Advertisement

nalanda

  • Jul 12 2019 12:25PM
Advertisement

नालंदा में जेडीयू नेता की पुलिस कस्टडी में मौत के बाद फूटा जनाक्रोश, आगजनी, पथराव के बाद लाठीचार्ज

नालंदा में जेडीयू नेता की पुलिस कस्टडी में मौत के बाद फूटा जनाक्रोश, आगजनी, पथराव के बाद लाठीचार्ज

रणजीत सिंह @ बिहारशरीफ

नालंदा के नगरनौसा थाने में पुलिस कस्टडी में जेडीयू दलित प्रकोष्ठ के नगरनौसा प्रखंड अध्यक्ष गणेश रविदास की मौत से आक्रोशित ग्रामीणों ने शुक्रवार की सुबह नगरनौसा बाजार में जमकर हंगामा किया. आक्रोशित ग्रामीणों ने बिहारशरीफ-पटना मुख्य मार्ग को नगरनौसा बाजार में जाम कर दिया. जगह-जगह टायर जलाकर आगजनी की. 

आक्रोशित लोगों ने कई वाहनों के शीशे भी चटकाये. मौके पर मौजूद कई पुलिस पदाधिकारियों पर पथराव कर दिया. इस दौरान नूरसराय थानाध्यक्ष अभय कुमार, रहुई थानाध्यक्ष श्रीमंत कुमार सुमन और गिरियक अंचल के इंस्पेक्टर शेर सिंह यादव समेत कई पुलिस जवान के जख्मी व चोटिल हो गये. इधर, भीड़ अनियंत्रित होते एवं बढ़ते उपद्रव को देखते हुए पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी. इसमें कई लोगो के जख्मी व चोटिल होने की सूचना मिली है. 


घटना की सूचना पाकर पटना से डीआइजी राजेश कुमार नगरनौसा पहुंचे गये हैं. डीआइजी के निर्देश पर पूरे मामले जांच के लिए एसएफएल की तीन सदस्यीय टीम भी यहां पहुंच चुकी है. मौके पर मौजूद एसपी नीलेश कुमार से उन्होंने घटना के बारे में जानकारी ली. इधर, पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर उसे अंत्यपरीक्षण के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है. समाचार प्रेषण तक स्थिति तनावपूर्ण लेकिन पूर्ण नियंत्रण में है.

क्या है पूरा मामला?

जेडीयू नेता 50 वर्षीय गणेश पासवान नगरनौसा थाने के सैदपुरा गांव के निवासी थे. इसी गांव के नरेश साव ने अपनी सोलह वर्षीया पुत्री के अपहरण की आशंका जताते हुए नगरनौसा थाने में 11 जून को प्राथमिकी दर्ज करायी थी. हालांकि, दर्ज प्राथमिकी में जेडीयू नेता गणेश आरोपित भी नहीं है. इसके बावजूद सिर्फ शक के आधार पर पुलिस ने कांड में 10 जुलाई की संध्या चार बजे गणेश पासवान को उनके घर से उठा लिया और फिर थाने लाकर पूछताछ की थी. जेडीयू नेता गणेश के बड़े पुत्र बलराम रविदास ने बताया कि 11 जुलाई की रात्रि उन्हें पुलिस से सूचना मिली कि उनके पिता की मौत हो चुकी है. इधर, पुलिस का कहना है कि गणेश ने थाने के शौचालय में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है. लेकिन, मृतक गणेश के परिजनों का कहना है कि गणेश की पुलिस कस्टडी में बेरहमी से पीट-पीट कर हत्या कर दी गयी है. कार्रवाई से बचने के लिए पुलिस हत्या को आत्महत्या बता रही है.



Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement