Advertisement

other state

  • Aug 23 2019 9:50AM
Advertisement

भगवान राम के वंशज की दावेदारी में शामिल हुआ अग्रवाल समाज, छत्तीसगढ़ के वकील ने SC में पेश किया शपथ पत्र

भगवान राम के वंशज की दावेदारी में शामिल हुआ अग्रवाल समाज, छत्तीसगढ़ के वकील ने SC में पेश किया शपथ पत्र

 नयी दिल्लीः अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि क्या भगवान राम का कोई वंशज दुनिया में कहीं भी या अयोध्या में मौजूद हैं? इस पर वकील ने कहा था- हमें जानकारी नहीं. लेकिन इसके बाद देश भर  में भगवान श्री राम का वंशज होने के कई दावे सामने आ चुके हैं.

 
पहले जयपुर के राजपरिवार की पूर्व राजकुमारी दीया कुमारी फिर मेवाड़ के पूर्व महाराज महेंद्र सिंह मेवाड़  के बाद अब अग्रवाल समाज ने दावा किया है कि वो भगवान राम के वंशज हैं. छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के अधिवक्ता हनुमान प्रसाद अग्रवाल ने सुप्रीम कोर्ट में शपथ पत्र पेश कर खुद को भगवान राम का वंशज होने का दावा किया है.
 
बता दें कि बिलासपुर के देवरीखुर्द निवासी हनुमान अग्रवाल ने अग्र भागवत में किए गए उल्लेख का जिक्र करते हुए कहा कि कुश की पीढ़ी के राजा बल्लभ देव के पुत्र महाराजा अग्रसेन सूर्यवंशी क्षत्रिय थे. अग्रवाल समाज के पितृ पुस्र्ष महाराजा अग्रसेन भगवान श्रीराम के पुत्र कुश के प्रपोत्र हैं.महाराजा इक्ष्वाकु के कुल में महाराजा माधांता, महाराजा दिलीप, भगीरथ, कुकुत्स्य, महाराजा मास्र्त, महाराजा रघु, भगवान श्रीराम आदि का जन्म हुआ. इसी कुल में महाराजा अग्रसेन का जन्म हुआ.
 
उनके पिता महाराजा वल्लभ सेन, महाराजा अग्रसेन के 18वें पुत्र थे.वर्तमान में देश में रह रहे अग्रवाल भगवान श्रीराम की 35वीं पीढ़ी हैं. महाराज अग्रसेन का इतिहास 5189 वर्ष पुराना है. उन्होंने रामजन्म भूमि विवाद में इस तथ्य को शामिल करने की मांग की है. 
 
अग्रवाल समाज द्वारा पत्र में लिखा गया कि महाराजा अग्रसेन का वंशज होने के नाते हमारे सहित पूरा अग्रवाल समाज (जिनकी अनुमानित संख्या 10 करोड़ है) भगवान श्रीराम का भी वंशज है. जो अयोध्या ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में फैला हुआ है.
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement