Advertisement

pakur

  • Dec 10 2018 10:39PM
Advertisement

मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने सखी मंडल के बीच 85 लाख का बैंक लोन दिया

मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने सखी मंडल के बीच 85 लाख का बैंक लोन दिया

- दिव्यांग और वृद्धा पेंशन की राशि और पेंशन पाने वाले की संख्या में बढ़ोतरी होगी

- जागिए तभी समाज से बिचौलियागिरि, भ्रष्टाचार और गरीबी दूर होगी 

पाकुड़/महेशपुर

जन चौपाल के अवसर पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सखी मंडल के बीच 85 लाख का बैंक लोन, जोहार योजना के तहत 20 लाभुकों के बीच 11 लाख 30 हजार रुपये, स्टार्टअप योजना के तहत सूक्ष्म उद्यमियों को 9 लाख, भूमि संरक्षण विभाग की ओर से पंप सेट, मत्स्य विभाग की ओर से मोटरसाइकिल, जल साहिया के बीच साड़ी, उज्‍जवला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, मातृ वंदना योजना, मुख्यमंत्री लक्ष्मी लाडली योजना, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के लाभुकों को लाभान्वित किया. 

 

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि झारखंड की सवा तीन करोड़ जनता की शक्ति और सरकार की नीति और विकास की नियत के बदौलत झारखंड से गरीबी को निकालना है. इस गरीबी को निकालने के लिए कई योजनाएं संचालित की जा रही हैं. आप सभी बाबा भीम राव अंबेडकर जी द्वारा निर्मित संविधान में प्रदत अधिकार के प्रति जागरूक हों और अपनी समृद्धि का मार्ग प्रशस्त करें. इन योजनाओं के बीच में भ्रष्टाचार और बिचौलिया संथाल परगना समेत झारखंड में मौजूद है. आपको जागना होगा तभी ये बिचौलिया, भ्रष्टाचार और गरीबी स्वतः समाप्त होगी. क्योंकि इन सब से सबसे ज्यादा परेशानी गरीब को होती है. 

ये भी पढ़ें... झारखंड में पिता ने चार साल के बेटे को पटककर मार डाला

सरकार किसान, नौजवान और गरीब महिलाओं के स्वावलंबन के प्रति समर्पित

रघुवर ने कहा कि राज्य सरकार जनता के लिए, जनता के द्वारा और जनता का. इस अवधारणा के साथ काम कर रही है. यह लोकतंत्र की खूबसूरती है. इसकी खूबसूरती देखिए कि एक चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री और एक मजदूर परिवार का सदस्‍य आज राज्य का मुख्यमंत्री बना है. यह सरकार किसान, नौजवान, गरीब, महिलाओं के स्वावलंबन के प्रति समर्पित है. 

 

पिछले 4 साल में राज्य ने तेजी से विकास किया, यही बताने आया हूं

मुख्यमंत्री ने कहा कि अलग राज्य बनने के बाद से 14 साल तक अस्थिर सरकार कि वजह से लोगों तक सपना अधूरा रह गया. लेकिन 2014 में आपने एक मजबूत सरकार देकर झारखंड को धन्य किया. विगत 4 साल में झारखंड विकास के पथ पर अग्रसर है. आज देश में झारखंड की पहचान तेजी से आगे बढ़ते राज्य के रूप में हो रहा है. विगत 14 साल में लोगों तक मूलभूत सुविधा पहुंच जानी चाहिए थी. 4 साल में हमने राज्य की जनता को क्या दिया यह बताने आपके बीच हूं. 

 

किसानों ने मान बढ़ाया, अब श्वेत क्रांति का आगाज करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में राज्य की कृषि विभाग दर -4.5 था. आज चार साल बाद राज्य की कृषि विकास दर +14 फीसदी हो गयी है. यह हम नहीं, नीति आयोग कहता है. राज्य के किसानों ने झारखंड का मान देश में बढ़ाया है. राज्य सरकार ने किसानों की क्षमता को देखकर 52 किसानों को इजरायल भेजा, ताकि उनकी क्षमता और वैज्ञानिक पद्धति की बदौलत राज्य की कृषि विकास दर लगातार बढ़ेगी. 

 

उन्‍होंने कहा कि आने वाले दिनों में राज्य की 50 महिला और 50 पुरुष किसानों को इजरायल व फिलीपींस भेजेगी. छोटे किसानों की जरूरतों को ध्यान में रखकर बजट में प्रावधान किया जायेगा और ऐसे किसानों को रियायत दर पर कृषि उपकरण उपलब्ध कराया जायेगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि मत्स्य उत्पादन में हम अग्रणी हो चुके हैं अब राज्य की किसान, सखी मंडल की महिलाएं और युवा आगे आएं और गौपालन कर श्वेत क्रांति के वाहक बनें. 

ये भी पढ़ें... रवींद्र पांडेय, ढुलू महतो पर प्राथमिकी दर्ज नहीं होना गलत : सरयू राय 

राज्य सरकार वृद्ध, विधवा और दिव्यांग को प्राथमिकता दे रही 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार वृद्ध, विधवा और दिव्यांग को प्राथमिकता दे रही है. इसके लिए 2019-20 के बजट प्रावधान किया जायेगा. पाकुड़ में भी सर्वे करा कर विधवाओं, दिव्यांगों और वृद्धों की पहचान की जायेगी. दिव्यांगो और वृद्धा पेंशन की राशि और पेंशन पाने वालों की संख्या में इजाफा किया जायेगा. सभी को पारदर्शिता से पेंशन प्रदान किया जायेगा. 

 

बच्चों के भविष्य को संवारने का कार्य हो रहा है

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने भी बोरा पर बैठकर सरकारी स्कूल में पढ़ाई की है. जब 2014 में सरकार बनी तो मैंने शिक्षा विभाग की समीक्षा की और यह जान कर हैरान रह गया कि 38 हजार स्कूल में से मात्र 7 हजार स्कूलों में बेंच डेस्क की सुविधा थी. दो साल के अंदर राज्य के सभी स्कूलों में बेंच डेस्क की व्यवस्था कर दी गयी. 

 

जल्द ही बिजली विहीन स्कूलों तक बिजली पहुंच जायेगी ताकि, गरीब के बच्चे भी गरिमा से पढ़ाई कर सकें. संस्कार के मंदिर आंगनबाड़ी केंद्र में भी राज्य के नौनिहालों के भविष्य को संवारने का कार्य हो रहा है. 


400 करोड़ की राशि से 85 फीसदी आबादी को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा गया

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार को राज्य के लोगों के स्वास्थ्य की चिंता है. केंद्र सरकार ने देश के लोगों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा. राज्य सरकार ने इस योजना से 57 लाख परिवार को इस योजना से जोड़ा है. 400 करोड़ की अतिरिक्त राशि से आच्छादित किया है. इस योजना का लाभ राज्य के लोग राशन कार्ड और गोल्डेन कार्ड के जरिए ले सकते हैं. 329 एम्बुलेंस आपकी सुविधा में उपलब्ध है. 

 

थर्ड और फोर्थ ग्रेड में जिला के स्थानीय युवाओं को ही नौकरी

रघुवर ने कहा कि पूर्व में अगर स्थानीय नीति परिभाषित हो जाती तो आज राज्य के युवा रोजगार से आच्छादित होते लेकिन इसकी अनदेखी हुई. वर्तमान सरकार ने स्थानीय नीति को परिभाषित किया और रोजगार का मार्ग प्रशस्त किया. तृतीय और चतुर्थ वर्ग में उस जिला के स्थानीय युवाओं को ही रोजगार मिलेगा जिस जिला की वेकैंसी आयी है. रघुवर ने एक सवाल के जवाब में कहा कि 18 हजार शिक्षकों की नियुक्ति जल्द होगी. साथ ही प्राथमिक शिक्षकों की सीधी नियुक्ति सीट शेष रहने पर होगी. 

 

राज्य एक लाख युवाओं को मिलेगा रोजगार

मुख्यमंत्री ने कहा कि वे 15 दिसंबर को यूनाइटेड अरब अमीरात जायेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं को हुनरमंद बनाने और रोजगार मुहैया कराने के उद्देश्य से यूनाइटेड अरब अमीरात जा रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि दुबई और अबूधाबी में रोजगार के लिए हुनरमंद युवाओं की मांग है. पर, हमारे युवा किसी बिचौलिओं की जाल में न फंसे इसलिए वहां रोजगार देने वाली कंपनियों से सीधे बात करने की जरूरत है. 16 दिसंबर 2018 को दुबई में रोड शो होगा. 

Advertisement

Comments

Advertisement

Other Story

Advertisement