Advertisement

patna

  • Aug 23 2019 1:23PM
Advertisement

अनंत सिंह ने किया दिल्ली के साकेत कोर्ट में सरेंडर, पटना पुलिस ने ली राहत की सांस

अनंत सिंह ने किया दिल्ली के साकेत कोर्ट में सरेंडर, पटना पुलिस ने ली राहत की सांस

नयी दिल्ली / पटना : एके-47 और कारतूस की बरामदगी मामले में फरार चल रहे विधायक अनंत सिंह ने दिल्ली के साकेत कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया. पटना पुलिस राजधानी सहित बाढ़ कोर्ट में जाल बिछाकर इंतजार करती रह गयी. हालांकि, अब पटना पुलिस विधायक को रिमांड पर लेने की कोशिश करेगी. मालूम हो कि बिहार के मोकामा से बाहुबली विधायक अनंत सिंह के पैतृक गांव लदमा में छापेमारी कर पुलिस ने एके-47 और कारतूस बरामद किये थे. इसके बाद विधायक फरार हो गये थे. 

जानकारी के मुताबिक, विधायक अनंत सिंह की गिरफ्तारी के लिए बिहार पुलिस ने राजधानी पटना समेत बाढ़ कोर्ट में जाल बिछा कर इंतजार करती रह गयी और फरार चल रहे विधायक अनंत सिंह दिल्ली पहुंच कर स्थानीय साकेत कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया. बताया जाता है कि अनंत सिंह दोपहर बाद अचानक साकेत कोर्ट पहुंचे और आत्मसमर्पण कर दिया.

यह भी पढ़ें : बिहार पुलिस के बहाने आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने साधा मुख्यमंत्री पर निशाना, कहा...

विधायक के पैतृक गांव लदमा में एके-47 की बरामदगी किये जाने के बाद बिहार में पहली बार यूएपीए एक्ट के तहत बाढ़ थाने में मामला दर्ज किया गया था. विधायक की गिरफ्तारी के लिए पुलिस बाढ़ से लेकर राजधानी पटना तक दबिश बना रही थी, लेकिन उन्हें गिरफ्तार नहीं कर सकी. अंतत: तीन वीडियो जारी कर अपनी बात साझा करने के बाद अनंत सिंह ने आत्मसमर्पण कर दिया. तीसरे वीडियो में उन्होंने कहा है कि उन्हें अदालत पर भरोसा है. वह अदालत में आत्मसमर्पण करेंगे. उन्हें पुलिस पर भरोसा नहीं है, इसलिए वह पुलिस के समक्ष समर्पण नहीं करेंगे. 

विधायक अनंत सिंह के दिल्ली में आत्मसमर्पण किये जाने के बाद बिहार लाये जाने के सवाल पर ग्रामीण एसपी कांतेश मिश्रा ने कहा है कि दिल्ली पुलिस की सूचना पर बिहार पुलिस की टीम दिल्ली जायेगी और ले आयेगी. बिहार पुलिस जल्द ही ट्रांजिट रिमांड दाखिल करेगी. विधायक अनंत सिंह के बिहार लाये जाने की प्रक्रिया में अभी कुछ वक्त लग सकता है. वहीं, यह भी बताया जा रहा है कि विधायक अनंत सिंह को दिल्ली पुलिस बिहार ले आयेगी और बाढ़ कोर्ट में पेश करेगी. विधायक अनंत सिंह जमानत के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल कर सकते हैं, हालांकि विधायक के खिलाफ यूएपीए एक्ट लगाये जाने के कारण उन्हें जमानत मिलना मुश्किल है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement