Advertisement

patna

  • Jul 12 2019 5:24AM
Advertisement

पटना : इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक का अभियान, अगस्त तक 76 गांव बनेंगे डिजिटल लेन-देन में सक्षम

पटना : इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक का अभियान, अगस्त तक 76 गांव बनेंगे डिजिटल लेन-देन में सक्षम
पटना : डिजिटल इंडिया की सुविधा गांवों तक पहुंचाने के लिए डाक विभाग ने  प्रोजेक्ट अभिमान की शुरुआत की है. प्रोजेक्ट का नाम मेरा अभिमान–सक्षम ग्राम रखा गया है. इस  प्रोजेक्ट के तहत पूरे देश में 1300 गांवों को एवं बिहार के 76 गांवों  को डिजिटल लेन–देन में सक्षम बनाने का लक्ष्य रखा गया है, जिसे 10 अगस्त डाक विभाग को पूरा करना है. 
 
इस बात की जानकारी पोस्टमास्टर जनरल (पूर्वी क्षेत्र) अनिल कुमार ने गुरुवार को दी. उन्होंने बताया कि  इस योजना के तहत प्रत्येक जिले के दो चिन्हित गांवों के प्रत्येक घर के सदस्यों  को  आइपीपीबी बैंक खातों से जोड़ना है तथा उन्हें डिजिटली नकदी रहित लेन–देन में सक्षम बनाना है. 
 
साथ ही गांव में रहने वाले व्यवसायी तथा उद्यमियों को  भी आइपीपीबी बैंक खातों से जोड़कर उन्हें भी डिजिटली लेन–देन के लिए सक्षम बनाना है. कुमार ने बताया कि  इस प्रकार एक बार में बिहार के 76 गांवों  के ग्रामीणों को डिजिटली नकदी रहित लेन–देन के लिए सक्षम बनाने  का लक्ष्य रखा गया है जिसे हर हालत में 10 अगस्त 2019 तक पूरा करना है.  बताते चलें  कि  यह प्रोजेक्ट 5 जुलाई 2019 से चालू है जो 10 अगस्त 2019 तक चलेगा.
 
पुरस्कृत होंगे कर्मचारी
 
इस लक्ष्य को पूरा करने वाले कर्मचारियों, अधिकारियों  के लिए चार पुरस्कार श्रेणी  बांंटा गया है.  प्रथम पुरस्कार श्रेणी में 100 प्रतिशत डिजिटल गांव को एक बड़े प्लाक के जरिये  जिसमें सभी संबंधितों  की चर्चा रहेगी, को गांव में लगाया जायेगा तथा संबंधित ग्राम पंचायत  को सचिव (डाक) सम्मान पत्र देकर सम्मानित करेंगे. द्वितीय श्रेणी के पुरस्कार में  100 प्रतिशत लक्ष्य पूरा करने वाले मंडलीय प्रमुख एवं  आईपीपीबी के शाखी प्रमुखों को  मेमेंटो एवं  सम्मान पत्र से सम्मानित किया जायेगा. 
 
तृतीय श्रेणी पुरस्कार में 100 प्रतिशत लक्ष्य पूरा करने वाले  सर्किल को सचिव (डाक) एवं  सीइओ एवं एमडी आइपीपीबी बैंक द्वारा सम्मानित किया जायेगा.  चतुर्थ श्रेणी पुरस्कार में सबसे ऊंचा लक्ष्य प्राप्त करने वाले सर्किल को संचार एवं कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद के  द्वारा आइपीपीबी के  दूसरे  वर्षगांठ  पर  सम्मानित किया जायेगा.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement