Advertisement

patna

  • Oct 11 2019 7:09AM
Advertisement

बाइकर्स गैंग को रंगदारी नहीं दी तो गोली मार कर दी छात्र की हत्या

 पटना : शास्त्रीनगर थाने के मोहनपुर पुनाईचक नाला के पास बुधवार की रात 11 बजे किंग्स ऑफ पटना बाइकर्स गैंग  ने रंगदारी नहीं देने पर छात्र अमन कुमार की गोली मार कर हत्या कर दी. अपराधियों ने पहले अमन के  सिर पर पिस्तौल की बट से प्रहार किया और फिर पीठ में गोली मार दी. इसके साथ ही उसके साथ रहे उसके दोस्त शुभम (बोरिंग रोड) व रिशू (बोरिंग केनाल रोड) पर पिस्तौल तान दी. इसके कारण  वे दोनों अपनी जान बचा कर भाग निकले. 

 
घटना की जानकारी मिलने पर अमन का भाई विशाल व अन्य पहुंचे, तो उनके साथ भी मारपीट की गयी. इसके बाद अपराधी वहां से पिस्तौल लहराते हुए फरार हो गये. किसी तरह से खून से लथपथ अमन को इलाज के लिए एक निजी अस्पताल ले जाया गया. लेकिन वहां भी स्थिति में सुधार नहीं हुआ और दूसरे अस्पताल में ले जाने के क्रम में अमन की मौत हो गयी. 
 
बयान के आधार पर दर्ज की गयी प्राथमिकी 
 इस संबंध में विशाल के बयान के आधार पर किंग्स ऑफ पटना के सरगना गोलू सिंह (मैनपुरा) व रंजन सिंह (पुनाईचक) के खिलाफ शास्त्रीनगर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी है. इसमें विशाल ने पुलिस को जानकारी दी है कि मोहनपुर पुनाईचक में गोलू सिंह व रंजन सिंह ने उसके भाई अमन की  गोली मार कर हत्या कर दी है.
 
 इसके साथ ही यह भी बताया है कि गोलू सिंह अमन से रंगदारी मांगता था. इसका विरोध करने पर उसकी हत्या कर दी गयी. इधर, पुलिस घटना के समय मौजूद रिशू से पूछताछ कर रही है. लेकिन शुभम पुलिस के समक्ष उपस्थित नहीं हो पाया है. आरोपित गोलू सिंह कुख्यात अपराधी रहा है और हाल ही में जेल से जमानत पर छूटा है.
 
गोलू सिंह ने दिया घटना को अंजाम, बीसीए की पढ़ाई खत्म कर आया था पटना
अमन कुमार ने पटना से मैट्रिक व इंटर की पढ़ाई की थी. इसके बाद दिल्ली बीसीए की पढ़ाई करने चला गया. 12 सितंबर को जन्मदिन था. वह आर्थिक तंगी से पटना लौट आया था. उसके बाद से पटना में ही रह रहा था. अमन चार भाइयों में सबसे बड़ा था. पिता गोकुल लाल की भी मौत हो चुकी है.
 
चारों भाइयों की हत्या करने की थी योजना 
घटना के संबंध में परिजनों ने बताया कि गोलू व रंजन सिंह द्वारा चारों भाइयों की हत्या की योजना थी. बुधवार को रात 10 बजे अमन, आकाश व अन्य भाइयों को फोन आये. फोन रंजन सिंह ने किया था और सभी को मोहनपुर पुनाईचक नाला पर बुलाया था. अमन दो दोस्तों शुभम व रिशू के साथ पहले पहुंच गया. इसके बाद गोलू व रंजन ने घटना को अंजाम दिया. 
 
अष्टमी को भी हुई थी पुनाईचक में मारपीट 
बताया जाता है कि अमन की दुर्गा पूजा के दिन अष्टमी को किसी से लड़ाई हुई थी और उसकी पिटाई कर दी गयी थी. लेकिन उसने मारपीट की बात अपने परिजनों को नहीं बतायी था. संभवत: उस दिन हुई मारपीट की घटना से भी तार जोड़ कर हत्या के कारणों को पुलिस खोज रही है. 
 
क्या कहते हैं सचिवालय डीएसपी  
सचिवालय डीएसपी राजेश सिंह प्रभाकर ने बताया कि यह स्पष्ट है कि सभी एक-दूसरे के परिचित थे. इसके बाद इतनी रात को सात-आठ युवकों का ग्रुप बोरिंग रोड ललित होटल के सामने एकत्र होकर कहीं निकला. इसके बाद अमन को गोली लगी. लेकिन, घटना की जानकारी किसी ने पुलिस को नहीं दी थी. 
 
लोकल लोगों से सूचना मिली. पूछताछ में रिशू ने बताया है कि उनके बगल से बाइक गुजरी और उस पर सवार युवक ने गोली मार दी. डीएसपी ने बताया कि मामले में सवाल उठ रहे हैं. जवाब अनुसंधान के माध्यम से खोजा जा रहा है. संभव है कि लोग झगड़ा करने जा रहे होंगे और पास रहे पिस्तौल से गोली चल गयी होगी? 
 
उठ रहे कई सवाल जांच में लगी पुलिस
बताया जाता है कि अमन खुद बाइक चला रहा था और उसके पीछे रिशू व शुभम बैठे थे. इसी दौरान गोली चली और अमन गाड़ी से गिर पड़ा. यह बात पुलिस को नहीं पच रही है, क्योंकि गोली अमन की पीठ में लगी है. जबकि अमन के पीछे रिशू व शुभम बैठे हुए थे. इसके साथ ही शुभम घटना 24 घंटे बाद भी पुलिस के समक्ष नहीं उपस्थित हो पाया है. इन सभी बिंदुओं पर पुलिस जांच कर रही है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement