Advertisement

national

  • Feb 11 2019 6:46AM
Advertisement

शिमला और जम्मू में भारी बर्फबारी, पांचवें दिन भी एनएच बंद, वायु सेना ने 186 लोगों को जम्मू से श्रीनगर पहुंचाया

शिमला और जम्मू में भारी बर्फबारी, पांचवें दिन भी एनएच बंद, वायु सेना ने 186 लोगों को जम्मू से श्रीनगर पहुंचाया
हिमाचल में अगले हफ्ते और हिमपात की आशंका, स्कूलों की छूट्टियां बढ़ीं
शिमला/जम्मू : हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला और जम्मू-कश्मीर के कई हिस्सों में रविवार को हुई भारी बर्फबारी ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. बर्फबारी के बाद हिमाचल प्रदेश के स्कूलों में अवकाश दो दिन के लिए बढ़ा दिया गया है. वहीं, मौसम विभाग ने हिमाचल में अगले हफ्ते और हिमपात तथा बारिश होने की आशंका जतायी है. मनाली और कुफरी में शीतलहर तेज रही. 
 
 इधर, कश्मीर को देश के शेष हिस्से से जोड़ने वाला जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग रविवार को लगातार पांचवें दिन भी बंद रहा. भारी हिमपात और मूसलधार बारिश के बाद बुधवार को राजमार्ग पर यातायात बंद कर दिया गया था.
 
हिमपात और बारिश से विभिन्न स्थानों खासतौर से जवाहर सुरंग समेत काजीगुंड-बनिहाल-रामबन के बीच हिमस्खलन तथा भूस्खलन हुआ. इस बीच, भारतीय वायु सेना ने रविवार को जम्मू से करीब 180 से ज्यादा यात्रियों को एयरलिफ्ट करके श्रीगनर पहुंचाया. 
 
इन यात्रियों में से ज्यादातर गेट परीक्षा देने वाले छात्र थे. वायुसेना के सी17 ग्लोबमास्टर ने पिछले दो दिनों में अपनी उड़ानों में कुल 538 लोगों को एयरलिफ्ट किया है. इनमें से 319 ऐसे छात्र थे, जिन्होंने गेट परीक्षा में हिस्सा लिया था.
 
कहां कितना तापमान
 
स्थान  पारा
मनाली  -0.2
कुफरी  - 0.5 
केलॉन्ग  -11.6 
स्थान  पारा
बनिहाल -1.0
दिल्ली 8.4
अमृतसर  4.6
 
नासिक : अंगूर की फसल बचाने के लिए जला रहे अलाव
 
महाराष्ट्र के नासिक जिले में न्यूनतम तापमान तीन डिग्री सेल्सियस तक गिर गया है, जिसके चलते अंगूर उत्पादकों को अपनी फसल को नुकसान से बचाने के लिए अलाव जलाना पड़ा. गन्ने, गेहूं और अंगूर पर जमी ओस की बूंदों के चलते किसानों को अपनी फसलों को खराब होने से बचाने के लिए अलाव जलाना पड़ रहा है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement