Advertisement

madhubani

  • Sep 22 2019 1:53AM
Advertisement

सतलखा में 18 घंटे तक गुल रही बिजली

मधुबनी : बिजली विभाग की ओर से बिजली की आपूर्ति को लेकर जितना दावा किया जाये, पर हकीकत यह है कि लगातार एक सप्ताह तक भी सही से बिजली की आपूर्ति नहीं हो पाती है.  शहरी क्षेत्रों में 22 घंटा बिजली आपूर्ति की बात कहती है. वही ग्रामीण क्षेत्रों में 15 से 20 घंटे तक बिजली की आपूर्ति की बात कहती है.

लेकिन आलम यह है कि शहरी क्षेत्रों में भले ही कुछ ढंग से आपूर्ति होती भी हो, पर ग्रामीण क्षेत्र में बिजली की आपूर्ति को लेकर विभाग कोई पहल नहीं उठा रहा है. आये दिन ग्रामीण क्षेत्र में बिजली की आपूर्ति सही तरीका से नहीं हो रही है. शुक्रवार को 3 बजे में रहिका फीडर की लाइन में खराबी आयी. उपभोक्ताओं के द्वारा इस बात की जानकारी विभाग के कनीय अभियंता से लेकर कार्यपालक तक को दिया गया. लेकिन लाइन को सही कराने के लिये कोई भी मिस्त्री या अभियंता शनिवार के 9 बजे दिन लाइन को सही कराने में अभिरुचि नहीं दिखाया. 20 घंटे तक नहीं मिली बिजली.

रहिका फीडर के 5 हजार उपभोक्ताओं को 20 घंटा तक बिजली सेवा से बंचित रहना पड़ा.रहिका फीडर के सतलखा निवासी सुधीर मिश्र,गोखुल ठाकुर,राजेश झा, विनय सहनी, दिलीप सहनी, जटाशंकर झा, सत्रुधन मंडल ने बताया कि हमलोग बिजली विभाग के कार्यप्रणाली से परेशान है. सुधीर मिश्र ने बताया कि इस महीने में लगातार पांच बार हमलोगों की बिजली गड़बड़ हुआ है. हमलोग इसको लेकर विभाग को भी सूचना दिया. लेकिन लाइन में सुधार नहीं हो रहा है. उपभोक्ताओं ने बताया कि रहिका फीडर में तार पुराना है. तार को बदलने के लिये उपभोक्ताओं के द्वारा कई बार आवेदन  भी दिया गया. लेकिन तार बदलने को लेकर कोई पहल नहीं की गयी.  
 
फाल्ट नहीं मिलने से हुई कर्मियों को परेशानी
 
बिजली विभाग के सहायक अभियंता राकेश रंजन से जब बात किया तो उन्होंने बताया कि शुक्रवार को देर से हमलोगों को बिजली की खराबी की सूचना दी गयी.उसके बाद लगातार 9 बजे रात तक हल्की बारिश होने के कारण मिस्त्री को पेट्रोलिंग करने में परेशानी हुई.12 बजे रात तक आधा फीडर को चालू किया गया. बांकी जगह पर रात में फॉल्ट नहीं मिलने के कारण शनिवार के सुबह में चालू किया गया.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement