kodarma

  • Jan 14 2020 8:00PM
Advertisement

कोडरमा पथराव मामला : पार्षद समेत 10 नामजद, एक गिरफ्तार, बंद रहे क्रशर

कोडरमा पथराव मामला : पार्षद समेत 10 नामजद, एक गिरफ्तार, बंद रहे क्रशर

- भागने में सफल रहे नौ ट्रकों के मालिक, चालक व उप चालक भी बनाये गये आरोपी

प्रतिनिधि, डोमचांच/कोडरमा बाजार 

खनिज पदार्थ लदे वाहनों की जांच के दौरान खनन टास्क फोर्स की टीम पर पथराव के आरोप में नगर पंचायत क्षेत्र के वार्ड नंबर नौ के पार्षद समेत दस लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है. घटना को लेकर डोमचांच थाना में दर्ज मामले में कार्रवाई के दौरान फरार होने में सफल रहे नौ ट्रकों के मालिक, चालक व उप चालक के साथ ही दो-तीन सौ अज्ञात लोगों पर पथराव, सरकारी काम काज में बाधा व अन्य संज्ञेय धाराएं लगायी गयी हैं.

पूरा मामला एसडीओ विजय कुमार वर्मा, डीएमओ मिहिर सलकर व बीडीओ मनीष कुमार के संयुक्त हस्ताक्षर से दिये गये आवेदन के आधार पर दर्ज हुआ है. हालांकि, सीनियर अधिकारी के तौर पर एसडीओ मामले के सूचक हैं और इसी आधार पर थाना कांड संख्या 9/20 दर्ज करते हुए पुलिस ने पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है. 

दर्ज केस में धारा 147, 148, 149, 307, 353, 427, 504, 506 व 13 जेएम रूल 2017,54 जेएमसी रूल 2004, थ्री प्रीवेन्सी ऑफ डेमेज टू पब्लिक प्रोपर्टी एक्ट लगाया गया है. इससे पहले सोमवार की शाम पथराव की घटना के बाद पूरा जिला पुलिस प्रशासन रेस हो गया. डीसी-एसपी के संयुक्त निर्देश पर पथराव करने वाले लोगों को चिन्हित करने के लिए टीम घंटों वीडियो फुटेज खंगालने के साथ ही अन्य बिंदुओं का सहारा लेती रही. इसके आधार पर केस दर्ज किया गया. 

दर्ज केस में पार्षद अनिल यादव, पिता राजकुमार यादव, निवासी लेंगरापीपर सहित दस नामजद व दो-तीन सौ को अज्ञात के तौर पर आरोपी बनाया गया. यही नहीं पुलिस ने पार्षद अनिल यादव को हिरासत में ले लिया. घंटों पूछताछ के बाद पुलिस पार्षद को पीआर बांड पर छोड़ने की तैयारी में थी. वहीं पुलिस ने एक अन्य युवक अनिरूद्व तिवारी को भी गिरफ्तार किया. 

इधर, पथराव की घटना के बाद संभावित प्रशासनिक कार्रवाई को देखते हुए डोमचांच क्षेत्र में अधिकतर क्रशर ईकाइयों में कामकाज बंद रहा. पत्थर खदानों में भी न के बराबर कार्य हुआ. यही नहीं स्टोन चिप्स लेकर ट्रकों की आवाजाही भी नहीं हुई. ज्ञात हो कि सोमवार को छाबड़ा पेट्रोल पंप के पास वाहनों की जांच कर रही प्रशासनिक टीम पर पथराव हो गया था. इस घटना में पदाधिकारी चोटिल भी हुए थे, जबकि गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गयी थी. 

टीम ने मौके पर से दो ट्रक जब्त किये थे, जबकि लोग नौ ट्रकों को भगा ले जाने में सफल रहे थे. दर्ज मामले में वाहन संख्या जेएच-12जी-4009, जेएच-02एजी-1952, बीआर-01जीबी-2385, जेएच-12जी-5110, जेएच-02एन-7656, जेएच-12जी-9328, जेएच-12जी- 7428, जेएच-12ई-0539, जेएच-12एल-8148, जेएच-12एफ-6109 का जिक्र है. 

डीसी-एसपी से मिले राजद नेता, पार्षद को बताया निर्दोष 

इधर, पथराव मामले को लेकर मंगलवार को दिन भर समाहरणालय परिसर में गहमा गहमी रही. राजद नेता बबलू चौधरी उर्फ अमिताभ कुमार डीसी व एसपी से मिले. इस दौरान उन्होंने पथराव मामले में हिरासत में लिये गये पार्षद अनिल यादव की रिहाई की मांग की. प्रतिनिधिमंडल ने पार्षद को निर्दोष बताते हुए छोड़ने की मांग की और कहा कि पथराव मामले में उसका कोई हाथ नहीं है. घटना के समय वह अपने घर में था. 

पुलिस मामले की पूरी छानबीन करे और जबतक जांच नहीं हो जाता तब तक आरोपी युवक पर किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं हो. वहीं, समाहरणालय परिसर में भारी भीड़ को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद किया गया था. इसके पूर्व डोमचांच के ग्रामीण कोडरमा थाना पहुंचे और पुलिस हिरासत में लिये गये पार्षद को निर्दोष बताते हुए छोड़ने की मांग की. थाना में उमड़ी भीड़ की सूचना पाकर एसडीपीओ राजेन्द्र प्रसाद पहुंचे और लोगों को समझाया कि यह पुलिस का मामला नहीं है तब वहां से लोग समाहरणालय पहुंचे. हालांकि कुछ देर के बाद समाहरणालय से भीड़ वापस लौट गयी. 

पत्थर उद्योग संघ व ट्रक एसोसिएशन ने पथराव मामले की निंदा की 

इधर, पत्थर उद्योग संघ व डोमचांच ट्रक एसोसिएशन की एक आपात बैठक स्थानीय नीरू पहाड़ी के समीप हुई. बैठक में प्रशासनिक टीम पर हुए पथराव मामले की घटना को निंदनीय बताया गया. साथ ही इस घटना की कड़ी भर्त्सना की गयी. संघ के अधिकारियों ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर घटना की निंदा करते हुए कहा कि डीसी के निर्देश पर 13 जनवरी को जिला टास्क फोर्स और पत्थर व्यवसायियों की एक बैठक हुई थी. 

इसमें क्रशर लाइसेंस निर्गत नहीं होने के कारण गैरमजरूआ भूमि की समस्या और प्रदूषण विभाग के जटिल नियमों एवं चल रहे पत्थर खदानों की सुरक्षा व्यवस्था की विधिवत जानकारी डीसी के द्वारा ली गयी थी और समस्या के समाधान के लिए राज्य सरकार तक हमारी बातों को पहुंचाने का आश्वासन भी दिया गया था. बावजूद कुछ शरारती तत्वों के द्वारा इस प्रकार की घटना को अंजाम देकर जिले के ट्रक एवं पत्थर व्यवसायियों को बदनाम करने की साजिश की गयी. 

प्रेस विज्ञप्ति में पत्थर उद्योग संघ के सचिव भीम साहू के अलावा सुनील कुमार रवानी, रूपक सिंह, डोमचांच ट्रक एसोसिएशन के अध्यक्ष ओमप्रकाश सिंह व उपाध्यक्ष विजय सिंह के हस्ताक्षर हैं.

प्रशासनिक अधिकारियों यथा एसडीओ के आवेदन पर डोमचांच थाना में मामला दर्ज हुआ है. दर्ज मामले में पार्षद समेत दस नामजद आरोपी हैं, पर वीडियो फुटेज के आधार पर पूरे मामले की जांच की जा रही है. फिलहाल पार्षद को पीआर बांड पर छोड़ा जा रहा है. घटना में जो भी संलिप्त होंगे उनके विरुद्व नियमानुसार कार्रवाई होगी.

डा. एम तमिल वाणन, पुलिस अधीक्षक कोडरमा

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement