Advertisement

other state

  • Mar 16 2019 1:25PM

उत्तराखंड में BJP को लगा झटका: पूर्व सीएम और BJP MP बीसी खंडूड़ी के बेटे ने थामा कांग्रेस का दामन

उत्तराखंड में BJP को लगा झटका: पूर्व सीएम और BJP MP बीसी खंडूड़ी के बेटे ने थामा कांग्रेस का दामन

देहरादूनः लोकसभा चुनाव की घोषणा होते ही राजनैतिक दलों में हलचल भी शुरू चुकी है. चुनाव से ऐन पहले नेताओं का पाला बदलने का सिलसिला लगातार जारी है. इसी क्रम में उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा सांसद बीसी खंडूड़ी के बेटे मनीष खंडूड़ी ने शनिवार को कांग्रेस का दामन थाम लिया है. यहां के परेड ग्राउंड में कांग्रेस के चुनावी मंच पर पार्टी अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें कांग्रेस में शामिल किया. मनीष खंडूड़ी के कांग्रेस में शामिल होने को भाजपा के लिए झटके के तौर पर देखा जा रहा है.

खबरों की मानें तो कांग्रेस मनीष खंडूड़ी को पौड़ी सीट से उम्मीदवार बना सकती है. यहां चर्चा कर दें कि बीसी खंडूड़ी वर्तमान में पौड़ी से भाजपा के सांसद हैं. इस संबंध में जब कुछ दिन पहले उत्तराखंड भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट से सवाल किया गया था तो उन्होंने कहा था कि मनीष खंडूरी पार्टी के सदस्य नहीं हैं और इसलिये इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह कहां जाते हैं.

असम : भाजपा सांसद राम प्रसाद शर्मा ने पार्टी छोड़ी

असम में भाजपा को एक करारा झटका देते हुए तेजपुर से मौजूदा सांसद राम प्रसाद शर्मा ने शनिवार को पार्टी छोड़ने की घोषणा कर आरोप लगाया कि ‘‘पार्टी में नये घुसपैठियों' के कारण पुराने कार्यकर्ताओं को नजरअंदाज किया जा रहा है. शर्मा ने कहा कि आरएसएस और विहिप के लिए 15 वर्ष और भाजपा के लिए 29 वर्ष काम करने के बाद वह पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रहे हैं. उन्होंने फेसबुक पर एक पोस्ट में कहा कि मैंने आज भाजपा छोड़ दी. मैं असम के उन पुराने भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए दुख महसूस करता हूं जिन्हें नए घुसपैठियों के कारण नजरअंदाज किया जा रहा है. तेजपुर लोकसभा सीट के लिए पार्टी के संभावित उम्मीदवार के पैनल में शर्मा का नाम शामिल नहीं था. इसमें केवल असम के मंत्री और एनईडीए के संयोजक हिमंत बिस्वा शर्मा का नाम था. असम की 14 लोकसभा सीटों के उम्मीदवारों की सूची दिल्ली भेजी जा चुकी है और इसकी शनिवार को घोषणा किये जाने की संभावना है. शर्मा की बेटी को एपीएससी नौकरी घोटाले के सिलसिले में गिरफ्तार किये जाने के बाद से ही उनकी उम्मीदवारी दांव पर थी.

Advertisement

Comments

Advertisement