Advertisement

patna

  • Feb 25 2018 2:20PM

MONEY LAUNDERING CASE : ED की बड़ी कार्रवाई, मीसा भारती के दिल्ली का फार्म हाउस जब्त

MONEY LAUNDERING CASE : ED की बड़ी कार्रवाई, मीसा भारती के दिल्ली का फार्म हाउस जब्त

नयी दिल्ली : राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के परिवार की मुश्किलें बढ़ी ही जा रही हैं. लालू प्रसाद यादव अभी जेल में बंद हैं. लालू-राबड़ी के दामाद राहुल यादव से अपनी सास को एक करोड़ रुपये देने के संबंध में ईडी पूछताछ कर चुकी है. राहुल यादव के जवाब से असंतुष्ट ईडी ने राहुल यादव के पिता जितेंद्र यादव को समन जारी कर पूछताछ के लिए बुलाया है. ईडी ने मीसा भारती और उनके पति शैलेश से भी 8,000 करोड़ रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ कर चुकी है. अब ईडी ने लालू प्रसाद यादव की बड़ी बेटी व राजद सांसद मीसा भारती के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए दिल्ली के बिजवासन स्थित फार्म हाउस को जब्त कर लिया है.

एक विशेष पीएमएलए प्राधिकरण ने व्यवस्था दी है कि राजद प्रमुख लालू प्रसाद की बेटी मीसा भारती और उनके पति के नाम पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा दिल्ली में कुर्क किया गया एक फार्म हाउस धनशोधन में ‘‘शामिल'' था और आदेश दिया कि इस संपत्ति की कुर्की जारी रहनी चाहिए. ईडी ने दक्षिण दिल्ली के बिजवासन में 12 बीघा जमीन पर फैले इस फार्म हाउस को पिछले साल सितंबर में धनशोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत कुर्क किया था. 

पीएमएलए के न्यायिक प्राधिकरण के सदस्य (विधि) तुषार वी शाह ने हाल ही में अपने एक आदेश में कहा, ‘‘(प्रवर्तन निदेशालय की) मूल शिकायत में पेश की गयी सामग्री पर विचार करने पर.... मैंने पाया कि अंतरिम रूप से कुर्क की गयी संपत्ति धनशोधन में शामिल थी.'' प्राधिकरण ने कहा, ‘‘अत: मैं संपत्ति की कुर्की पर मुहर लगाता हूं....और आदेश देता हूं कि अदालत में पीएमएलए से जुड़े अपराध के संबंध में सुनवाई चलने के दौरान यह कुर्की जारी रहेगी तथा विशेष अदालत से जब्ती आदेश आने के बाद यह अंतिम रूप ले लेगा.'' 

ईडी के सूत्रों ने बताया कि एजेंसी ने अब यह संपत्ति जब्त कर ली है. केद्रींय जांच एजेंसी ने कहा था कि यह संपत्ति मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार की है एवं वह मेसर्स मिशैल पैकर्स एंड प्रिंटर्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम से रखी गयी है. उसने कहा था कि उसकी जांच से पता चला कि यह फार्म हाउस 2008-09 में धनशोधन में शामिल 1.2 करोड़ रुपये का इस्तेमाल कर खरीदा गया था. ईडी 8,000 करोड़ रुपये के कथित धनशोधन मामले की अपनी जांच के तहत राजद सांसद मीसा भारती और उनके पति की जांच कर रही है. उसमें फर्जी कंपनियों और दिल्ली के दो कथित एंट्री ऑपरेटर सुरेंद्र जैन और वीरेंद्र जैन की कथित संलिप्तता है.

क्यों जब्त किया ईडी ने फार्म हाउस

प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली की एक अदालत में आरोप पत्र दाखिल किया है. अपने आरोप पत्र में ईडी ने कहा कि 'जांच में पता चला कि 2007-2009 के दौरान मीसा भारती और शैलेश की कंपनी मिशैल पैकर्स एंड प्रिंटर्स के 1,20,000 शेयरों को शिलिनी होल्डिंग्स लिमिटेड, एड-फिन कैपिटल सर्विसिस (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड, मनी माला, दिल्ली प्रॉपर्टी प्राइवेट लिमिटेड और डायमंड विनीम प्राइवेट लिमिटेड जैसी फर्जी कंपनियों ने 100 रुपये प्रति शेयर पर खरीदा.' शालिनी होल्डिंग्स, एड-फिन और मनी माला कंपनियों के कर्ता-धर्ता जैन बंधु थे. डायमंड विनीमी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी संतोष कुमार शाह की है.

ईडी ने बताया है कि मीसा भारती ने साल 2009 में 12 रुपये प्रति शेयर की दर से 1,20,000 शेयरों को खरीद लिया. 'मीसा भारती के शेयर लेते समय मिशैल पैकर्स और प्रिंटर का पता नयी दिल्ली स्थित 25, तुगलक रोड था. लेकिन, वर्ष 2009-10 के में कंपनी का पता बदल कर नयी दिल्ली के बिजवासन स्थित 26 पालम फार्म में कर दिया गया. इस दौरान मीसा भारती और उनके पति शैलेश ही कंपनी के निदेशक थे.' साथ ही जांच में यह भी पता चला कि 1.20 करोड़ रुपये की धनराशि का इस्तेमाल मिशैल पैकर्स एवं प्रिंटर और निदेशकों ने बिजवासन स्थित 26 पालम में एक फार्म खरीदने के लिए किया है. इसलिए फार्म को ईडी ने जब्त कर लिया है.'

Advertisement

Comments

Advertisement