Advertisement

Pakistan

  • May 26 2019 5:19PM
Advertisement

इमरान ने मोदी को किया फोन, मिलकर काम करने की इच्छा जतायी

इमरान ने मोदी को किया फोन, मिलकर काम करने की इच्छा जतायी

इस्लामाबाद : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन कर दोनों देशों के लोगों की बेहतरी के लिए मिलकर काम करने की इच्छा जतायी.

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ मोहम्मद फैसल ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को भारतीय चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की चुनावी जीत पर अपने नवनिर्वाचित भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी को फोन कर उन्हें बधाई देते दक्षिण एशिया में शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए उनके साथ काम करने की इच्छा जतायी. प्रधानमंत्री इमरान ने शुक्रवार को भी चुनावी जीत पर मोदी को बधाई देते हुए ट्वीट किया था. उन्होंने कहा कि वह अपने भारतीय समकक्ष के साथ समान उद्देश्यों के लिए काम करने के लिए उत्सुक हैं. इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें टि्वटर पर जवाब देकर धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि वह हमेशा क्षेत्र में अमन और तरक्की को तरजीह देते हैं. मोदी ने ट्विटर पर कहा, मैं आपकी बधाई के लिए आभारी हूं. मैंने हमेशा क्षेत्र में अमन और विकास को प्राथमिकता दी है.

इमरान खान ने अप्रैल में कहा था कि उन्हें विश्वास है कि अगर आम चुनाव में मोदी जीतते हैं, तो भारत के साथ शांति वार्ता करने तथा कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए बेहतर अवसर मिल सकता है. भारत में आम चुनाव के नतीजे पाकिस्तान के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि नयी दिल्ली में नयी सरकार भारत-पाकिस्तान के संबंधों के भविष्य की दिशा पर विचार करेगी. पुलवामा आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के संबंधों में दरार और बढ़ गयी थी. चुनाव परिणामों की घोषणा से एक दिन पहले ही कुरैशी और भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को किर्गिस्तान के बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन परिषद के विदेश मंत्रियों की बैठक में एक-दूसरे का हालचाल पूछा था. कुरैशी ने स्वराज को संवाद के माध्यम से सभी मुद्दों के समाधान की पाकिस्तान की इच्छा से अवगत कराया था.

इससे पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि उनका देश भारत की नयी सरकार से सभी लंबित मुद्दों पर बातचीत को तैयार है. सरकारी रेडियो पाकिस्तान की खबर के अनुसार, कुरैशी ने शनिवार रात मुल्तान में एक इफ्तार पार्टी को संबोधित करते हुए कहा कि भारत और पाकिस्तान दोनों को क्षेत्र की समृद्धि और शांति के लिए बातचीत कर मुद्दों को सुलझाना चाहिए.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement