Advertisement

kishangunj

  • Sep 20 2019 8:06AM
Advertisement

दस साल से अधिक पुराने वाहनों की जांच के बाद ही होगा परिचालन

 किशनगंज :   पुराने वाहन को एमवीआई द्वारा इंस्पेक्शन किया जायेगा और वे अगर मानकों पर खरे उतरेंगे तब अगले 5 साल उन वाहनों को चलाने की विभाग परमिशन देगा. जिला परिवहन पदाधिकारी रविंद्र नाथ गुप्ता ने बताया कि प्रदूषण स्तर और वाहन की दशा और रख रखाव की यह जांच एमवीआई के द्वारा होगा. 

 
सुप्रीम कोर्ट के निर्देश का हवाला देते हुए डीटीओ ने कहा कि हालांकि जिला परिवहन विभाग में वाहनों के निबंधन का शुक्ल 15 साल का लिया जाता है, किंतु 10 साल बाद वाहनों की स्थिति जर्जर और खराब हो जाती है. 10 साल पुराने वाहनों की जांच और मानकों पर खरा उतरने पर ही वाहन को सड़कों पर चलाने की परमिशन एमवीआई द्वारा दिया जायेगा.
 
अब आयी सुरक्षा की याद, हेलमेट की बढ़ी मांग
किशनगंज. सरकार द्वारा ट्रैफिक नियमों की अवहेलना करने पर जुर्माने की राशि को कई गुना बढ़ाये जाने के बाद लोगों को अपनी सुरक्षा याद आयी है. जुर्माना बढ़ने से जिले में हेलमेट की बिक्री बढ़ गयी है.
 
 ऐसे में दुकानदारों के पुराने स्टॉक खाली हो गये और नये स्टॉक आसानी से मिल नहीं रहे हैं. बढ़ती मांग को देख हेलमेट की कीमतें भी बढ़ गयी हैं. स्थानीय दुकानदार बताते हैं कि नये परिवहन एक्ट लागू होने के पूर्व हेलमेट पहनने वाले इक्का-दुक्का ही लोग हुआ करते थे. लेकिन, अचानक से बढ़ी डिमांड के कारण ऐसी स्थिति पैदा हुई है.  
 
सड़कों पर दिख रहा जागरूकता का असर  नये ट्रैफिक नियमों के मद्देनजर अब सड़कों पर चल रहे लोगों में जागरूकता देखने को मिल रही है. पहले जहां 10 में से एक व्यक्ति हेलमेट पहने सड़क पर दिखाई देते थे वहीं अब 10 में से 8 व्यक्ति हेलमेट पहने हुए दिखाई दे रहे हैं. यही नहीं, सड़कों पर चमचमाती बाइकों को लेकर फर्राटा भरने वाले नाबालिग चालक भी अब गायब से हो गये हैं. 
 
रुईधासा  मोहल्ले के रहने वाले मनोज कुमार दास, आनंद दास उर्फ गुड्डू बताते हैं कि, नये ट्रैफिक नियमों के लागू होने के बाद हेलमेट पहनने की मजबूरी को देखते हुए वह आइएसआइ मार्क वाले मजबूत तथा स्टाइलिश हेलमेट खरीदने की चाहत से दुकान पर पहुंचे. लेकिन, वहां उन्हें निराशा हाथ लगी. अब वे सिल्लीगुड़ी से किसी परिचित से हेलमेट मंगवा रहे हैं.
 
 हेलमेट पहनने से बढ़ जाती है सुरक्षा की गारंटी जिला परिवहन पदाधिकारी रविंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि, भले ही लोग जुर्माने की राशि बढ़ने के कारण हेलमेट पहन रहे हों, लेकिन यह एक अच्छी पहल है. उन्होंने बताया कि, हेलमेट पहनने से दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों में 90 फीसदी से ज्यादा की कमी आती है. ऐसे में केवल जुर्माने के लिए नहीं, बल्कि स्वयं की रक्षा के लिए भी लोगों को हेलमेट पहनना ही चाहिए.
 
नये यातायात कानून के खिला दिया धरना
किशनगंज. गुरुवार को टाउन हॉल के समीप जन अधिकार पार्टी के युवा सदस्यों ने केंद्र सरकार और राज्य सरकार के विरोध में धरना प्रदर्शन किया. यह धरना शिक्षित व योग्य युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के संदर्भ में किया गया था. इस अवसर पर किशनगंज युवा जिला अध्यक्ष तौसीफ समर ने कहा कि बिहार प्रदेश में रोजगार की कमी के कारण युवा अन्य औद्योगिक राज्यों में जाकर अपने आय का साधन तलाश रहे है.
 
 वहीं केंद्र सरकार द्वारा कई भयभीत नियमों छोटे-मोटे कारखाना बंद होने के कारण युवा दर-दर भटक रहे हैं. इस दौरान ई अबुजर ने कहा कि दुनिया की यह पहली सरकार है, जो जनता से वसूली का काम कर रही है. जिस देश में 10 हजार के इनकम वाले लोगों की संख्‍या 85 प्रतिशत है. वहां नया मोटर वाहन एक्‍ट जैसे काले कानून की आड़ में लूट को जन अधिकार पार्टी बर्दाश्‍त नहीं करेगी. 
 
एक ओर सरकार कानून बना रही है दूसरी ओर भाजपा शासित कुछ राज्‍यों में जुर्माने की रकम कम की जा रही है और इसे तत्काल रोक दिया गया है. कांग्रेस और ममता दीदी ने जन विरोधी इस काले कानून को लागू नहीं किया तो क्‍या उन राज्‍यों में यातायात के नियम नहीं हैं.  भाजपा और उनकी डबल इंजन वाली सरकारें जिन- जिन राज्‍यों में है वे वहां अब आम आदमी की  रोजी छीन रही है.
 
 हद तो तब हो गयी जब इस कानून की आड़ में आम लोगों पर पुलिस की सरेआम गुंडागर्दी सामने आयी. इसके विरोध में एक दिवसीय धरना के जरिये अपील करते हैं कि आम लोग इसका विरोध सड़क पर निकल कर करें साथ ही बेरोजगारी भत्ता 1000 माह की दर से सरकार बेरोजगार युवाओं को देने का काम करे. धरना में मुख्य रूप से जन अधिकारी पार्टी के कार्यकर्ता युवा जिला अध्यक्ष अवसार इनाम, प्रदेश उपाध्यक्ष प्रोफेसर मुस्सबीर आलम, शमशुल हुदा गुड्डू यादव राहुल कुमार हिमायू आलम आदि कार्यकर्ता मौजूद थे.
 
Advertisement

Comments

Advertisement

Other Story

Advertisement