Advertisement

lohardaga

  • Dec 31 2018 1:56AM

दस दिन में तीन घटनाओं को दिया अंजाम

अमित राज /संदीप साहू, कुड़ू / किस्को ( लोहरदगा).  जिले की पुलिस माओवादी तथा नक्सलियों के सफाये के लिए लगातार सर्च ऑपरेशन चला रही है. दूसरी तरफ जिले के तीन थाना क्षेत्र में पिछले  दस दिन के भीतर तीन अापराधिक घटनाओं को अंजाम देकर अापराधिक गिरोह ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए पुलिस को कड़ी चुनौती पेश की है.
 
 जिले के किस्को थाना क्षेत्र में शनिवार देर रात दो स्थान तिसिया पुराना बाजारटांड़ तथा बेलथरवा कसियाडीह के समीप अापराधिक  घटना को अंजाम देते हुए चार ट्रकों को फूंक दिया. दशहत फैलाने के उद्देश्य से हवाई फायरिंग की. 
 
सूत्र बताते है कि पुलिस दाबिश से बैकफुट पर आये उग्रवादियों ने घटना को अंजाम देकर अपनी उपस्थिति दर्ज करायी है, लेकिन जिला पुलिस किस्को की घटना को उग्रवादी घटना मानने को तैयार नहीं है.
 
 पुलिस का कहना है कि अपराधियों ने दशहत फैलाने के लिए ट्रक में आग लगायी है. बताया जाता है कि अापराधिक गिरोह की धमक कुड़ू थाना क्षेत्र से शुरू हुई है, जब 22 दिसंबर की शाम अमन श्रीवास्तव गिरोह के नाम पर आधा दर्जन हथियारबंद अपराधियों ने प्रखंड के बड़की चांपी कोयला डंपिंग यार्ड में रैक लोडिंग कर रहे पेलोडर में आग लगा दिया. 
 
दशहत फैलाने के उद्देश्य से हवाई फायरिंग की. अमन श्रीवास्तव के नाम पर पर्चा छोड़ते हुए घटना की जिम्मेवारी लेते हुए धमकी दी कि बगैर बात किये किया, तो  अंजाम बुरा होगा. बड़की चांपी डंपिंग यार्ड में घटित घटना का खुलासा भी  नहीं पाया था कि भंडरा थाना क्षेत्र में मवेशी व्यवसायी से हथियार के नोंक पर अपराधियों ने नगद राशि लूट ली.
 
 पुलिस पूरे मामले की जांच कर ही रही थी कि शनिवार देर रात किस्को थाना क्षेत्र के तिसिया पुराना बाजारटांड़ में सड़क किनारे खड़े चार बाक्साइड ट्रक में आग लगा दिया . एक ट्रक भागने में सफल रहा. इतना ही नहीं, तिसिया पुराना बाजारटांड़ के बाद अपराधियों ने बेलथरवा के समीप एक ट्रक में आग लगा दी.
 
 घटनास्थल से पुलिस ने नाइन एम एम का तीन खोखा बरामद किया. घटना की सूचना पाकर पुलिस अधीक्षक प्रियदर्शी आलोक , एसडीपीओ अरविंद कुमार वर्मा, किस्को थाना प्रभारी  समेत पुलिस के जवान घटनास्थल पर पहुंचे तथा मामले की जानकारी ट्रक चालकों से ली . 
 
 
एक माह में पुलिस को उग्रवादियों के विरुद्ध मिली सफलता:
पुलिस अधीक्षक प्रियदर्शी आलोक समेत अभियान एएसपी उग्रवादियों के विरुद्ध कार्रवाई में लगे हुए हैं. पिछले 30 नवंबर को किस्को तथा जोबांग थाना की सीमा से सटे जोबांग थाना क्षेत्र के बीरजंगा उपर तलसा जंगल में भाकपा माओवादी के इनामी जोनल कमांडर के साथ पुलिस की मुठभेड़ हुई थी, इसमें पुलिस को हथियार समेत अन्य सामान मिला था.
 
 उग्रवादी जंगल का लाभ उठाकर भागने मे सफल रहे थे. आठ दिसंबर को किस्को थाना क्षेत्र के करमाही जंगल मे भाकपा माओवादी के जोनल कमांडर के साथ पुलिस की मुठभेड़ हुई थी, मुठभेड़ के बाद उग्रवादी भागने में सफल रहे थे.
 
 तलाशी अभियान में पुलिस के हाथ तीन केन बम समेत कई नक्सली सामान बरामद हुआ था. इसके बाद कुड़ू थाना क्षेत्र में हाइवे सड़क निर्माण में लगी मशीन को जलाने पहुंचे पीएलएफआइ उग्रवादियो में एक उग्रवादी को हथियार के साथ कुड़़ू पुलिस ने पकड़ा था. पुलिस दबिश के बाद जिले मे उग्रवादी बैकफुट पर आ गए हैं.
 
 
किस्को की घटना उग्रवादी नहीं, अपराधी है : एसडीपीओ 
एसडीपीओ अरविंद कुमार वर्मा ने बताया कि जिले के किस्को थाना क्षेत्र में ट्रक जलाने की घटना में उग्रवादियों का हाथ नहीं है. न ही जांच में किसी प्रकार का सुराग मिला है कि उग्रवादियों ने घटना को अंजाम दिया है. किस्को की घटना अपराधियों की करतूत है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. जल्द ही पूरे मामले का खुलासा किया जायेगा.
 

Advertisement

Comments

Other Story

Advertisement