Advertisement

other state

  • May 25 2016 3:56PM

जानें, असम बीजेपी विधायक अंगूरलता डेका की जिंदगी से जुड़े तथ्यों के बारे में

जानें, असम बीजेपी विधायक अंगूरलता डेका की जिंदगी से जुड़े तथ्यों के बारे में

-इंटरनेट डेस्क-

सोशल मीडिया में इन दिनों अंगूरलता डेका की चर्चा जोरों पर है. हालिया असम विधानसभा चुनाव में असम के बतादरोबा विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के दिग्गज नेता व पूर्व मंत्री गौतम बोरा को चालीस हजार से ज्यादा वोटों से हराकर विधायक बनीं अंगूरलता मीडिया की सुर्खियों में हैं. राजनीति में आने से पहले वो असमिया फिल्मों की सबसे चर्चित अभिनेत्री थीं. 
 
कौन हैं अंगूरलता डेका? 
अंगूरलता डेका को बचपन से डांस का शौक था. अपने गुरू बरनाली महंता के मार्गदर्शन में उन्होंने कत्थक की ट्रेनिंग हासिल की. एक दिन डांस क्लास के दौरान उनकी मुलाकात निर्देशक चंद्रखर डेका से हुई. उन्होंने अंगूरलता को फिल्मों का ऑफर दिया लेकिन उस वक्त उनके घर का माहौल उन्हें फिल्मों में काम करने की इजाजत नहीं देता था. 
 
 
अंगूरलता का जन्म नलबाड़ी  में हुआ. इसी इलाके से देश-दुनिया में अभिनय का लोहा मनवाने वाली सीमा विश्वास हैं. जब अंगूरलता के परिवार वाले उन्हें फिल्मों में काम करने नहीं देना चाहते थे तब सीमा विश्वास अंगूरलता की घर गयीं और उनके परिवारवालों को मनाया. अंगूरलता, सीमा विश्वास के बातों से इतना प्रभावित हुए कि फिल्मों में आने की ठान ली. पिछले आठ सालों से अंगूरलता असमिया फिल्मों की सबसे प्रसिद्ध अभिनेत्री हैं. फिल्मों के अलावा वो थियेटर में भी काम करती हैं.  अंगूरलता डेका ने असमिया अभिनेता अकाशदीप से शादी किया.
 
 
फिल्मी सितारों को टिकट देने से पहले भाजपा की यह है रणऩीति 
 
 
आमतौर पर भाजपा को परंपरावादी पार्टी माना जाता है लेकिन बीजेपी को फिल्मी सितारों व क्रिकेटरों से कोई परहेज नहीं है. 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में पार्टी ने कई फिल्मी सितारो को टिकट दिया. इनमें हेमामालिनी, किरण खेर, विनोद खन्ना व कई अन्य फिल्मी सितारे शामिल हैं. केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी राजनीति में आने से पहले छोटे पर्दे की लोकप्रिय स्टार थीं.
 
पार्टी का चुनावी इतिहास इस ओर इशारा करता है कि जिस राज्य में बीजेपी अपना आधार मजबूत करना चाहती है, वहां पार्टी लोकप्रिय फिल्म सितारों को टिकट देती है. बंगाल में भाजपा का चेहरा बन चुकी रूपा गांगुली ने महाभारत में द्रौपदी की भूमिका निभायी थीं. केरल जहां भाजपा का प्रभाव बेहद सीमित है पार्टी ने श्रीसंत को विधानसभा का टिकट दिया. वहीं केरल के लोकप्रिय अभिनेता  और गायक सुरेश गोपीनाथ को राज्यसभा भेजा. दरअसल इससे पार्टी का उस राज्य में आसानी से प्रचार हो जाता है. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement