Advertisement

lakhisarai

  • Dec 3 2019 7:08PM
Advertisement

पत्नी की हत्या कर पति फरार, छोटे बेटे ने किया मामले का खुलासा

पत्नी की हत्या कर पति फरार, छोटे बेटे ने किया मामले का खुलासा

लखीसराय : बिहार के लखीसराय में टाउन थाना क्षेत्र के रामटोला बालू पर गांव में सोमवार की देर रात एक दरिंदे पति ने अपने एक साथी की मदद से अपनी ही पत्नी की चाकू मारकर हत्या कर दी था. घटना को अंजाम देने के बाद फरार हो गया. घटना के दौरान हत्या का गवाह बना मृतका का छह वर्षीय पुत्र भयभीत हो पिता का विरोध नहीं कर सका. मंगलवार की सुबह बच्चे के चिल्लाने के बाद आसपास के ग्रामीण जब मृतका के घर पहुंचे तो खून से लथपथ महिला का शव देख इसकी जानकारी टाउन थाना पुलिस को दी. जिसके बाद एसडीपीओ रंजन कुमार एवं थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह के नेतृत्व में घटनास्थल पर पहुंची तथा पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया.

वहीं, घटना का गवाह बना बच्चे को लेकर टाउन थाना पहुंच पूछताछ प्रारंभ की. घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार टाउन थाना क्षेत्र के साबिकपुर पंचायत के रामटोला बालूपर निवासी हरेराम पासवान अपनी 30 वर्षीय पत्नी उषा देवी की सोमवार की देर रात चाकू मारकर हत्या कर दिया, तथा सुबह होने से पूर्व घर से फरार हो गया. ग्रामीणों के अनुसार हरेराम पासवान अपनी पत्नी उषा व छोटे बेट छह वर्षीय सुजीत कुमार के साथ मजदूरी करने दिल्ली चला गया था. इस दौरान हरेराम ने अपने दो अन्य बेटों को उसकी बुआ के पास जमुई में छोड़ दिया था. विगत कुछ दिन पूर्व ही उषा अपने बेटे के साथ दिल्ली छोड़कर वापस गांव आ गयी थी.

बताया जा रहा है कि गरम मिजाज हरेराम अक्सर अपनी पत्नी की पिटाई किया करता था, दिल्ली में पिटाई किये जाने के बाद उषा अपने बच्चे को लेकर गांव चली आयी थी. जिसके बाद हरेराम भी गांव पहुंच गया, गांव आने के बाद गुस्से में अपनी पत्नी की हत्या कर दी. घटना के बाद मृतका के पुत्र के द्वारा हत्या को अंजाम देने में अपने पिता के शामिल होने की बात कहे जाने के बाद मृतका के भाई सह मोरमा निवासी मुकेश कुमार के बयान पर टाउन थाना में हरेराम पासवान सहित एक अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है. जिसमें बताया गया है कि हरेराम का अपनी पत्नी के साथ तीन चार वर्ष पूर्व से ही तनाव चल रहा था.

उधर, ग्रामीण सूत्रों की मानें तो हरेराम अपनी पत्नी के चरित्र पर शक किया करता था जबकि ग्रामीणों का कहना था कि मृतका उषा एक सरल स्वभाव की महिला थी, जबकि हरेराम बदमाश एवं अपराधी प्रवृति का व्यक्ति है. मृतका अपने पीछे तीन पुत्र 11 वर्षीय संदीप कुमार, नौ वर्षीय संजीत कुमार एवं छह वर्षीय सुजीत कुमार को छोड़ गयी है. इस संबंध में टाउन थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह ने बताया कि मृतका के पति सहित एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मृतका के भाई के आवेदन के आलोक में प्राथमिकी दर्ज की गयी है. पुलिस मृतका के पति की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी कर रही है. घटना के सही कारणों का अभी तक पता नहीं चल सका है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement