Advertisement

patna

  • Aug 23 2019 8:35AM
Advertisement

अरुणाचल के जदयू विधायकों व नेताओं ने किया बिहार का दौरा

अरुणाचल के जदयू विधायकों व नेताओं ने किया बिहार का दौरा
पटना : अरुणाचल प्रदेश जदयू विधायकों और नेताओं की दस सदस्यीय टीम ने बुधवार और गुरुवार को बिहार के पटना सहित गया, बोधगया, नालंदा और राजगीर का दौरा किया. साथ ही वे गुरुवार रात पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की डिनर पार्टी में शामिल हुए. 
 
इन सभी को पार्टी के प्रदेश कार्यालय में गुरुवार दोपहर में सम्मानित किया गया. इस मौके पर अपने संबोधन में ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने कहा  कि अब वह दिन दूर नहीं जब जदयू को  राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा मिलेगा. अरुणाचल प्रदेश का इस उपलब्धि में विशेष  योगदान रहेगा. 
 
इस समारोह में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सह राज्यसभा में पार्टी संसदीय दल के नेता आरसीपी सिंह, लोकसभा में पार्टी  संसदीय दल के नेता राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, मंत्री अशोक चौधरी, श्याम रजक, सांसद रामप्रीत मंडल, विधानपार्षद संजय कुमार सिंह उर्फ गांधीजी, जदयू के राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी अनिल हेगड़े, राष्ट्रीय सचिव संजय वर्मा, प्रदेश महासचिव व मुख्यालय प्रभारी डॉ नवीन कुमार आर्य, अनिल कुमार, जदयू मीडिया सेल के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अमरदीप सहित अन्य नेता मौजूद रहे. कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय महासचिव अफाक अहमद खान ने किया.  
 
अरुणाचल के ये नेता हुए शामिल: जदयू नाॅर्थ ईस्ट एग्जीक्यूटिव काउंसिल के चेयरमैन एनएसएन लोथा, अरुणाचल प्रदेश जदयू के अध्यक्ष रूही तागूंग, अरुणाचल प्रदेश जदयू विधायक दल के नेता तेची कासो, विधायक हयेंग मांगफी, जिक्का ताको, कंगोंग ताकू, दोरजी वांगडी खरमा, पूर्व विधायक और इस बार विधानसभा चुनाव में मात्र 97 मतों से हारे दिकतो येकर, चुनाव लड़ने वाले अन्य उम्मीदवार दाना ताकियो, गुमजुम हैदर, नगोलिन बोई और तोपिन एते शामिल हैं. 
 
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 25 को जायेंगे रांची 
 
जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार झारखंड में पार्टी को दिशा देने और वहां के विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी की तैयारी का जायजा लेने के लिए 25 अगस्त को रांची जायेंगे. झारखंड के पूर्व सांसद और जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू  ने गुरुवार को कहा है कि झारखंड में भाजपा ने सीएनटी और सीपीटी कानून को कई बार तोड़ा. भाजपा आरक्षण और संविधान विरोधी है. आदिवासी मूलवासी विरोधी है. 
 
जदयू बिहार और देश में शराबबंदी पर काम कर रही है वहीं झारखंड में भाजपा ग्रामीण स्कूलों को बंद करवा कर और राशन दुकानों में शराब की दुकान  खोल रही है. उन्होंने झारखंड में भाजपा, झामुमो सहित सभी राजनीतिक दलों की जगह बेहतर विकल्प जदयू को बताया है. बता दें कि बिहार में भाजपा, जदयू और लोजपा के एनडीए गठबंधन की सरकार है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement