Advertisement

patna

  • Oct 21 2019 7:57PM
Advertisement

बिहार में लोकसभा की एक सीट, विधानसभा की पांच सीट पर 49.26 प्रतिशत मतदान

बिहार में लोकसभा की एक सीट, विधानसभा की पांच सीट पर 49.26 प्रतिशत मतदान

पटना : बिहार में लोकसभा की एक सीट समस्तीपुर और विधानसभा की पांच सीट किशनगंज, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, नाथनगर और बेलहर के उपचुनाव के तहत सोमवार को शाम पांच बजे तक मतदान के दौरान 49.26 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) जितेंद्र कुमार के साथ सोमवार की शाम पत्रकारों को संबोधित करते हुए मुख्य निर्वाचन अधिकारी एचआर श्रीनिवासन ने बताया कि समस्तीपुर लोकसभा सीट और किशनगंज, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, नाथनगर और बेलहर विधानसभा सीटों पर मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ.

समस्तीपुर लोकसभा क्षेत्र में 45 प्रतिशत और पांच विधानसभा क्षेत्रों में 49.90 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाला. उन्होंने बताया कि किशनगंज, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, नाथनगर और बेलहर विधानसभा क्षेत्रों में शाम पांच बजे तक क्रमश: 59.18 प्रतिशत, 52.50 प्रतिशत, 42.20 प्रतिशत, 43.20 प्रतिशत और 53.49 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान का हाल में निधन के कारण समस्तीपुर लोकसभा सीट खाली हो गयी थी.

किशनगंज, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, नाथनगर और बेलहर विधानसभा सीटें वहां के विधायकों के लोकसभा के लिए निर्वाचित होने पर रिक्त हुई थीं. किशनगंज विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस विधायक मोहम्मद जावेद, सिमरी बख्तियारपुर के जदयू विधायक दिनेश चंद्र यादव, दरौंदा की जदयू विधायक कविता सिंह, नाथनगर के जदयू विधायक अजय मंडल और बेलहर विधानसभा क्षेत्र के जदयू विधायक गिरधारी यादव के सांसद बनने से ये सीटें खाली हुई थीं.

श्रीनिवासन ने बताया कि लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान समस्तीपुर में 60.63 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था. उन्होंने बताया कि किशनगंज, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, नाथनगर और बेलहर में 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान क्रमश: 66.63 प्रतिशत, 54.31 प्रतिशत, 52.49 प्रतिशत, 56.47 प्रतिशत और 54.52 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाला था। इन सभी सीटों पर कुल 3227282 मतदाता हैं. जिनके लिए 3258 मतदान केंद्रों पर 3258 बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट और वीवीपैट की व्यवस्था की गयी थी. श्रीनिवासन ने बताया कि मतदान के दौरान राज्यस्तरीय नियंत्रण कक्ष को कुल 36 शिकायतें प्राप्त हुईं जिनका निराकरण किया गया.

अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) जितेंद्र कुमार ने बताया कि मतदान के दौरान 15 लोगों को गिरफ्तार किया गया जिनमें 12 सिवान और 3 बांका जिले के शामिल हैं. उन्होंने बताया कि सिवान में मतदान केंद्र संख्या 142 पर दो चुनाव एजेंटों के थैले से प्रचार सामग्री बरामद होने पर उन्हें गिरफ्तार किया गया. जितेंद्र कुमार ने बताया कि दरौंदा के मतदान केंद्र संख्या 206 पर दो गुटों के बीच अपने प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान कराने को लेकर विवाद और धक्का मुक्की हुई, पर इसमें किसे के जख्मी होने की सूचना नहीं है.

उन्होंने बताया कि बांका में सेक्टर पदाधिकारी विनय कुमार पुलिस पदाधिकारी और बल के साथ मतदान केंद्रों के निरीक्षण के जाने के क्रम में आनंदपुर थाना अंतर्गत बेहरवाडी गांव के पास इन लोगों के वाहन से बेहरार गांव निवासी मनिया देवी :45: की धक्का लगने से मौत हो जाने पर वाहन को जब्त कर अग्रतर कार्रवाई की जा रही है. इन सभी सीटों पर चुनावी मैदान में डटे रहे कुल 51 उम्मीदवार में 6 महिला उम्मीदवार शामिल हैं पर दरौंदा और सिमरी बख्तियारपुर सीट से एक भी महिला उम्मीदवार नहीं है.

चुनावी मैदान में डटे रहे कुल 51 उम्मीदवारों में जदयू और राजद के 4-4, भाकपा के तीन, कांग्रेस के दो, भाजपा एवं लोजपा के एक-एक, 12 अन्य निबंधित दलों और 24 निदर्लीय प्रत्याशी शामिल हैं. राजग ने पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटों में से 39 पर तथा उसके साथ हुए दो विधानसभा सीटों के उपचुनाव जीत हासिल की थी. राजग में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जदयू, भाजपा और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की लोजपा शामिल है. उस समय के विधानसभा उपचुनाव से पहले वहां से लालू प्रसाद की पार्टी राजद के विधायक रहे थे.

विपक्षी महागठबंधन पिछले लोकसभा चुनाव में केवल एक सीट किशनगंज पर विजया रही थी. इस महागठबंधन में राजद, कांग्रेस, पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा सेक्युलर, पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा और फिल्मी सेट डिजाइनर से राजनीति के क्षेत्र में कदम रखे मुकेश सहनी के दल विकासशील इंसान पार्टी शामिल हैं. समस्तीपुर लोकसभा सीट पर चुनावी मैदान में डटे रहे 8 उम्मीदवारों में दो महिला और 3 निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं. इस सीट पर सीधा मुकाबला लोजपा उम्मीदवार और दिवंगत पूर्व सांसद रामचंद्र पासवान के पुत्र प्रिंस राज और कांग्रेस प्रत्याशी अशोक राम के बीच था.

2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में अशोक राम, रामचंद्र पासवान के खिलाफ खड़े हुए थे पर पराजित हुए थे. किशनगंज विधानसभा सीट पर चुनावी मैदान में डटे रहे 8 उम्मीदवारों में दो महिला और 4 निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं. इस सीट पर मुख्य मुकाबला कांग्रेस उम्मीदवार और यहां से पूर्व सांसद रहे सईदा बानो और भाजपा प्रत्याशी स्वीटी सिंह के बीच था. सिमरी बख्तियारपुर विधानसभा सीट पर चुनावी मैदान में डटे रहे 6 उम्मीदवारों में एक निर्दलीय प्रत्याशी शामिल है. इस सीट पर मुख्य मुकाबला जदयू उम्मीदवार अरुण यादव और राजद प्रत्याशी जफर आलम के बीच था.

दरौंदा विधानसभा सीट पर चुनावी मैदान में डटे रहे 11 उम्मीदवारों में 7 निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं. इस सीट पर मुख्य मुकाबला जदयू उम्मीदवार अजय सिंह और राजद प्रत्याशी उमेश सिंह के बीच था. नाथनगर विधानसभा सीट पर चुनावी मैदान में डटे रहे 14 उम्मीदवारों में दो महिला और 7 निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं. इस सीट पर मुख्य मुकाबला जदयू उम्मीदवार लक्ष्मीकांत मंडल और राजद प्रत्याशी राबिया खातून के बीच था. बेलहर विधानसभा सीट पर चुनावी मैदान में डटे रहे 4 उम्मीदवारों में 2 निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं. इस सीट पर मुख्य मुकाबला जदयू उम्मीदवार लालधारी यादव और राजद प्रत्याशी रामदेव यादव के बीच था.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement