Advertisement

lucknow

  • Aug 20 2019 7:52PM
Advertisement

योगी मंत्रिमंडल का पहला विस्तार बुधवार को, कुछ मंत्रियों की हाे सकती है छुट्टी

योगी मंत्रिमंडल का पहला विस्तार बुधवार को, कुछ मंत्रियों की हाे सकती है छुट्टी

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के मंत्रिमंडल का बहुप्रतीक्षित पहला विस्तार बुधवार को होगा. राजभवन के आधिकारिक सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि योगी मंत्रिमंडल का विस्तार बुधवार को किया जायेगा. राजभवन में पूर्वाह्न 11 बजे से शुरू होने वाले समारोह में मंत्रियों को शपथ दिलायी जायेगी.

प्रदेश के कई मंत्रियों के हाल में हुए लोकसभा चुनाव में जीतने और मंत्री ओमप्रकाश राजभर के बर्खास्त होने के बाद प्रदेश मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द होने की अटकलें पिछले कई दिनों से लगायी जा रही थी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शनिवार को राजभवन में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात और उसके एक दिन बाद राज्यपाल के दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से भेंट करने के बाद मंत्रिमंडल विस्तार बहुत जल्द होने की संभावनाएं प्रबल हो गयी थीं. सूत्रों के मुताबिक, मंत्रिमंडल विस्तार सोमवार को होने की तैयारियां शुरू की गयी थीं, लेकिन सरकार की तरफ से इस सिलसिले में राजभवन को कोई निवेदन नहीं दिया गया था. यह योगी मंत्रिमंडल का पहला विस्तार होगा. योगी ने मार्च 2017 में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. उस वक्त उन्हें मिलाकर मंत्रिमंडल में कुल 47 सदस्य थे.

प्रदेश सरकार के तीन मंत्री एसपी सिंह बघेल आगरा लोकसभा सीट, रीता बहुगुणा जोशी इलाहाबाद सीट और सत्यदेव पचौरी कानपुर सीट से सांसद चुने जा चुके हैं. उनके इस्तीफा देने से ये मंत्री पद खाली हो गये हैं. वहीं, भाजपा के सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर को पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री पद से बर्खास्त किये जाने के बाद मंत्रिमंडल में एक जगह और बन गयी है. इसके अलावा परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह को प्रदेश भाजपा का अध्यक्ष बनाये जाने के बाद उनके स्थान पर भी किसी और मंत्री को चुना जाना है. भाजपा की 'एक व्यक्ति, एक पद' की नीति की वजह से ऐसा होना लगभग निश्चित है.

हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि मंत्रिमंडल विस्तार के तहत कुल कितने मंत्री शपथ लेंगे. माना जा रहा है कि मंत्रिमंडल में कई नये चेहरे शामिल किये जा सकते हैं. अच्छा काम करने वाले मंत्रियों को प्रोन्नति मिल सकती है. वहीं, खराब प्रदर्शन वाले कुछ मंत्रियों की मंत्रिमंडल से छुट्टी भी हो सकती है. प्रदेश मंत्रिमंडल में इस वक्त मुख्यमंत्री, दो उप मुख्यमंत्रियों, 18 अन्य कैबिनेट मंत्रियों, स्वतंत्र प्रभार के नौ राज्य मंत्रियों और 13 राज्य मंत्रियों समेत कुल 43 मंत्री हैं. मंत्रिमंडल में अभी 18 और मंत्रियों की गुंजाइश है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement