Advertisement

Palamu

  • Jan 6 2019 8:09AM

पढ़ें.....मंडल डैम परियोजना समेत छह योजनाओं का शिलान्यास करने आये पीएम नरेंद्र मोदी क्या-क्या बोले

पढ़ें.....मंडल डैम परियोजना समेत छह योजनाओं का शिलान्यास करने आये पीएम नरेंद्र मोदी क्या-क्या बोले
3,682.06 करोड़ की योजनाओं की दी सौगात
 
मेदिनीनगर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को मेदिनीनगर में मंडल डैम परियोजना समेत छह योजनाओं की आधारशिला रखी. इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज जहां पानी को लेकर राजनीतिक कारणों से एक राज्य से दूसरे राज्यों के बीच विवाद हो रहे हैं, ऐसे समय में बिहार और झारखंड की सरकारों ने मिल कर मंडल डैम परियोजना को संपन्न कराने के दिशा में समझदारी से काम किया है. 
 
झारखंड व बिहार सरकार के इस कदम से भारतीय गणराज्य को मजबूती मिलेगी और सकारात्मक संदेश पूरे देश में जायेगा. पीएम मोदी ने मेदिनीनगर के चियांकी हवाई अड्डा मैदान में करीब 3,682.06 करोड़ की लागत से बननेवाली छह योजनाओं  का  ऑनलाइन शिलान्यास किया.   
 
1972 से डैम निर्माण के लिए चली फाइल और भटकती रही : मंडल परियोजना सिर्फ एक परियोजना मात्र नहीं है, बल्कि यह इस बात का भी गवाह है कि किस तरह पूर्व की सरकारों ने किसानों के प्रति असंवेदनशीलता का भाव रखा. यदि इस मामले में पूर्ववर्ती सरकार द्वारा संवेदनशीलता दिखायी गयी होती, तो आज 30 करोड़ की योजना पर 2400 करोड़ खर्च नहीं करने पड़ते. 
 
1972 से डैम निर्माण के लिए फाइल चली और भटकती रही. आधी सदी गुजर गयी और  मंडल डैम खंडहर में बदल गया .  25 साल से काम पूर्णत: ठप पड़ा था.  पीएम मोदी ने उपस्थित लोगों से पूछा कि  ऐसा करनेवाले लोग समाज व किसान के गुनहगार है या नहीं? 
 
क्या किसी परियोजना को पूरा होने में आधी सदी लगनी चाहिए? ऐसा करना किसानों के साथ आपराधिक लापरवाही है या नहीं? क्या ऐसे लोगों के खिलाफ, मुझे (मोदी) लड़ना चाहिए या नहीं? कांग्रेस की सरकार ने यदि समय रहते इन परियोजनाओं को पूरा कर देती, तो आज किसानों को कर्ज लेने की जरूरत नहीं पड़ती. पहले कांग्रेस की सरकार ने किसानों को कर्ज लेने पर मजबूर किया और आज कांग्रेस कर्ज माफी के नाम पर किसानों को गुमराह करने में लगी है.
 
भाजपा किसानों को सशक्त बनाना चाहती है  
 
पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस की नजर में किसान वोट बैंक है और भाजपा की नजर में अन्नदाता. इसलिए उन्होंने गुमराह करनेवाली राजनीति का रास्ता नहीं चुना. 
 
बल्कि प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के तहत 99 परियोजना पर एक लाख करोड़ रुपये खर्च किये जा रहे हैं, ताकि किसान सशक्त हो. वह भी चाहते तो एक लाख करोड़ रुपये किसानों के कर्ज माफी के लिए दे सकते थे, पर इससे क्या होगा? क्षणिक लाभ होगा. भाजपा की सरकार ऐसा काम कर रही है, जिससे अन्नदाताओं की आने वाली पीढ़ी सशक्त व संपन्न बने.
 
चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस ने किसानों को कर्जदार व युवाओं को याचक बना दिया है
 
पीएम मोदी ने कहा कि चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस ने किसानों को कर्जदार व युवाओं को याचक बना दिया है. देश सरकार से नहीं, बल्कि देशवासियों से चलेगा. 
 
इसी इरादे के साथ भाजपा काम करती है. सबका साथ-सबका विकास हमारा ध्येय भी है और लक्ष्य भी. झारखंड अटल बिहारी वाजपेयी की देन है. इसके संतुलित व समग्र विकास के लिए केंद्र व झारखंड की सरकार पूरी ईमानदारी से जुटी है. देश के उज्ज्वल भविष्य के लिए किसानों को ताकतवर बनाना और देश की सेवा करना हमारा धर्म है. इसी संकल्प को लेकर काम किया जा रहा है. 
 
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पहले काम पर नहीं, नाम पर ध्यान दिया जाता था. नाम के पचड़े में काम अटका जाता था. वह जब प्रधानमंत्री बने, तो आवास योजना का नाम किसी नेता के नाम पर नहीं रखा. बल्कि इसे प्रधानमंत्री आवास योजना का नाम दिया. पहले जो घर सरकार की ओर से मिलते थे, उसमें सिर्फ केवल चहारदीवारी होती थी. लेकिन अब जो घर मिल रहे हैं, उसमें तमाम मूलभूत सुविधाएं प्रदान की जा रही है.  घर मिल जाने से आत्मविश्वास बढ़ जाता है. सशक्तीकरण के साथ आत्म सम्मान व आत्मविश्वास बढ़ता है.
 
जब मैडम रिमोट कंट्रोल से सरकार चलाती थी, तो 25 लाख घर बने  
 
पीएम मोदी ने कहा कि जब देश में मैडम रिमोट कंट्रोल से सरकार चलाती थी, तो उस समय के आंकड़े उपलब्ध हैं. आकड़ों के मुताबिक पांच साल में सिर्फ 25 लाख घर बनवाये गये. जबकि साढ़े चार वर्षों में केंद्र सरकार ने एक करोड़ 25 लाख घरों का निर्माण कराया है. यदि देखा जाये, तो जितना काम पांच वर्षों में हुआ, उतना काम करने में कांग्रेस को 25 साल लगेंगे. पूर्व में 18 माह में भी रहने लायक घर भी नहीं बनता था. लेकिन प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बननेवाले घरों की क्वालिटी पर नजर रखी जाती है.  इस कारण 12 माह में ही लोग घरों में रहना शुरू कर दे रहे हैं.  
 
सबको घर मिले, यह सरकार का लक्ष्य है. 2022 तक सभी को घर उपलब्ध करा दिया जायेगा. सरकार  मध्यवर्गीय परिवार के लिए भी काम कर रही है. मध्यमवर्गीय परिवार को घर बनाने के लिए ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है, जिसमें ब्याज दर कम किया गया है. 20 लाख का लोन लेनेवालों को छह लाख तक का लाभ दिया जाता है. उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में दलाल व  बिचौलियों की कोई जगह नहीं है. सरकार योजनाओं की राशि सीधे लाभुकों के खाते  में भेज रही है. पारदर्शिता व ईमानदारी के साथ कार्य हो रहा है. 
 
विरोधियों को पता भी नहीं होगा कि कोयल पक्षी का नाम है या फिर डैम  का उत्तर कोयल परियोजना के तहत आनेवाले मंडल परियोजना की चर्चा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उनके विरोधियों को यह भी पता नहीं होगा कि कोयल पक्षी का नाम है या फिर डैम का. प्रधानमंत्री ने  कहा कि पूर्व की सरकार किसान के प्रति कितनी संवेदनशील थी, इसका बड़ा उदाहरण मंडल डैम परियोजना है. जिस समय यह परियोजना शुरू हुई, बिहार व झारखंड एकीकृत थे. इसके बाद भी मंडल परियोजना अधूरी रह गयी. कांग्रेस खुद भ्रष्टाचार में लिप्त है और दूसरों पर कीचड़ उछालती है. आम जन विकास यात्रा के साक्षी बन रहे हैं.    
 
100 दिनों के अंदर 7 लाख लोगों को मिला आयुष्मान भारत योजना का लाभ 
 
प्रधानमंत्री  ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ झारखंड की धरती से हुआ. योजना  के 100 दिन होने के बाद 7 लाख लोगों को योजना का लाभ मिला. हर दिन 10 हजार  लोग योजना के दायरे में आ रहे हैं. झारखंड के 28 हजार लोगों ने योजना का  लाभ लिया. 
 
झारखंड व बिहार सरकार की सराहना की
 
पीएम मोदी ने  मंडल परियोजना शुरू कराने में बिहार व झारखंड सरकार की जो भूमिका  रही, उसकी सराहना की. उन्होंने  झारखंड के  मुख्यमंत्री रघुवर दास, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश  कुमार, पलामू  के सांसद वीडी राम, चतरा के सांसद सुनील सिंह, औरंगाबाद के सांसद सुशील  सिंह, गया के सांसद हरि मांझी व गोपाल नारायण सिंह को बधाई दी. 
 
कार्यक्रम में शामिल अतिथि
 
शिलान्यास कार्यक्रम में राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, केंद्रीय मंत्री सुदर्शन भगत, नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी, सांसद वीडी राम,  सांसद सुनील सिंह,  मनिका विधायक हरेकृष्णा सिंह,डालटनगंज विधायक आलोक चौरसिया मौजूद थे. 
भारतीय गणराज्य की मजबूती का संदेश दे रहा है मंडल डैम परियोजना
 
प्रधानमंत्री ने सांकेतिक तौर पर कलेश्वरी  देवी, ललिता देवी, रीना देवी, देववन्ति देवी को प्रधानमंत्री आवास योजना के  तहत नवनिर्मित घर की चाबी सौंपी. इस अवसर पर योजना के तहत राज्य के 25 हजार लाभुकों को घर की चाबी दी गयी.   
 
प्रधानमंत्री आवास योजना पर बोले
 
पूर्व की सरकार के पांच साल के कार्यकाल में 25 लाख घर बने और इस सेवक ने चार साल में 1 करोड़ 25 लाख घर बनवाया

2022 तक सभी को पक्का मकान देने का लक्ष्य
 
पहले काम पर नहीं,  नाम पर ध्यान दिया जाता था. नाम के पचड़े में काम अटक जाता था
आवास योजना का नाम उन्होंने किसी नेता के नाम पर नहीं रखा.  बल्कि इसे प्रधानमंत्री आवास योजना का नाम दिया 
क्या-क्या बोले मोदी
 
कांग्रेस ने समय पर नहीं किया काम
 
कांग्रेस की सरकार  यदि समय रहते परियोजनाएं  पूरी कर देती, तो आज किसानों को कर्ज लेने की जरूरत नहीं पड़ती  
यदि मंडल डैम के निर्माण पर  पूर्ववर्ती सरकार ने संवेदनशीलता दिखायी होती, तो आज 30 करोड़ की योजना पर 2400 करोड़ रुपये  खर्च नहीं करने पड़ते 
 
पहले कांग्रेस की सरकार ने किसानों को कर्ज लेने पर मजबूर किया और आज कर्ज माफी के नाम पर किसानों को गुमराह करने में लगी है 
भाजपा अन्नदाताओं को सशक्त बनाने में जुटी
 
प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के तहत 99 परियोजना पर एक लाख करोड़ रुपये खर्च किये जा रहे हैं, ताकि किसान सशक्त हो
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा : वह भी चाहते तो एक लाख करोड़ किसानों के कर्ज  माफी के लिए दे सकते थे.पर इससे क्या होगा? क्षणिक लाभ होगा 
 
भाजपा की  सरकार ऐसा काम कर रही है, जिससे अन्नदाताओं की आने वाली पीढ़ी सशक्त और  संपन्न बने 
किसानों को कर्ज लेनेवाला नहीं, देनेवाला बनना है, हम किसानों को वोट बैंक नहीं, अन्नदाता समझते हैं 
टाटानगर-बादामपहाड़ पैसेंजर ट्रेन का अॉनलाइन शुभारंभ 
107 साल बाद  टाटा बादामपहाड़ रूट पर दूसरी ट्रेन की सौगात पीएम मोदी ने दी  
राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने टाटानगर से हल्दीपोखर तक की यात्रा की 
 
सीएम रघुवर बोले : लंबित परियोजना को शुरू कर पीएम मोदी ने पलामू की धरा को धन्य कर दिया 
 
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि 47 साल से लंबित मंडल डैम योजना को पुनः प्रारंभ कर पीएम मोदी ने पलामू की धरा को धन्य कर दिया.  कहा कि मंडल परियोजना के बाद गढ़वा के कनहर सिंचाई परियोजना व पलामू के तहले सिंचाई परियोजना को भी जल्द ही जमीन पर उतारा जायेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी न्यू इंडिया बनाने में लगे हैं, इसलिए हम सभी उनके साथ खड़े हो कर न्यू इंडिया व न्यू झारखंड बनायें. 
 

Advertisement

Comments

Advertisement