nalanda

  • Nov 23 2019 1:09AM
Advertisement

बस की चपेट में आने से पुत्र की मौत, पिता जख्मी, सड़क जाम

राजगीर (नालंदा) : स्थानीय थाना क्षेत्र के नाहुव गांव मोड़ के पास एनएच 82 में शुक्रवार को बस की चपेट में आने से एक युवक की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी. वहीं, मृतक के पिता को भी हल्की चोट आयी है. मृतक का पहचान वारसिलगंज थाना क्षेत्र के भवानी बिगहा गांव निवासी रामचंद्र प्रसाद के 25 वर्षीय पुत्र सुभाष कुमार के रूप में हुई है.

 
घटना से गुस्साये लोगों ने नाहुव मोड़ के पास ही मृतक के शव को सड़क पर रखकर यातायात रोक दिया. इससे सड़क के दोनों किनारों पर वाहनों की लंबी कतारें लग गयीं. बताया जाता है कि युवक अपने पिता के साथ नाहुव गांव किसी काम से आया था. वह वापस घर जाने के लिए बस पकड़ने के लिए नाहुव मोड़ पर पिता के साथ खड़ा था. तभी राजगीर से बिहारशरीफ की ओर जा रही एक बस को उसने हाथ दिया, बस पास आकर रुकी.
 
युवक पिता के साथ बस पर ज्योंही सवार होने का प्रयास किया, तभी बस चल पड़ी और पिता-पुत्र दोनों बस की चपेट में आ गये. इस दौरान सुभाष कुमार बस के नीचे चला गया और बस के पीछे का चक्का उसके सर को कुचलते हुए आगे बढ़ गया. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि पीछे से एक दूसरी बस आ रही थी और पीछे से आ रही बस आगे न निकल जाये. इसी चक्कर में चालक बिना ध्यान दिये बस को तेजी से आगे बढ़ा दिया, जिससे यह घटना घटी.
 
राजगीर-बिहारशरीफ मार्ग पर 'मौत' की रफ्तार दौड़ती हैं बसें : बताते चलें की राजगीर-बिहारशरीफ रूट में बसों की रफ्तार काफी तेज रहती है. कंपीटीशन के चक्कर में चालक अपनी बस को काफी तेज चलाते हैं, जिसकी वजह से अक्सर इस रूट पर सड़क दुर्घटना होती रहती है. घटना की सूचना पर पहुंची राजगीर थाना पुलिस ने शव को कब्जे लेने व जाम को तुड़वाने का प्रयास किया, परंतु लोगों के आक्रोश के कारण सफल नहीं हो पायी.
 
इसके बाद एसडीओ संजय कुमार, डीएसपी सोमनाथ प्रसाद सहित अन्य पदाधिकारी घटना स्थल पर पहुंचकर लोगों को समझाने का प्रयास किया. परंतु, लोग बस को पकड़ने की बात पर अड़े रहे. एसडीओ व डीएसपी के काफी समझाने-बुझाने के बाद लोगों ने जाम हटाया. तब जाकर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बिहारशरीफ सदर अस्पताल भेजा. इस घटना के बाद उसके माता-पिता व भाई का रो-रोकर बुरा हाल है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement