Advertisement

latehar

  • Jul 12 2019 6:48AM
Advertisement

लातेहार में दो बच्चों की बलि, फॉरेंसिक टीम को मिले खून सने कपड़े, आरोपी गिरफ्तार

लातेहार में दो बच्चों की बलि, फॉरेंसिक टीम को मिले खून सने कपड़े, आरोपी गिरफ्तार
दो दिन से गायब थे निर्मल उरांव (14) व शीला (07)
गांव के ही सुनील उरांव के घर के पीछे बालू में बिना कपड़ों के दबे मिले शव
आरोपी सुनील के घर से खून के धब्बे व खून सने कपड़े मिले
 
लातेहार‍/मनिका : लातेहार के मनिका थाना क्षेत्र स्थित माइल गांव के सेमरहट टोला में दो स्कूली बच्चों की बलि दे दी गयी. दोनों के सिर बेरहमी से काट दिये गये और शरीर के निचले हिस्से को बालू में छिपा दिया गया. उनके शरीर पर कपड़े नहीं थे. 
 
मृत बच्चों में निर्मल उरांव (14) और शीला कुमारी (07) हैं, दोनों ही अलग-अलग परिवार से थे. गुरुवार सुबह दोनों बच्चों के शव मिलने के बाद गांव में सनसनी मच गयी. ग्रामीणों ने पुलिस को घटना की सूचना दी. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए लातेहार भेज दिया. ग्रामीण इस घटना को नरबलि बता रहे हैं. 
 
उनका कहना है कि अंधविश्वास के कारण गांव के ही सुनील उरांव ने दोनों बच्चों की गला काट कर हत्या कर दी. घटना की सूचना पर एसडीओ जय प्रकाश झा, बरवाडीह एसडीपीओ अमरनाथ प्रसाद और मनिका सीओ नंदकुमार राम भी पहुंचे. वहीं, पुलिस ने आरोपी सुनील उरांव को कीनामाड़ स्थित मत्स्य हेचरी से गिरफ्तार िकया व पूछताछ कर रही है.
 
मनिका थाने में सुनील उरांव के खिलाफ नामजद प्राथमिकी भी दर्ज की गयी है. समाचार लिखे जाने तक दोनों बच्चों का सिर बरामद नहीं किया जा सका है. 
 
फॉरेंसिक टीम को मिले खून सने कपड़े
 
घटना की सूचना मिलने पर रांची से फॉरेंसिक टीम सेमरहट टोला पहुंची. टीम ने सुनील उरांव के घर का ताला तोड़ा और अंदर रखे सभी सामान की जांच की. घर में खून के धब्बे और खून से सने कपड़े टीम ने बरामद किये हैं. वहीं, घर में दो दिन पहले बना खाना भी पड़ा था. टीम के सदस्यों ने सामाजिक, वैज्ञानिक और स्थानीय स्तर पर भी कई बिंदुओं पर जांच की.

हत्या के कारणों की जांच की जा रही है : एसपी
 
एसपी  प्रशांत आनंद ने बताया कि मनिका के सेमरहट टोला में दो बच्चों की गला काट कर निर्मम हत्या की गयी है. फॉरेंसिक टीम को सुनील उरांव के घर से खून के धब्बे, खून सने कपड़े सहित कई सामान मिले हैं. हालांकि घर में पूजा-पाठ का कोई सामान नहीं मिला. जहां से शव बरामद हुआ, वहां पर भी किसी तरह की पूजन सामग्री नहीं मिली. घटना के संबंध में हर बिंदु पर जांच की जा रही है. आरोपी सुनील का आपराधिक इतिहास रहा है. वह पहले भी हत्या कर चुका है.
 
मनिका के माइल गांव के सेमरहट टोला की घटना

पुत्र निर्मल को सुनील के घर फोन लाने भेजा था : वीरेंद्र
 
मृतक निर्मल  के पिता वीरेंद्र उरांव ने कहा कि  मेरा पुत्र दो दिन से ही गायब था. मंगलवार को सुनील उरांव की ससुराल से  मेरे मोबाइल पर फोन आया था. मैंने उसे फोन बात करने के लिए दिया.  उसने फोन नहीं लौटाया. बुधवार को अपने पुत्र  को मैंने सुनील के यहां मोबाइल लेने भेजा, इसके बाद से ही पुत्र लापता था.  उसे ढूंढते हुए मैं सुनील के घर गया, तो उसने कहा कि मोबाइल लेकर तुम्हारा  बेटा चला गया है. 
 
गुरुवार सुबह सात बजे मैं फिर से सुनील के घर गया, तो  दरवाजे पर ताला बंद दिखा. घर के पीछे गया, तो वहां बालू में दबा बच्चे का  पैर दिखा. इसके बाद मैंने शोर मचाया. मेरी आवाज सुन कर गांव के लोग आये.  वहीं, मृत बच्ची शीला के पिता बिहारी उरांव ने भी कहा कि उनकी बच्ची दो  दिन से गायब थी. आशंका जतायी जा रही है कि  शीला को गांव के ही किसी सुनसान जगह से उठा कर सुनील अपने घर ले गया था. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement