Advertisement

Others

  • Nov 16 2019 9:03PM
Advertisement

श्रीलंका में राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना के उत्तराधिकारी के चयन के लिए मतदान संपन्न

श्रीलंका में राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना के उत्तराधिकारी के चयन के लिए मतदान संपन्न
श्रीलंका में मतदान के दौरान तैनात सुरक्षाकर्मी.

कोलंबो : श्रीलंका में राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना के उत्तराधिकारी को चुनने के लिए शनिवार को मतदान कुल मिला कर शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो गया. श्रीलंका में राष्ट्रपति पद के लिए हुए मतदान से कुछ घंटे पहले उत्तर पश्चिम श्रीलंका में अल्पसंख्यक मुस्लिम मतदाताओं को ले जा रही बसों के एक काफिले पर कुछ बंदूकधारियों ने हमला किया. यह चुनाव ईस्टर संडे बम विस्फोट के बाद सुरक्षा चुनौतियों और बढ़ते राजनीतिक ध्रुवीकरण से जूझ रहे श्रीलंका का भविष्य तय करेगा. देशभर में मतदान के लिए 1.59 करोड़ मतदाताओं के लिए 12,845 मतदान केन्द्र बनाये गये थे.

मतदान स्थानीय समयानुसार, सुबह सात बजे शुरू हुआ था, जो शाम पांच बजे तक चला. मतदान प्रतिशत के वास्तविक आंकड़े की अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. चुनाव अधिकारियों और चुनाव निगरानी समूहों ने बताया कि मतदान का अंतिम आंकड़ा 80 फीसदी रहेगा. मतदान संपन्न होने के बाद प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने पत्रकारों से कहा कि हमने स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव प्रक्रिया सुनिश्चित की है. यह एक ऐसी उपलब्धि है, जिससे हम सभी खुश हो सकते हैं.

देश के शीर्ष पद के लिए हो रहे इस चुनाव में रिकॉर्ड 35 उम्मीदवार मैदान में है. चुनाव में सत्तारूढ़ पार्टी के उम्मीदवार और आवास मंत्री सजीथ प्रेमदासा (52) और विपक्ष के नेता गोटाबाया राजपक्षे (70) के बीच कड़ा मुकाबला है. नेशनल पीपुल्स पावर (एनपीपी) गठबंधन से अनुरा कुमारा दिसानायके भी एक मजबूत उम्मीदवार हैं. वर्ष 2015 में राष्ट्रपति चुने गये सिरिसेना इस बार चुनाव नहीं लड़ रहे हैं. अधिकारियों ने बताया कि प्रारंभिक परिणाम मध्य रात्रि के बाद आने की उम्मीद है. अंतिम परिणाम सोमवार को आयेंगे.

पुलिस प्रवक्ता रुवन गुनशेखरा ने बताया कि चुनाव में सुरक्षा व्यवस्था लिए 60,000 से अधिक सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है. लगभग चार लाख चुनाव अधिकारियों को ड्यूटी पर लगाया गया है. उन्होंने बताया कि कानून के उल्लंघन के लिए 26 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. कुल मिलाकर मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ.

चुनावी हिंसा निगरानी केन्द्र (सीएमईवी) ने बताया कि अज्ञात बंदूकधारियों ने उत्तर पश्चिम पुट्टलम जिले से मुस्लिम मतदाताओं को लेकर जा रही बसों पर हमला किया. इसमें किसी के हताहत होने की कोई सूचना नहीं है. यूरोपीय संघ के चुनाव पर्यवेक्षक राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी घटनाओं की जानकारी जुटा रहे हैं.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement