Advertisement

crime

  • Aug 19 2019 12:03PM
Advertisement

झारखंड में फिर हो जाती मॉब लिंचिंग, सलवार समीज पर फुलपैंट और टी-शर्ट पहने युवक को राहगीर ने बचाया

झारखंड में फिर हो जाती मॉब लिंचिंग, सलवार समीज पर फुलपैंट और टी-शर्ट पहने युवक को राहगीर ने बचाया

छतरपुर (पलामू) : झारखंड (Jharkhand) के पलामू (Palamau) जिला में एक राहगीर ने सूझ-बूझ का परिचय देते हुए भीड़ को हत्या का अपराध (Mob Lynching) करने से रोक दिया. मामला छतरपुर (Chhatarpur) प्रखंड के सिलदाग गांव (Sildaag Village) का है. यहां गांव के सैकड़ों लोग, जिसमें महिला, पुरुष और बच्चे शामिल थे, एक व्यक्ति को पीट-पीटकर मार डालते, यदि उस राहगीर ने समय रहते पुलिस को सूचना नहीं दी होती. राहगीर की सूचना पर पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची और ग्रामीणों के चंगुल से उस व्यक्ति को छुड़ाकर थाना ले गयी.

छतरपुर के थाना प्रभारी वासुदेव मुंडा ने बताया कि किसी ने फोन पर उन्हें सूचना दी थी कि थाना क्षेत्र में मॉब लिंचिंग जैसे हालात हैं. एक व्यक्ति की जान खतरे में है. इसके बाद वह दल-बल के साथ सिलदाग स्थित मध्य विद्यालय के समीप एनएच 98 (NH98) पर पहुंचे और भीड़ के चंगुल से व्यक्ति को छुड़ाकर थाना ले गये.

गांव में जुटी भीड़ ने बताया की रविवार को ही गांव में एक विचित्र व्यक्ति को देखा गया. वह न तो पुरुष लग रहा था, न महिला. बच्चों को अकेला देखकर वह उसे पकड़ने के लिए दौड़ पड़ता. इससे गांव के बच्चों में खौफ का माहौल था. बच्चे घर से निकलने से डरने लगे. सोमवार की सुबह उस व्यक्ति को देखकर गांव के सैकड़ों लोगों ने उसे पकड़ लिया. उससे उसके बारे में जानकारी मांगी. उसने संतोषजनक जवाब नहीं दिया. यहां तक कि वह अपना नाम व पता तक नहीं बता रहा था.

विचित्र पहनावे की वजह से लोगों का बढ़ा शक

इस व्यक्ति ने सलवार समीज के ऊपर फुलपैंट और टी-शर्ट पहन रखी थी. लोगों ने उसके इस विचित्र पहनावे के कारण उसकी शारीरिक जांच की. पाया कि ऑपरेशन कर उसका लिंग काट दिया गया है. इससे ग्रामीणों का डर और बढ़ गया. अब तक लोग इसे बच्चा चोर समझ रहे थे, लेकिन अब उन्हें लगा कि यह किडनी निकालने वाले किसी गिरोह का सदस्य है.

देखते ही देखते यह खबर आग की तरह पूरे प्रखंड में फैल गयी. भीड़ ने पकड़कर उसकी पिटाई कर दी. इसी दौरान एक राहगीर वहां से गुजर रहा था. उसने ग्रामीणों को रोकने की बजाय थाना को सूचित किया. इसके बाद पुलिस पूरे दल-बल के साथ घटनास्थल पर पहुंची और उसे ग्रामीणों के चंगुल से सुरक्षित निकाल लिया.

कौन थी वो खूबसूरत महिला

ग्रामीणों ने बताया कि चार दिन पहले देर रात एक खूबसूरत महिला, जो महंगे लिबास में थी, के साथ दो पुरुष भी थे. एनएच 98 पर आते-जाते वाहन को देख दोनों पुरुष छुप जाते और महिला गाड़ी रुकवाने का प्रयास करती. जब कोई गाड़ी नहीं रुकी, तो वे लोग वहां से चले गये. इस घटना के बाद से ही गांव में दहशत है. लोग रात में चैन की नींद नहीं सो पा रहे.

Advertisement

Comments

Advertisement

Other Story

Advertisement