Advertisement

lohardaga

  • Feb 12 2019 5:45AM
Advertisement

कार्यस्थल से भागे मजदूर, पसरा सन्नाटा

कुड़ू (लोहरदगा) : थाना क्षेत्र के सलगी में स्वास्थ्य उपकेंद्र भवन निर्माण में लगे मजदूरों के साथ दो माह के भीतर मारपीट करते हुए मोबाइल छिनतई से लेकर बंधक बनाने की घटना ने ठेकेदार की नींद उड़ा दी है. मजदूर जहां काम पर दोबारा लौटने को तैयार नहीं है तो ठेकेदार इस बात से परेशान है कि समय पर काम पूरा नहीं हुआ तो टाइम एक्सटेंशन की राशि काट ली जायेगी . सलगी में काम करने के लिए मजदूर पलामू से आते हैं . 

घटना के दूसरे दिन सोमवार को कार्यस्थल पर सन्नाटा पसरा रहा. सभी मजदूर वापस लौट गये हैं.  राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ मिशन के तहत सलगी लालुटोली में स्वास्थ्य उपकेंद्र भवन निर्माण कराया जा रहा है . कार्य की क्रियान्वयन एजेंसी भवन निर्माण विभाग लोहरदगा तथा निविदा के आधार पर काम पलामू के विश्वनाथ चौधरी कंपनी को मिला है. भवन निर्माण के लिए दो करोड़ तीस लाख रुपये आवंटित किया गया है .  एक साल पहले काम शुरू कराया गया था .
 
कितना हुआ है काम, कब - कब ठप पड़ा है काम: स्वास्थ्य उपकेंद्र भवन निर्माण के लिए विभाग द्वारा दो करोड़ तीस लाख रुपये आवंटित किये गये हैं.  इसमें मुख्य स्वास्थ्य उपकेंद्र भवन दो मंजिला , चिकित्सक आवास , कर्मियों के रहने का आवास , वाहन पार्किंग ,  जांच घर समेत अन्य भवन का निर्माण होना है . मुख्य भवन में एक मंजिला छत ढलाई तथा रूफ लेबल के बाद आधा हिस्सा ढलाई काम हो चुका है. शेष भवनों का काम आधा से ज्यादा हो चुका है. सूत्रों ने बताया कि फरवरी 2019 तक भवन निर्माण कार्य पूर्ण करते हुए विभाग को हैंडओवर करना था . बताया जाता है कि ठेकेदार को समय - समय पर परेशान किया जाता रहा है . पिछले चार दिसंबर की रात्रि कार्य करनेवाले मजदूरों के ठहरने वाले स्थान सलगी लालुटोली में अपराधियों ने तांडव मचाते हुए मजदूरों की पिटाई की थी.  इसके बाद काम बंद हो गया था . ठेकेदार ने विभाग को लिखित देकर बताया था कि अपराधियों द्वारा परेशान किया जा रहा है . चार दिसंबर की घटना के बाद  से जनवरी तक काम बंद रहा . दस दिन पहले ठेकेदार ने  पलामू से मजदूरों को लाकर काम शुरू किया था. तीन - चार दिन काम चला कि फिर से हथियारबंद वर्दीधारी अपराधियों ने शनिवार की रात्रि मजदूरों को बंधक बनाकर पिटाई की. 
 
सलगी में स्वास्थ्य उपकेंद्र बनने से किन - किन गांवों को होगा लाभ : प्रखंड का सलगी पंचायत अति पिछड़ा पंचायत माना जाता है. स्वास्थ्य सेवा के नाम पर पहाड़ी क्षेत्र के लोग आज भी जंगली जड़ी बूटियों पर आश्रित हैं. स्वास्थ्य उपकेंद्र बनने से सलगी पंचायत के चूल्हापानी , जवरा , सलगी, लालुटोली , महतोटोली , मसियातू , टोंगरीटोला , असनापानी , नामुदाग , खम्हार , बहेरामाडर , धौरा , नवाडी, रिझीटांड, गरभूटोली , चुंद समेत किस्को प्रखंड के सलैया , अंबाटोली , कटात , नाथपुर समेत अन्य गांव के ग्रामीणों को स्वास्थ्य लाभ मिलता.  लेकिन भवन निर्माण कार्य पूरा होने में काफी समय लग सकता है.  
 
ठेकेदार को सुरक्षा दी जायेगी, उग्रवादियों को नहीं छोड़ा जायेगा : थाना प्रभारी
 
तीन माह के भीतर दूसरी बार सलगी स्वास्थ्य उपकेंद्र भवन निर्माण में लगे मजदूरो के साथ मारपीट तथा मोबाइल छिनतई की घटना के संबंध में कुड़ू थाना प्रभारी अनिल कुमार तिवारी ने बताया कि अपराधियों , उग्रवादियों को नहीं छोड़ा जायेगा . अपराधियों की पहचान हो गयी है . जल्द सभी सलाखों के पीछे होंगे . ठेकेदार सुरक्षा मांंगेगा तो काम करने के लिए सुरक्षा दी जायेगी. विकास कार्यो को समय पर पूरा कराना सभी की नैतिक जिम्मेदारी है .
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement