muzaffarpur

  • Dec 14 2019 12:53AM
Advertisement

अहियापुर में जलायी गयी छात्रा मामले के दूसरे आरोपी का कोर्ट में सरेंडर

मुजफ्फरपुर : अहियापुर में जिंदा जलायी गयी छात्रा मामले के दूसरे आरोपी मुकेश कुमार ने शुक्रवार को सीजेएम के कोर्ट में सरेंडर कर दिया. सीजेएम सूर्यकांत त्रिपाठी ने उसके जमानत आवेदन पर सुनवाई करते हुए खारिज कर दिया.

इसके बाद अहियापुर के नाजिरपुर निवासी मुकेश कुमार को न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया. इससे पूर्व मुकेश ने जमानत आवेदन के साथ न्यायालय में सरेंडर किया था. जिस पर सीजेएम ने सुनवाई करते हुए इसे खारिज कर दिया.

पुलिस का दावा है कि उसकी गिरफ्तारी को लेकर बढ़े दबाव पर मुकेश ने कोर्ट में सरेंडर किया है. वह घटना के बाद फरार हो गया था. हालांकि, घटना में उसकी संलिप्तता मिलते ही पुलिस गिरफ्तारी में जुट गयी थी. एसआइटी, अहियापुर व महिला थाने की पुलिस लगातार उसकी गिरफ्तारी को लेकर जगह-जगह छापेमारी कर रही थी. परिजनों पर भी पुलिस के समक्ष पेश करने का पुलिस दबाव बनायी हुई थी. अहियापुर पुलिस अब मुकेश को रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी.

पुलिस उसे व इस घटना में पूर्व से जेल में बंद राजा राय को रिमांड पर लेने की कवायद शुरू कर दी है. केस के आइओ जल्द ही दोनों को रिमांड पर लेने के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल करेंगे. जानकारी हो कि, छात्रा को आरोपितों ने उसकी छत पर केरोसिन तेल छिड़क कर आग लगा दी थी.

छात्रा को नाजुक स्थिति में एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. चिकित्सकों ने उसे बेहतर इलाज के लिए एसकेएमसीएच रेफर कर दिया था. यहां पीड़िता का मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में बयान दर्ज किया गया. बयान के आधार पर राजा व मुकेश राय को आरोपित किया गया था. उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए सरकारी खर्च पर पटना के बर्न अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

केस की दूसरी आइओ महिला थानेदार आभा रानी ने पटना स्थित अस्पताल में पहुंच कर उसका बयान दर्ज किया था. यहां पर पीड़िता ने राजा राय सहित अन्य पर केरोसिन तेल छिड़क आग लगाने की बात कही थी. विशेष पुलिस टीम व एफएसएल की टीम ने पीड़िता के घर पहुंच कर पूरी घटना का क्राइम सीन रीक्रियेट किया था.  

छात्रा की हालत नाजुक 

पटना के बर्न अस्पताल में इलाजरत छात्रा की हालत गंभीर बनी हुई है. शुक्रवार की सुबह उसकी तबीयत अचानक खराब हो गयी.  परिजनों के मुताबिक उसकी स्थिति काफी गंभीर बनी हुई है.

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement