Advertisement

patna

  • Jul 17 2019 7:37AM
Advertisement

पटना के 50 पुलिस अधिकारियों पर होगी प्राथमिकी, वेतन रोका गया, पेंडिंग केसों की फाइल सौंपने के लिए 15 दिनों का समय

पटना के 50 पुलिस अधिकारियों पर होगी प्राथमिकी, वेतन रोका गया, पेंडिंग केसों की फाइल सौंपने के लिए 15 दिनों का समय
पटना : वैशाली जिले के बाद पटना जिले में भी 24 हजार केस पेंडिंग रखने वाले करीब 50 पुलिस अधिकारियों (आइओ) पर एफआइआर की तैयारी है. 
 
ये ऐसे पुलिस अधिकारी हैं, जिनका तबादला दूसरे जिले में हो गया है. लेकिन, उन्होंने केस की फाइल अब तक नहीं सौंपी है. इन सभी पुलिस अधिकारियों के वेतन पर रोक लगा दी गयी है और उन्हें 15 दिनों के अंदर केस का चार्ज थानाध्यक्ष को सौंपने का निर्देश दिया गया है. 
 
अगर उनलोगों ने 15 दिनों में केस की फाइल नहीं सौंपी, तो उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जायेगी. एसएसपी गरिमा मलिक ने सभी सिटी एसपी, डीएसपी, थानाध्यक्ष और आइओ को निर्देश दिया है कि वे जल्द-से-जल्द केस का निष्पादन करें. जो भी केस फाइनल है, उसकी चार्जशीट न्यायालय में दाखिल करें और इसकी जानकारी एसएसपी कार्यालय को भी दें. 
 
मई-जून में 600 केसों का हुआ निबटारा
 
एसएसपी गरिमा मलिक ने बताया कि मई व जून माह में स्थिति अच्छी रही है. पटना जिले के थानों में जितने केस दर्ज हुए हैं, उससे 600 ज्यादा केसों का निष्पादन हुआ है. इसके पूर्व कम ही निष्पादन होता था और इसके कारण लंबित केसों में लगातार इजाफा हो रहा था. मालूम हो कि वैशाली में ऐसे 66 पुलिस अफसरों पर प्राथमिकी दर्ज हुई है.

केस का चार्ज नहीं दिया तो प्राथमिकी
 
हाल के दिनों में करीब 100 आइओ से केस का चार्ज लिया गया और अभी करीब 50 आइओ ने अब तक केस का चार्ज नहीं सौंपा है. इन सभी आइओ को 15 दिनों के अंदर केस सौंपने का निर्देश दिया गया है. अगर इसके बाद भी केस का चार्ज नहीं सौंपा गया, तो उन पर प्राथमिकी दर्ज की जा सकती है.
—गरिमा मलिक, एसएसपी, पटना
 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement