muzaffarpur

  • Jan 25 2020 2:37AM
Advertisement

मेयर पर अभियोजन की निगरानी ने अनुमति मांगी

मुजफ्फरपुर : 3.80 करोड़ रुपये के ऑटो टिपर घोटाला में मेयर सुरेश कुमार सहित दस अन्य आरोपितों की मुश्किलें बढ़ गयी हैं. निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने राज्य सरकार से मेयर और आठ अन्य अधिकारियों व इंजीनियरों के खिलाफ अभियोजन की स्वीकृति मांगी है.

 
इस सिलसिले में निगरानी ब्यूरो (पटना) के एसपी ने नगर विकास एवं आवास विभाग व पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव तथा सामान्य प्रशासन विभाग व जल संसाधन विभाग के अपर मुख्य सचिव को पत्र लिखा है. 
 
निगरानी ब्यूरो ने मेयर सुरेश कुमार और तत्कालीन कनीय अभियंता प्रमोद कुमार सिंह व भरत लाल चौधरी के खिलाफ अभियोजन की स्वीकृति के लिए नगर विकास एवं आवास विभाग को पत्र लिखा है. तत्कालीन कार्यपालक अभियंता बिंदा सिंह व कनीय अभियंता मो क्यामुद्दीन अंसारी से पथ निर्माण विभाग, तत्कालीन सहायक अभियंता महेंद्र सिंह व नंद किशोर ओझा पर मुकदमा चलाने के लिए जल संसाधन विभाग से अनुमति मांगी है.
 
तत्कालीन नगर आयुक्त रमेश प्रसाद रंजन और एडीएम रंगनाथ चौधरी के विरुद्ध मंजूरी के लिए सामान्य प्रशासन विभाग को पत्र लिखा है. रंगनाथ रिटायर कर चुके हैं, जबकि रंजन अनुसूचित जाति व जनजाति कल्याण विभाग के अपर सचिव हैं. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement