Advertisement

other state

  • Feb 11 2019 9:28PM
Advertisement

गुर्जरों का आंदोलन चौथे दिन भी जारी, बैंसला ने कहा - सरकार को वार्ता के लिए धरना स्थल पर ही आना होगा

गुर्जरों का आंदोलन चौथे दिन भी जारी, बैंसला ने कहा - सरकार को वार्ता के लिए धरना स्थल पर ही आना होगा

जयपुर : राजस्थान में गुर्जरों काे आरक्षण के लिए आंदोलन सोमवार को चौथे दिन भी जारी रहा. गुर्जर नेता दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग पर पटरियों पर बैठे हैं जिससे कई प्रमुख ट्रेन रद्द कर दी गयी हैं या उनके मार्ग में बदलाव किया गया है. राज्य में कई सड़क मार्ग भी बंद हैं.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर आंदोलनकारियों से बातचीत के लिए आगे आने की अपील की है, वहीं गुर्जर नेता अपने रुख पर अड़े नजर आ रहे हैं. दोनों पक्षों में शनिवार के बाद कोई बातचीत नहीं हुई है. उधर, धौलपुर में सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के आरोप में पुलिस ने मामला दर्ज कर आठ लोगों को गिरफ्तार किया है. गुर्जर नेता विजय बैंसला ने सोमवार को फिर कहा कि सरकार को वार्ता के लिए मलारना डूंगर में रेल पटरी पर ही आना होगा और आंदोलनकारी वार्ता के लिए कहीं नहीं जायेंगे. कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला व पूरी टीम बैठकर फैसला करेंगे. उन्होंने कहा, बातचीत क्या करनी है? सरकार पांच प्रतिशत आरक्षण की हमारी मांग पूरी करे और हम घर चले जायेंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मांग नहीं माने जाने पर गुर्जर लंबे आंदोलन के लिए तैयार हैं.

वहीं, मुख्यमंत्री गहलोत ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, मैं उनसे अपील करूंगा कि आप धरने से उठो, सरकार से वार्ता करो और सरकार के स्तर पर जो भी संभव होगा, मैं यह विश्वास दिलाता हूं कि उसमें कोई कमी नहीं आयेगी. इसके साथ ही उन्होंने आंदोलनकारियों से अपनी मांग केंद्र के समक्ष उठाने को कहा. पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) एमएल लाठर ने बताया कि आंदोलन के दौरान कहीं से अप्रिय घटना का कोई समाचार नहीं है. हालांकि, रविवार को कुछ हुड़दंगियों ने धौलपुर में पुलिस के तीन वाहनों को आग के हवाले कर दिया था और हवा में गोलियां चलायीं थीं. लाठर ने बताया कि आंदोलनकारियों ने दौसा जिले में सिकंदरा के पास राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 11 को अवरुद्ध कर दिया है. इसके साथ ही नैनवा (बूंदी), बुंडला (करौली) व मलारना में भी सड़क मार्ग अवरुद्ध है.

इसके साथ ही टोंक जिले में कोटा जयपुर राजमार्ग को बनास पुलिया पर, लालसोट गंगापुर करौली राजमार्ग पर भी जाम किया गया है. इस आंदोलन के कारण उत्तर पश्चिम रेलवे ने सोमवार को दो और ट्रेनों को रद्द कर दिया. इसके अलावा कम से कम छह ट्रेनों के मार्ग में बदलाव किया गया. रेलवे बीते चार दिन में बड़ी संख्या में ट्रेनों को रद्द कर चुका है. उल्लेखनीय है कि गुर्जर नेता राज्य में सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्‍थानों में प्रवेश के लिए पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर शुक्रवार शाम को सवाईमाधोपुर के मलारना डूंगर में रेल पटरी पर बैठ गये. गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला व उनके समर्थक यहीं जमे हैं.

गुर्जर समाज सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्‍थानों में प्रवेश के लिए गुर्जर, रायका रेबारी, गडिया, लुहार, बंजारा और गड़रिया समाज के लोगों को पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहा है. फिलहाल अन्‍य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के अतिरिक्‍त 50 प्रतिशत की कानूनी सीमा में गुर्जरों को अति पिछड़ा श्रेणी के तहत एक प्रतिशत आरक्षण अलग से मिल रहा है. धौलपुर से मिले समाचार के अनुसार, रविवार को धौलपुर हिंसा और आगजनी के संबंध में कोतवाली में करीब ढाई सौ लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है. पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने बताया कि उपद्रवियों के खिलाफ राजमार्ग अवरुद्ध करने, सरकारी संपत्ति को नुकसान पंहुचाने, कातिलाना हमला, राजकार्य में बाधा डालने तथा आगजनी समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.

सिंह ने बताया कि उपद्रवियों में से करीब पचास को नामजद किया गया है. इस मामले में पुलिस द्वारा आठ लोगों को गिरफ्तार करके उनसे पूछताछ की जा रही है. सुबह गुर्जरों ने बाडी-बसेडी रोड पर जाम लगाया, लेकिन पुलिस की टीम ने तत्पराता से कार्रवाई करते हुए उपद्रवियों को हटा दिया.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement