Advertisement

other state

  • May 20 2019 5:06PM
Advertisement

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने प्रायश्चित के लिए रखा 63 घंटे का 'मौन व्रत'

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने प्रायश्चित के लिए रखा 63 घंटे का 'मौन व्रत'

भोपाल : भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने सोमवार सुबह से 21 पहर (63 घंटे) का मौन व्रत धारण किया है. इससे पहले लोकसभा चुनाव में साध्वी प्रज्ञा के कुछ बयानों से राजनीतिक विवाद खड़ा हुआ और बाद में उन्होंने माफी भी मांगी. साध्वी की एक सहयोगी ने बताया, ‘साध्वी जी ने आज सुबह से 21 प्रहर का मौन व्रत धारण किया है.' 

 

साध्वी प्रज्ञा ने ट्वीट पर जानकारी दी, ‘प्रक्रियाओं के उपरांत अब समय है चिंतन मनन का, इस दौरान मेरे शब्दों से समस्त देशभक्तों को यदि ठेस पहुंची है तो मैं क्षमा प्रार्थी हूं और सार्वजनिक जीवन की मर्यादा के अंतर्गत प्रयश्चित हेतु 21 प्रहर के मौन के साथ कठोर तपस्या कर रही हूं. हरिः ॐ.'

 

लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान मालेगांव बम विस्फोट की आरोपी साध्वी प्रज्ञा ने अपने बयानों से राजनीतिक महौल में गर्मी ला दी थी. उनका एक बयान था कि उन्होंने मुंबई एटीएस प्रमुख हेमंत करकरे को श्राप दिया था और इसके एक माह बाद आतंकवादियों की गोलियों से उनकी मौत हो गयी. साध्वी प्रज्ञा ने यह भी बयान दिया कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण आंदोलन के दौरान बाबरी ढांचा ढहाने में शामिल होने पर उन्हें गर्व है. 

 

साध्वी प्रज्ञा की इन बयानों की सभी ने आलोचना की यहां तक कि उनके दल भाजपा ने भी स्वयं को उनके बयानों से अलग कर लिया. चुनाव आयोग ने साध्वी के शहीद करकरे पर दिये गये बयान पर कार्रवाई करते हुए उनके चुनाव प्रचार पर 72 घंटे के लिए प्रतिबंध लगा दिया था. हाल ही में साध्वी प्रज्ञा फिर खबरों में तब आयीं जब उन्होंने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया. 

 

उनके इस बयान की भी सभी ने निंदा की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां तक कहा कि साध्वी ने हालांकि इस पर माफी मांग ली है लेकिन वह उन्हें मन से माफ नहीं कर पायेंगे. 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement