Advertisement

lohardaga

  • Feb 8 2019 2:23AM

किसानों को आर्थिक सहायता दी जायेगी

लोहरदगा : जिला स्तरीय किसान मेला-सह-प्रदर्शनी का आयोजन सदर प्रखंड उद्यान नर्सरी में किया गया. कार्यक्रम का उद्घाटन उप विकास आयुक्त ने किया.  किसान मेला सह प्रदर्शनी में किसानो द्वारा स्टॉल भी लगाया गया था. मौके पर डीडीसी आर रॉनिटा ने कहा कि झारखंड प्रदेष कृषि प्रधान देश है.

यहां के किसान खेती पर ही निर्भर रहते हैं. इसके लिये मुख्यमंत्री द्वारा 2019-22 वर्ष के लिए मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना लागू किया गया. किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने और कृषि कार्य के माध्यम से राष्ट्र को आर्थिक लाभ पहुंचाने के लिए इस योजना की शुरुआत की गयी है. कृषि कार्य करनेवाले किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी. इसके तहत खरीफ फसल के लिए प्रतिवर्ष 5000 प्रति एकड़ लघु या सीमांत किसानों को यह राशि दी जायेगी.

जिसके पास 5 एकड़ जमीन है उस किसानों के लिये कृषि उत्पादन में वृद्धि, खरीफ फसल के उत्पादन के लिए राज्य के कृषकों को आर्थिक सहयोग, कृषकों को फसल उत्पादन के लिए ऋण की आवश्यकता नहीं होगी. योजना के लाभ से लोग आत्मनिर्भर बनेंगे. योजना का लाभ पाने के लिए आवश्यक दस्तावेज जैसे झारखंड का स्थायी निवासी प्रमाण-पत्र, जमीन के कागजात, आधार कार्ड एवं बैंक अकाउंट का होना अनिवार्य है. आवेदक किसान अपना आवेदन कृषि विभाग के सरकारी कार्यालय, अपने प्रखंड क्षेत्र के प्रखंड मुख्यालय में, पंचायत सचिवालय, ग्राम सभा, रैयत समन्वय समिति में जमा करेंगे. मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना में प्रत्येक किसान का आय दोगुनी आमदनी किया जाना है. 

 
जिला स्तरीय किसान मेला सह प्रदर्शनी में किसानों द्वारा लगाये गये स्टॉल का अवलोकन उप विकास आयुक्त आर रॉनिटा ने किया. स्टॉल प्रदर्शनी में किसानों द्वारा अपनी उपज का पत्तागोभी, मूली, टमाटर, कोहड़ा, कदू, हाइट्रोजन पौधा नेट द्वारा उपचार किये हुए सब्जी का प्रदर्शनी किया गया. मौके पर  कृषि पदाधिकारी शैलेंद्र कुमार, कृषि वैज्ञानिक केबीके डॉ शंकर कुमार सिंह, चंद्रशेखर अग्रवाल, डीडीएम नाबार्ड, मत्स्य पदाधिकारी, उद्योग पदाधिकारी, गव्य पदाधिकारी, उप परियोजना निदेशक आत्मा तृप्ति तिर्की, एलडीएम, सहित अन्य पदाधिकारी एवं सभी प्रखंडों के किसान उपस्थित थे.
 

Advertisement

Comments

Advertisement