Advertisement

Pathak Ka Patra

  • May 23 2019 2:38AM
Advertisement

इवीएम पर सवाल

 लोकसभा चुनाव समाप्त होते ही एक बार फिर से इवीएम को लेकर विपक्षी दलों ने हंगामा करना शुरू कर दिया है. यह कोई पहली बार नहीं हो रहा है. इसके पहले भी इवीएम को सवालों के घेरे में रखा गया है. 

 
आज इवीएम से चुनाव शुरू कराने के लगभग 18 वर्षों के बाद भी उसकी विश्वसनीयता पर सवाल उठाये जा रहे हैं. आखिर ऐसा क्यों होता है कि जब नतीजे आपके पक्ष में हों, तो इवीएम सही और जब नतीजे आपके पक्ष में न हों, तो इवीएम को ही गलत ठहराया जाता है. 
 
देश के नागरिक होने के नाते हमें अपनी सरकार चुनने का हक है. इवीएम को गलत बता कर देश के नागरिकों के मत का निरादर करना सही नहीं है. विपक्षी पार्टियों से आग्रह है कि वे अपनी हार का जिम्मा इवीएम को देने के बजाय जनमत का आदर करें और लोकतंत्र का सम्मान करें. 
कन्हाई लाल, रांची
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement