Advertisement

lohardaga

  • May 11 2019 1:00AM
Advertisement

युवक को विवाहिता से इश्क लड़ाना पड़ा महंगा, दोनों की चली गयी जान

 दो परिवार हुए बर्बाद बच्चों का भविष्य हुआ अंधकारमय

लोहरदगा : लोहरदगा प्रखंड के रामपुर गांव में विवाहिता महिला से संबंध रखने के आरोप में गांव के ही गणेश ठाकुर और महिला प्रतिमा की हत्या बड़े ही बेरहमी से अपने ही घर में प्रतिमा के पति सागर साहू पिता अंदू साहू ने कर दी. घटना गुरुवार देर रात की है. इस मामले में आरोपी सागर साहू ने पुलिस को बताया कि वह गुमला जिला के घाघरा के पास जमीन लीज में लेकर तरबूज की खेती कर रहा था.

जिसके कारण वह अक्सर घर से बाहर रहता था. गुरुवार रात वह तरबूज बेच कर घर लौटा तो अपने ही घर में एक पराये मर्द के साथ अपनी पत्नी को आपत्तिजनक स्थिति में देख कर वह आग बबूला हो गया. क्रोध में अंधा होकर उसने घर में रखे लकड़ी के फट्टे से वार कर दोनों को घायल कर दिया और फिर गला दबा कर दोनों की हत्या कर दी. इस घटना के बाद आरोपी सागर साहू रात भर इधर-उधर घूमता रहा. घर के बाहर ताला बंद कर वह सुबह पांच बजे लोहरदगा थाना पहुंचा और सीधे बड़ा बाबू से मिला.

सागर ने बड़ा बाबू को बताया कि उसने अपने ही घर में अपनी पत्नी और उसके प्रेमी की हत्या कर दी है. दोनों का शव घर के अंदर पड़ा है आप ये चाबी लें और शव ले आयें. थाना प्रभारी राणा जय प्रकाश को उसकी बातों पर भरोसा नहीं हुआ तो कुछ सोच कर वे उसे गाड़ी में बिठा कर उसके गांव रामपुर ले गये. वहां ताला खोलने पर जो दृश्य सामने आया उसे देख कर सभी चौक गये.  

दो बच्चों के सर से उठा मां का साया  : घटना की जानकारी गांव वालों को जैसे ही लगी तो पूरा गांव वहां पहुंच गया. गणेश ठाकुर के परिजन काफी आक्रोशित थे. उनका कहना था कि जो घटना घटी है वह काफी दर्दनाक है. ग्रामीणों में भी काफी रोष देखा गया. किसी तरह थाना प्रभारी ने लोगों को समझा-बुझा कर दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भिजवाया. इस घटना की हर कोई निंदा कर रहा था. लोगों का कहना था की अवैध संबंध ने दो परिवारों को बर्बाद कर दिया. दो बच्चों के सर से मां का साया उठ गया. गांव की बदनामी हुई सो अलग. 

बच्चों का रो-रो कर बुरा हाल : सागर साहू की पत्नी प्रतिमा का मायका भंडरा प्रखंड के बेदाल गांव में है. उसकी शादी 10 वर्ष पूर्व हुई थी. दोनों को एक बेटा ओर एक बेटी है. बेटा लोहरदगा के ही एक निजी स्कूल के हॉस्टल में रह कर पढ़ता है. जबकि बेटी गांव के ही स्कूल में पढ़ती है. इस घटना के बाद दोनों छोटे बच्चों का रो-रो कर बुरा हाल है. उन्हें कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है. परिजन भी कुछ बताने की स्थिति में नहीं हैं. 

अवैध संबंध को लेकर पंचायत भी बैठी थी  :  सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार सागर को शक था कि उसकी पत्नी का गणेश ठाकुर के साथ अवैध संबंध है. उसने अपनी पत्नी को  कई बार इसे लेकर चेतावनी भी दी थी. दो महीने पूर्व गांव में पंचायत बैठी थी और इस मामले पर चर्चा भी हुई थी. दोनों को चेतावनी दी गयी थी लेकिन दोनों के रवैये में कोई बदलाव नहीं हुआ.

गणेश ठाकुर प्रतिमा को भाभी कह कर बुलाता था. दोनों के बीच काफी घनिष्टता थी और दोनों मोबाइल पर घंटों एक-दूसरे से बात करते थे. गणेश ठाकुर लोहरदगा शहर के मैना बगीचा में एक सैलून में काम करता था. अवैध संबंध ने दो परिवारों को उजाड़ तो दिया ही, पूरे गांव की भी बदनामी हुई.  

दोनों शवों का हुआ अंतिम संस्कार : इस दोहरे हत्याकांड को लेकर और भी कई तरह की चर्चा हो रही है. कुछ लोग इसे पूर्व नियोजित साजिश बता रहे हैं तो कुछ का कहना है कि गणेश ठाकुर को लोहरदगा से कुछ लोग उठा कर रामपुर ले गये थे. इस घटना के पूर्व कुछ लोगों को फोन से भी जानकारी दिये जाने की बात कही जा रही है. गणेश ठाकुर का अंतिम संस्कार कोयल नदी के तट पर कर दिया गया. वहीं प्रतिमा का अंतिम संस्कार रामपुर गांव में ही तालाब किनारे किया गया. 

 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement