Advertisement

other state

  • May 17 2018 7:47AM

कर्नाटक : कांग्रेस विधायक पहुंचे ईगलटन रिज़ॉर्ट, श्रीरामुलू ने कहा- निर्दलीय MLA हमारे संपर्क में हैं, काम हो जायेगा

कर्नाटक : कांग्रेस विधायक पहुंचे ईगलटन रिज़ॉर्ट, श्रीरामुलू ने कहा- निर्दलीय MLA हमारे संपर्क में हैं, काम हो जायेगा

-पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि राज्यपाल संविधान के खिलाफ जा रहे हैं. राज्यपाल की भूमिका सरकार द्वारा निर्धारित की जा रही है. वह एक आरएसएस के सदस्य थे और मोदी सरकार के अंदर कैबिनेट मंत्री थे. जाहिर सी बात है कि वह केंद्र की बात मानेंगे.

-कांग्रेस विधायक ईगलटन रिज़ॉर्ट पहुंचे.

-डीएमके नेता एमके स्टालिन ने कहा-हम सबने देखा है कि किस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तमिलनाडु में गवर्नर अॅाफिस का दुरुपयोग किया था, वही उन्होंने कर्नाटक में भी किया, हम इसकी निंदा करते हैं.

-सीनियर वकील रामजेठमलानी ने कर्नाटक पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा-भाजपा ने राज्यपाल को क्या कहा, जो उन्होंने इस तरह का बेतुका फैसला लिया. यह भ्रष्टाचार को बढ़ाना देना वाला फैसला है.


- कांग्रेस विधायक डीके शिवाकुमार ने कहा-यह अल्पायु वाली सरकार होगी, क्योंकि बहुमत हमारे पास है.


-कर्नाटक में येदियुरप्पा के शपथ ग्रहण को बसपा सुप्रीमो मायावती ने संविधान को क्षति पहुंचाने वाला बताया. उन्होंने कहा कि यह बाबा साहेब द्वारा बनाये गये संविधान को नष्ट करने की साजिश है. भाजपा सत्ता का दुरुपयोग करेगी और वे लोकतंत्र पर हमला करेंगे.

भाजपा विधायक बी श्रीरामुलू ने आज बहुमत सिद्ध करने के मुद्दे पर कहा कि निर्दलीय विधायक हमारे संपर्क में हैं, काम हो जायेगा.

कर्नाटक में सत्ता संघर्ष को लेकर पूरी तरह सुप्रीम कोर्ट में चला ड्रामा

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने आज मीडिया के सामने कहा कि उनकी सरकार कल या फिर परसों सदन में अपना बहुमत सिद्ध करेगी.

-प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा- कांग्रेस और जेडीए के कुल 118 विधायक यहां हैं.

- कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा- आज संविधान पर हमला हुआ है. आज एक ओर विधायक खड़े हैं, तो दूसरी ओर गवर्नर हैं. जेडीएस ने दावा किया है कि उसके विधायकों को सौ करोड़ रुपये तक का अॅाफर दिया है.


- बीएस येदियुरप्पा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने के गवर्नर के फैसले के खिलाफ वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी ने चीफ   जस्टिस दीपक मिश्रा के बेंच के समक्ष सुनवाई के लिए आवेदन किया था, बेंच ने उन्हें आज उचित बेंच के समक्ष कल सुनवाई के लिए आवेदन करने का निर्देश दिया.

कर्नाटक: येदियुरप्पा को आमंत्रित करने के राज्यपाल के फैसले के खिलाफ जेठमलानी भी पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

-शपथग्रहण के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि हमारी सरकार पांच साल पूरा करेगी और हम सदन में बहुमत साबित कर देंगे. उन्होंने कहा कि कल तक निर्दलीय हमारे साथ होंगे.

- जेडीएस के नेता एचडी देवगौड़ा भी येदियुरप्पा के शपथ के विरोध में कांग्रेस के धरना-प्रदर्शन में शामिल हुए.


-वरिष्ठ अधिवक्ता राम जेठमलानी ने भाजपा को सरकार बनाने का आमंत्रण देने के कर्नाटक के राज्यपाल के फैसले के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का रुख किया. मुख्य  न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अगुवाई वाली पीठ ने जेठमलानी को अपनी याचिका संबंधित पीठ के समक्ष कल दायर करने के लिए कहा. जेठमलानी ने उच्चतम न्यायालय में कहा कि राज्यपाल का आदेश संवैधानिक शक्ति का ‘‘घोर दुरुपयोग' है.

- भाजपा नेता अनंत कुमार ने आज कहा कि बीएस येदियुरप्पा तीसरी बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री बने हैं. मुझे पूरा यकीन है कि वे राज्य को स्थिर और जिम्मेदार सरकार देंगे. यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस जैसी इतनी पुरानी पार्टी इस तरह का स्तरहीन कृत्य कर रही है, उसे तो एक रचनात्मक विपक्ष की भूमिका निभानी चाहिए थी. 

 


-सीएमओ से सिद्धारमैया का नेम प्लेट हटाया गया.

-शपथ ग्रहण के बाद विधानसभा पहुंचे येदियुरप्पा.

-एक कांग्रेस विधायक ने कहा कि सभी विधायक मौजूद हैं. जो 2 विधायक मौजूद नहीं हैं अभी वे वापस आएंगे, मैं खुद मैंगलुरु से वापस आया हूं.

-एचडी देवगौड़ा अपने घर से होटल के लिए निकल चु‍के हैं जहां जेडीएस विधायकों को रखा गया है.


बेंगलुरु :
कर्नाटक में भाजपा विधायक दल के नेता बी एस येद्दियुरप्पा ने आज मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. सरकार बनाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में रातभर चली हाई वोल्टेज कानूनी लड़ाई के बाद येद्दियुरप्पा तीसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने. लिंगायत समुदाय में खासा प्रभाव रखने वाले 75 वर्षीय येद्दियुरप्पा को राज्यपाल वजुभाई वाला ने राजभवन में एक समारोह में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी. येद्दियुरप्पा के शपथ लेते समय समर्थकों के बीच जबरदस्त उत्साह था. कोर्ट ने येद्दियुरप्पा के शपथ लेने पर रोक लगाने से इनकार किये जाने के कुछ घंटों बाद ही भाजपा नेता ने अकेले शपथ ली.

शपथग्रहण समारोह में केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा, धर्मेंद्र प्रधान और प्रकाश जावड़ेकर सहित कई नेता मौजूद थे. शपथ ग्रहण समारोह के बाद येदियुरप्पा ने विक्टरी साइन दिखाया. गौर हो कि  उन्होंने तीसरी बार सूबे के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली है. वे शिकारीपुरा चुनाव जीतकर आये हैं.

येदियुरप्पा के शपथग्रहण के पहले कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा पर करारा प्रहार किया. उन्होंने अपने ट्विटर वॉल पर लिखा कि बहुमत न होने के बाद भी भाजपा की सरकार बनना संविधान का मजाक उड़ाना है. आज सुबह जब भाजपा अपनी खोखली जीत का जश्न मना रही होगी तो भारत लोकतंत्र की हार का शोक मनाएगा. वहीं, बेंगलुरु में कांग्रेस के विधायक और नेता गुलाम नबी आजाद, अशोक गहलोत और सिद्धारमैया विधानसभा परिसर में स्थित गांधी की प्रतिमा के पास प्रदर्शन करने के लिए जमा हुए हैं और विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कर्नाटक के राज्यपाल ने लोकतंत्र की हत्या की है.

सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिलने के बाद से ही समर्थक येदियुरप्पा के घर के बाहर जुटने शुरू हो गये थे. वहीं दूसरी ओर सुबह से ही भाजपा समर्थक राजभवन के सामने जुट चुके थे. समर्थक राजभवन के बाहर 'भारत माता की जय' और 'मोदी-मोदी' के नारे लगा रहे थे. शपथग्रहण के पहले भाजपा नेता अनंत कुमार ने कहा कि हमें समर्थन मिलेगा और सदन में हम अपना बहुमत साबित कर देंगे.

यहां चर्चा कर दें कि सुप्रीम कोर्ट ने भाजपा द्वारा राज्यपाल को भेजा पत्र उसके समक्ष पेश करने का आदेश दिया है. कोर्ट ने कहा है कि मामले पर फैसला करने के लिए भाजपा द्वारा राज्यपाल को भेजे पत्र का अवलोकन करना आवश्यक है. सुप्रीम कोर्ट  शुक्रवार ( कल ) सुबह साढ़े दस बजे एक बार फिर मामले पर सुनवाई करेगा. सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस-जेड ( एस ) की याचिका पर कर्नाटक सरकार और येद्दियुरप्पा को नोटिस भेजा.

कोर्ट ने रातभर चली दुर्लभ सुनवायी के बाद येद्दियुरप्पा के कनार्टक के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था. देर रात दो बजकर 11 मिनट से गुरुवार सुबह पांच बजकर 58 मिनट तक चली सुनवाई के बाद कोर्ट ने यह स्पष्ट किया कि राज्य में शपथ ग्रहण और सरकार के गठन की प्रक्रिया न्यायालय के समक्ष इस मामले के अंतिम फैसले का विषय होगा. सर्वोच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति ए के सीकरी, न्यायमूर्ति एस के बोबडे और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की एक विशेष पीठ ने कहा कि न्यायालय बी एस येद्दियुरप्पा के शपथ ग्रहण समारोह पर रोक लगाने के संबंध में कोई आदेश नहीं दे रहा है. अगर वह शपथ लेते हैं तो यह प्रक्रिया न्यायालय के समक्ष इस मामले के अंतिम फैसले का विषय होगा.

येद्दियुरप्पा के पास विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का समय है. सदन में भाजपा के पास 104 विधायक हैं जो बहुमत के 112 के आंकड़े से आठ विधायक कम है. कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों में से 222 सीटों के लिए मतदान हुआ था. जयनगर सीट पर भाजपा उम्मीदवार के निधन के बाद चुनाव रद्द कर दिया गया जबकि आर आर नगर सीट पर कथित चुनावी कदाचार के चलते मतदान 28 मई के लिए टाल दिया.

Advertisement

Comments