Advertisement

lucknow

  • Jul 20 2019 2:50PM
Advertisement

UP में ‘जंगल राज’, सोनभद्र में हुई ‘संस्थागत हत्याएं’ : कांग्रेस

UP में ‘जंगल राज’, सोनभद्र में हुई ‘संस्थागत हत्याएं’ : कांग्रेस

नयी दिल्ली : उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में सामूहिक हत्याकांड के पीड़ित परिवारों से मिलने जा रहीं प्रियंका गांधी वाड्रा को प्रशासन द्वारा रोके जाने की पृष्ठभूमि में कांग्रेस ने शनिवार को राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार में ‘जंगल राज’ होने और आदिवासियों की ‘संस्थागत हत्या’ किये जाने का आरोप लगाया. साथ ही सवाल किया कि आखिर सरकार प्रियंका से डरी हुई क्यों है.

इसे भी पढ़ें : सोनभद्र नरसंहार में मारे गये लोगों के परिजनों से मिर्जापुर में मिलीं प्रियंका गांधी, UP के राज्यपाल से मिले कांग्रेस नेता

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘सोनभद्र का नरसंहार देश के गरीब और किसान के खिलाफ है. ये हत्याएं संस्थागत मानी जायें.’ उन्होंने कहा, ‘पीड़ितों को न्याय देने की बजाय अजय सिंह उर्फ आदित्यनाथ की सरकार विपक्षी दलों के नेताओं के दमन में लगी है. प्रियंका जी का कसूर इतना ही है कि वह पीड़ितों से मिलना और उनके आंसू पोंछना चाहती थीं.’

सुरजेवाला ने कहा, ‘पीड़ित आदिवासियों के गांव ऊंभा को पुलिस छावनी बना दिया गया. किसी के आने-जाने पर रोक लगा दी गयी है. क्या वहां आतंकवादी और उग्रवादी हैं?’ उन्होंने दावा किया, ‘आदित्यनाथ सरकार ने 19 अक्टूबर, 2017 को आदिवासियों की जमीन को मुख्य आरोपी के नाम कर दी. योगी सरकार आदिवासियों की जमीन पर कब्जा करवाना चाहती है. आदिवासी किसान के खिलाफ कई प्राथमिकी दर्ज की गयी. आदिवासियों ने जिलाधिकारी के पास आवेदन किया, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई.’

इसे भी पढ़ें : सोनभद्र नरसंहार के मुख्य आरोपी के रिश्तेदार कोमल को पुलिस ने वाराणसी से किया गिरफ्तार

उन्होंने कहा, ‘यह आदित्यनाथ सरकार का षड्यंत्र नहीं तो क्या है? सच्चाई यह है कि आदित्यनाथ सरकार अपराधियों को संरक्षण दे रही है. वह सोनभद्र में अपराधियों के साथ खड़ी है.’ उन्होंने कहा कि हम नरसंहार के पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए हर संभव कदम उठायेंगे. सुरजेवाला ने यह सवाल भी किया, ‘क्या पूरे उंभा गांव (सोनभद्र) को पुलिस छावनी में बदलकर सच दबा पायेगी आदित्यनाथ सरकार? भाजपा सरकार को प्रियंका गांधी से डर क्यों लगता है?’

गौरतलब है कि प्रियंका को शुक्रवार को सोनभद्र जाने से प्रशासन ने रोक दिया. वह बुधवार को हुए इस सामूहिक हत्याकांड के पीड़ित परिवारों से मिलने जा रहीं थी. प्रियंका प्रशासन के इस कदम के विरोध में धरने पर बैठ गयीं. बाद में उन्हें चुनार गेस्ट हाउस ले जाया गया. शनिवार सुबह पीड़ित परिवारों के कुछ लोग खुद वहां पहुंचे और प्रियंका से मिले. पिछले दिनों सोनभद्र में जमीन विवाद में एक ग्राम प्रधान ने अपने समर्थकों के साथ मिलकर कथित रूप से दूसरे पक्ष पर गोलीबारी की, जिसमें 10 लोगों की मौत हो गयी और कई अन्य घायल हो गये.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement