muzaffarpur

  • Feb 14 2020 8:02AM
Advertisement

दिल्लीः भजनपुरा कांड की सुलझी गुत्थी, उधार नहीं लौटाने पर बेइज्जती हुई तो पूरे परिवार को मार डाला

दिल्लीः भजनपुरा कांड की सुलझी गुत्थी, उधार नहीं लौटाने पर बेइज्जती हुई तो पूरे परिवार को मार डाला

सुपौल के शंभूनाथ के परिवार की हत्या की गुत्थी सुलझी, रिश्तेदार प्रभु ने ही की थी हत्या

नयी दिल्ली/मुजफ्फरपुर. दिल्ली के भजनपुरा इलाके में सनसनी मचा देने वाले हत्याकांड दोषी गुरुवार को पुलिस की गिरफ्त में आ गया. हत्यारा और कोई नहीं, बल्कि शंभूनाथ का रिश्तेदार 28 साल का प्रभु चौधरी निकला. उसने उधार न लौटाने पर हुई बेइज्जती का बदला लेने के लिए अपने शंभूनाथ और उसके पूरे परिवार को मार डाला. घटना की जानकारी लोगों को तब मिली जब शंभू घर से बदबू आनी शुरू हुई.

पैसा नहीं लौटाने पर शंभू की पत्नी ने डांटा था प्रभु को : उत्तर-पूर्व दिल्ली के भजनपुरा में बुधवार को एक ही घर में पांच शव संदिग्ध हालत में मिले थे. मृतकों की पहचान शंभूनाथ चौधरी (43), पत्नी सुनीता (37), बेटा शिवम (17) व सचिन (14) और बेटी कोमल (12) के रूप में हुई. आरोपी प्रभु, शंभू की फुआ का बेटा है. 

प्रभु ने पुलिस को बताया कि उधार लिये गये 30 हजार रुपये नहीं लौटाने पर शंभु की पत्नी सुनीता ने उसकी बेइज्जती की थी और इसी का बदला लेने के लिए उसने सबकी हत्या की. प्रभु ने बताया कि उसने सबसे पहले सुनीता की हत्या की. उसने दोपहर 3.30 बसे से रात 11 बजे के बीच पांचों हत्या को अंजाम दिया. पूर्वी रेंज के जॉइंट सीपी आलोक कुमार ने बताया कि आरोपी 28 साल का है और उसे दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है. उसने बताया कि उसकी शंभूनाथ के परिवार की पत्नी से पैसों को लेकर लड़ाई हुई थी. इसके बाद उसने महिला व बच्चों की रॉड से मारकर हत्या कर दी. इसके बाद उसने महिला के पति को भी मार डाला.

पहले रॉड से मारा,  फिर आरी से काट दिये शव: इससे पहले, जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों ने बताया था कि हमलावर ने पहले पीड़ितों के सिर पर रॉड से वार किया और फिर शवों को आरी से काटा गया. पुलिस ने इस मामले में एफआइआर दर्ज कर ली है. बता दें कि भजनपुरा 'सी' ब्लॉक के मकान नंबर 275 से यह बदबू आ रही थी. 

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement