lohardaga

  • Aug 18 2019 2:29AM
Advertisement

तीन घर तोड़े, वनकर्मियों को ग्रामीणों ने घेरा , पहुंची पुलिस

परेशानी : चार हाथियों के झुंड ने मचाया उत्पात

 
कुड़ू (लोहरदगा) : हाथियों के झुंड से बिछड़े चार हाथियों ने प्रखंड में उत्पात मचाया. हाथियों के भय से आधा दर्जन गांव के ग्रामीण रातभर दशहत में रहे. हाथी भगाने पहुंचे वनकर्मियों को ग्रामीणों ने मुआवजे की मांग को लेकर घेर लिया. रात में चांपी पुलिस पिकेट प्रभारी मौके पर पहुंचे तथा वनकर्मियों को बाहर निकाला.
 
हाथियों के तांडव से भुक्तभोगी ग्रामीणों को राहत सामग्री वन विभाग ने दिया तथा मुआवजे के लिए पत्राचार करने की बात कही. बताया जाता है कि हाथियों के झुंड से बिछड़ कर एक बच्चा हाथी समेत चार हाथी शुक्रवार रात्रि लगभग आठ बजे कमले रेलवे लाइन होते हुए छोटकी चांपी पहुंचा तथा खेत में लगी फसलों को खाने लगे. 
 
ग्रामीण मशाल तथा घंटा बजाकर हाथियों को भगाने लगे. ग्रामीणों की भीड़ को देख कर हाथी गुस्से में आ गये तथा कुड़ू प्रखंड के चांपी पिलपिलिया पहुंचा. पिलपिलिया गांव पहुंचते ही हाथी ने तांडव मचाना शुरू कर दिया. पिलपिलिया निवासी हीरामण मुंडा के मकान की दीवार को तोड़ कर घर में रखे अनाज को चट कर गये. इसके बाद हाथी दशरथ भुइयां के घर पहुंचा.
 
दशरथ भुइयां के मकान के दीवार को तोड़ कर अनाज खा रहा था. इसी दौरान आधा दर्जन गांव के ग्रामीण ग्रामीण हाथियों को भगाने के लिए लाठी डंडा , मशाल , पटाका लेकर पिलपिलिया पहुंचे . वन विभाग के कर्मी भी पिलपिलिया पहुंचे . हाथियों के उत्पात  तथा वन विभाग के कर्मियों को देख ग्रामीण आग बबूला हो गये.
 
वन विभाग के खिलाफ नारेबाजी करते हुए मुआवजे की मांग करने लगे. इसकी सूचना पुलिस को मिलने पर चांपी पिकेट प्रभारी रामकुमार टाना भगत मौके पर पहुंचे तथा वन कर्मियों को बाहर निकाला. हाथियों का झुंड पिलपिलिया के बाद मसुरियखांड पहुंचा तथा मसुरियखांड निवासी बिगन गंझू के घर को पूरी तरह धवस्त कर दिया तथा घर मे रखे अनाज को खा गये. बिगन गंझू बेघर हो गया है. वन विभाग के कर्मियों ने हाथियों को किसी प्रकार कुड़ू से चंदवा जंगल भेजने में सफलता पायी. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement