Advertisement

other state

  • Jun 14 2019 6:37PM
Advertisement

विकाराबाद के कलक्टर मसर्रत खानम आयशा ने कायम की मिसाल, सरकारी स्कूल में कराया बेटी का एडमिशन

विकाराबाद के कलक्टर मसर्रत खानम आयशा ने कायम की मिसाल, सरकारी स्कूल में कराया बेटी का एडमिशन

हैदराबाद : आज की तारीख में जब कई माता पिता अपने बच्चे को प्राइवेट स्कूल में पढ़ाने के लिए उतावले हैं, तब तेलंगाना के विकाराबाद की कलक्टर मसर्रत खानम आयशा ने मिसाल कायम करते हुए अपनी बेटी का एडमिशन एक सरकारी स्कूल में करवाया है. कलक्टर खानम आयशा ने विकाराबाद के सरकारी अल्पसंख्यक आवासीय स्कूल में पांचवी कक्षा में अपनी बेटी का दाखिला करवा कर मिसाल पेश की.

...और इसे भी जानिये : गरीब बच्चों के एडमिशन की समय-सीमा नहीं

हालांकि, वह अपनी बेटी के लिए सारी सुविधाओं से युक्त प्राइवेट स्कूल को भी चुन सकती थीं, लेकिन उन्होंने इससे परहेज करते हुए उसे सरकारी स्कूल में भेजने का कठिन रास्ता चुना. कलक्टर ने अपनी बेटी का हैदराबाद से 75 किलोमीटर दूर स्थित तेलंगाना माइनॉरिटीज रेजीडेंशियल स्कूल में दाखिला करवाया है.

आयशा ने बताया कि शिक्षा का स्तर अच्छा है और वहां बच्चे का संपूर्ण विकास हो सकता है और यहां सुविधाएं भी पर्याप्त हैं. इस स्कूल में अधिकतर गरीब लोगों के बच्चे पढ़ते हैं. तेलंगाना माइनॉरिटीज रेजीडेंशियल एजुकेशनल इंस्टीटयूशन सोसाइटी के सचिव बी शफीउल्ला ने कहा कि कलक्टर का यह प्रयास सराहनीय है. उन्होंने कहा कि इससे अल्पसंख्यकों को प्रेरणा मिलेगी. इससे अल्पसंख्यकों में लड़कियों की शिक्षा को लेकर कई बदलाव आ सकते हैं. यह अच्छी खबर है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement