Advertisement

Others

  • Aug 18 2019 7:57AM
Advertisement

अफगानिस्तान: काबुल में शादी समारोह के दौरान जोरदार विस्‍फोट, 63 की मौत, 180 से ज्‍यादा लोग घायल

अफगानिस्तान: काबुल में शादी समारोह के दौरान जोरदार विस्‍फोट, 63 की मौत, 180 से ज्‍यादा लोग घायल

काबुलः अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में शनिवार रात एक शादी समारोह में बम विस्फोट हुआ. घटना में 63 लोगों की मौत हो गई वहीं 180 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. चश्मदीदों के मुताबिक एक आत्मघाती हमलावर ने खचाखच भरे रिसेप्शन हॉल में खुद को विस्फोटकों से उड़ा लिया. एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि शादी में 1,000 से अधिक लोग आमंत्रित थे जिससे चलते ऐसी आशंका जताई जा रही है कि यह इस साल काबुल में अब तक का सबसे वीभत्स हमला हो सकता है

अफगानिस्तान के गृह मंत्री ने घटना की पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि दारुलमान इलाके में रात 10.40 बजे (भारतीय समयनुसार रात 11.40) यह घटना हुई, अफगानिस्तान के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नुसरत रहीमी के मुताबिक, घायलों को अस्पतालों में ले जाया गया है. मारे गए लोगों की पहचान की जा रही है. अभी इस हमले की किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली है. इसलिए यह नहीं कहा जा सकता है कि इस धमाके पीछे की क्या वजह है. इस इलाके में अल्पसंख्यक शिया हजारा समुदाय के लोग काफी संख्या में रहते हैं.

यह धमाका एक वेडिंग हॉल में हुआ जिसमें बड़ी संख्या में मेहमान मौजूद थे. अचानक हुए इस धमाके के बाद अफरातफरी मच गई और आस पास लाशें दिख रही थीं. घायलों में कई की हालत गंभीर बताई जा रही है जिससे मौत का आंकड़ा बढ़ने की आशंका है.  प्रत्यक्षदर्शी गुल मोहम्मद ने बताया कि विस्फोट उस मंच के पास हुआ जहां संगीतकार थे और वहां मौजूद सभी युवा, बच्चे और बाकी लोग मारे गए. हमले में घायल हुए एक व्यक्ति मोहम्मद तूफान ने बताया कि कई मेहमान मारे गए.

मृतकों का आधिकारिक आंकड़ा बाद में जारी किया जाएगा. राष्ट्रपति अशरफ गनी के प्रवक्ता सादिक सिद्दीकी ने टि्वटर पर कहा, काबुल में एक वेडिंग हॉल में आत्मघाती हमले की खबर से बहुत दुखी हूं. हमारे लोगों के खिलाफ एक जघन्य अपराध, यह कैसे मुमकिन है कि किसी व्यक्ति को प्रशिक्षण दो और उसे एक शादी में जाकर खुद को उड़ाने के लिए कहो. 

गौरतलब है कि हाल के दिनों में अफ़ग़ानिस्तान में कई बड़े आत्मघाती हमले हुए हैं. काबुल में इसी महीने यह दूसरा हमला है. आठ अगस्त को हुए धमाके में 14 लोग मारे गए थे, जबकि 145 घायल हुए थे. पश्चिमी इलाके में अफगान सुरक्षाकर्मियों को तालिबान ने अपना निशाना बनाया था. हमले में कार का इस्तेमाल किया गया था. तालिबान और इस्‍लामिक स्‍टेट ग्रुप के आतंकी इस तरह के हमलों को अंजाम देते रहते हैं. 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement