्रेस की बैठक हुई. इस बैठक में सोनिया गांधी ने तीन नेताओं को मुंबई जाने का निर्देश दिया है. पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि सोनिया गांधी ने आज सुबह शरद पवार से बात की है और मल्लिकार्जुन खड़गे, अहमद पटेल और मुझे मुंबई जाने के निर्देश दिए हैं. वेणुगोपाल ने बताया कि हम तीनों नेता मुंबई जाकर शरद पवार से मिलेंगे.
 
50-50 फॉर्मूला चाहती है एनसीपी!
महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर नया पेच फंसता नजर आ रहा है. कांग्रेस का मानना है कि देरी उनकी तरफ से नहीं, बल्कि एनसीपी चीफ शरद पवार की ओर से हो रही है. इसके पीछे कांग्रेस की थ्योरी है कि शरद पवार चाहते हैं कि दोनों पार्टियों शिवसेना और एनसीपी को ढाई-ढाई साल सीएम पद मिले. यानी सीएम का पद रोटेशनल हो. वहीं, शिवसेना अभी भी आदित्य ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाना चाहती है.
 
शिवसेना से गठबंधन को लेकर उलझन में कांग्रेस
महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच सरकार बनाने को लेकर अभी तक सहमति का फॉर्मूला नहीं बन सका है. कांग्रेस महाराष्ट्र में फूंक-फूंक कर कदम रख रही है और शिवसेना के साथ गठबंधन को लेकर उलझन में फंसी हुई है.धर्मनिरपेक्षता कैंप की अगुआई करने वाली कांग्रेस के लिए उग्र हिंदुत्व की पैरोकारी करने वाली शिवसेना से हाथ मिलाने के दाग का खतरा है.
 
इसके अलावा कांग्रेस के लिए गठबंधन की राजनीति बहुत ज्यादा सूट नहीं करती है. यही वजह है कि महाराष्ट्र सरकार में हिस्सेदारी के ऑफर के बावजूद कांग्रेस कशमकश में फंसी हुई है.

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement