Advertisement

monghyr

  • Jul 16 2019 7:33AM
Advertisement

आधी-अधूरी तैयारी के बीच श्रावणी मेला का उद्घाटन आज

 असरगंज/संग्रामपुर : यूं तो विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले का अाधिकारिक तौर पर मंगलवार को ही उद्घाटन कर दिया जायेगा. किंतु प्रशासनिक स्तर पर मेले को लेकर जो तैयारियां पूरी की गयी है, वह पिछले वर्ष की तुलना में काफी पीछे दिख रही है. कच्ची कांवरिया पथ पर प्रतिवर्ष प्रशासनिक तौर पर उपलब्ध कराये जाने वाले पेयजल, शौचालय, स्नानागार, बिजली, स्वास्थ्य, सुरक्षा सहित अन्य सुविधाओं में इस वर्ष अभी से ही कमी देखी जा रही है. 

 
संग्रामपुर प्रतिनिधि के अनुसार कच्ची कांवरिया पथ पर बिछाये जा रहे बालू का स्तर इस बार काफी घटिया दिख रहा है. कच्ची कांवरिया पथ पर तारापुर अनुमंडल क्षेत्र में बालू का विछाव सही क्वालिटी एवं मानक के अनुसार नहीं किया गया है. 
 
संग्रामपुर प्रखंड के कहुआ गांव निवासी राम खेलावन शर्मा के अनुसार कांवरिया पथ पर हर जगह मिट्टी कंकड़ युक्त काफी घटिया बालू का बिछाया गया है एवं प्राक्कलन के हिसाब से इसकी चौड़ाई एवं मोटाई भी कम है. अगर प्रशासन द्वारा इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो कांवरियों को पैदल यात्रा के दौरान खासे परेशानियों का सामना करना पड़ेगा. वहीं यात्रियों के पेयजल सुविधा के लिए कांवरिया पथ के किनारे लगाये गये चापाकल से भी कई जगह पर गंदा पानी ही गिर रहा है. 
 
सरकारी धर्मशाला कुमरसार एवं मणियां मोड़ में यात्रियों को शुद्ध पेयजल के लिए आरओ भी नहीं लगाया गया है. पीएचइडी विभाग के इस शिथिलता के कारण लगता है कि कांवरियों को इस वर्ष पेयजल के लिए बाजार में बिकने वाले बोतल बंद पानी का ही सहारा लेना होगा. 
 
असरगंज प्रखंड प्रतिनिधि के अनुसार विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला का विधिवत उद्घाटन मंगलवार को मुंगेर जिला सीमा प्रारंभ कमरांय कच्ची कांवरिया पथ पर जिला प्रशासन गेट के समीप जिलाधिकारी द्वारा किया जायेगा. 
 
यह जानकारी तारापुर अनुमंडल पदाधिकारी उपेंद्र सिंह ने दी. उन्होंने बताया कि कांवरियों की सुविधा के लिए कच्ची कांवरिया पथ पर सारी तैयारियां अंतिम चरण पर है. मालूम हो कि कच्ची कांवरिया पथ पर कांवरिया को रोशनी के लिए बिजली विभाग द्वारा पोल पर अबतक बल्ब नहीं लगाया गया है.
 
 लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा शौचालय, चापानल, झरना के कार्य का अंतिम रुप तो दे दिया गया है, लेकिन कांवरिया को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए कमरांय के समीप लगाए गए वाटर प्यूरीफायर में केमिकल नहीं दिया गया है. जिसके कारण कांवरिया शुद्ध पानी पीने से वंचित रहेंगे. जबकि स्वास्थ्य विभाग द्वारा कांवरिया के प्राथमिक उपचार के लिए कमरांय चौक से असरगंज थाना मोड़ तक में तीन जगह अस्थाई स्वास्थ्य शिविर लगाया जायगा. 
 
जिसमें कमरांय एवं शाहकुंड मोड़ अस्थाई स्वास्थ्य शिविर का अभी तक निर्माण भी नहीं किया गया है. प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ दिवाकर सिंह ने बताया कि शिविर की सारी तैयारी पूरी कर ली गई है. मंगलवार से शिविर चालू कर दिया जाएगा. प्रत्येक अस्थाई स्वास्थ्य शिविर में तीन शिफ्ट में 24 घंटे डॉक्टर एवं एएनएम और पारा मेडिकल कर्मी के साथ-साथ सभी प्रकार की दवाइयां उपलब्ध रहेगी. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement