Advertisement

Palamu

  • Jan 17 2019 7:06PM

मंडल डैम पर हेमंत का स्टैंड गलत, भाजपा की नियत साफ नहीं : केएन त्रिपाठी

मंडल डैम पर हेमंत का स्टैंड गलत, भाजपा की नियत साफ नहीं : केएन त्रिपाठी

- वनभोज सह कार्यकर्ता सम्मेलन में पूर्व मंत्री ने झामुमो व भाजपा को घेरा 

मेदिनीनगर : राज्य के पूर्व मंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केएन त्रिपाठी ने मंडल डैम परियोजना पर पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के स्टैंड को गलत बताया है. कहा है कि झामुमो के संघर्ष यात्रा के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जो कुछ कह रहे हैं वह व्यवहारिक पक्ष नहीं है. पहले उन्हें व्यवहारिक पक्ष व जमीनी हकीकत को समझना चाहिए तब कोई बयान देना चाहिए. इस मामले में कांग्रेस का स्टैंड स्पष्ट है. 

 

कांग्रेस कभी नही चाहती की मंडल डैम परियोजना का एकरारनामा रद्द हो. लेकिन एकीकृत बिहार के जमाने में इस परियोजना की जो कार्य योजना तय की गयी थी, उसमें वर्तमान को ध्यान में रखकर बदलाव किये जाएं. झारखंड का पानी झारखंड में ही रहे इसे सुनिश्चित कराने के लिए कांग्रेस लड़ाई लड़ रही है, न कि योजना को रद्द कराने के लिए. 

 

इस मामले में पूर्व मंत्री श्री त्रिपाठी ने एक साथ झामुमो व भाजपा दोनों को घेरा है. जहां झामुमो के स्टैंड को गलत ठहराया, वहीं भाजपा के नियत पर भी सवाल उठाये. पूर्व मंत्री गुरुवार को चियांकी हवाई अड्डा परिसर में वनभोज सह कार्यकर्ता सम्मेलन में बोल रहे थे. सम्मेलन का संचालन अरविंद पासवान ने किया. इस सम्मेलन में पूर्व मंत्री ने अपने संबोधन को मंडल परियोजना पर ही केंद्रित रखा. 

 

उन्‍होंने कहा कि मंडल परियोजना को लेकर सिर्फ दृष्टि बदलने की जरूरत है. भाजपा बार-बार यह कह रही है कि यह परियोजना 1972 में बनी थी. वर्तमान सरकार ने इसमें कोई फेरबदल नहीं किया है. जब यह योजना बनी थी तब एकीकृत बिहार था. तब के लोगों ने भी पलामू के साथ नाइंसाफी की थी. लेकिन अब झारखंड बन गया है और उसके बाद इस योजना को धरती पर उतारा जा रहा है. तब तो यह उम्मीद की ही जा सकती है सरकार झारखंड की है. राज्य झारखंड में है, तो झारखंडवासियों को न्याय मिलेगा. 

 

झारखंडवासियों के साथ अन्याय कर मंडल परियोजना का काम उचित नहीं है. यदि सरकार की मंशा ठीक हो तो मंडल परियोजना के साथ-साथ खपिया व गाड़ी गांव के पास बराज का निर्माण कराये और नहर के माध्यम से पलामू, गढ़वा, लातेहार, चतरा को पानी दे. तब यह योजना पलामू की समृद्धि का प्रतीक बनेगा. 

 

मौके पर विजय चौबे, चंद्रशेखर शुक्ला, विमला कुमारी, भोला पांडेय, शिवनंदन सिंह, कैसर जावेद, पूर्व मुखिया सत्येंद्र तिवारी, वार्ड पार्षद विवेकानंद त्रिपाठी, धीरेंद्र पांडेय, सत्यनारायण यादव, पप्पू अजहर, प्रो. जुगल किशोर प्रसाद, सज्जाद खान, लातेहार जिलाध्यक्ष मुनेश्वर उरांव, रघुवंश चौबे, जिशान खान, नसीम खान, शमीम अहमद राइन, रिजवान खान, बली सिंह, बलराम पांडेय, सुधीर दुबे, विश्राम दुबे, अनिमेष उपाध्याय आदि मौजूद थे. 

 

सम्मेलन के दौरान लिये गये चार संकल्प

सम्मेलन में पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी ने वर्ष 2019 में पलामू के बेहतरी के लिए काम करने का संकल्प लिया. इसके तहत सिंचाई के क्षेत्र में काम करने, स्वास्थ्य, शिक्षा व उद्योग धंधे विकसित करने की दिशा में सक्रियता के साथ काम करने का संकल्प लिया है और यह संकल्प पूरा हो इसके लिए आमजनों के साथ आंदोलन तेज करने का फैसला लिया है.

Advertisement

Comments

Advertisement