Advertisement

khagaria

  • Sep 20 2019 8:08AM
Advertisement

अबसेंटी के लिए प्रधानाध्यापक को धमकी पर डीएम ने लिया संज्ञान

 खगड़िया  : मध्य विद्यालय अमौसी के प्रधानाध्यापक को पूरे परिवार सहित जान से मारने की धमकी का मामला तूल पकड़ लिया है. इधर, बीते 13 सिंतबर को विद्यालय ग्रामीणों द्वारा हंगामा बाद मध्य विद्यालय अमौसी के सहायक शिक्षक स्कूल नहीं जा रहे हैं. इधर, धमकी से डरे सहमे पीड़ित प्रधानाध्यापक राजेश्वर कुमार ने डीएम अनिरुद्ध कुमार को आवेदन देकर सहायक शिक्षक की दबंगई से बचाने की गुहार लगायी है. प्रभात खबर में प्रकाशित खबर पर संज्ञान लेते हुए डीएम अनिरुद्ध कुमार ने डीइओ से पूरे मामले में जांच कर रिपोर्ट तलब किया है. 

 
डीएम ने कहा कि बिना स्कूल गये अबसेंटी देने के लिये प्रधानाध्यापक पर दबाव देना गंभीर मामला है. इस तरह की हरकत बर्दाश्त नहीं की जायेगी. पूरे मामले में डीइओ को जांच कर रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है. डीएम ने मध्य विद्यालय बेनहर के निलंबित हेडमास्टर के परबत्ता प्रखंड मुख्यालय की बजाय अलौली में दूसरे स्कूल में भ्रमण को गंभीरता से लेते हुए डीइओ से जवाब मांगा है.  
 
पीड़ित हेडमास्टर ने बताया  कि अक्टूबर 2018 से सहायक शिक्षक नवीन कुमार विद्यालय नहीं आ रहे थे. लेकिन ऐबसेंटी देने के लिये दबाव दे रहे हैं. बिना विद्यालय आये ऐबसेंटी देने से इंकार करने पर अब सहायक शिक्षक द्वारा पूरे परिवार को बर्बाद करने की धमकी दी जा रही है. सहायक शिक्षक नवीन कुमार ने प्रधानाध्यापक को बजाप्ता मोबाइल पर मैसेज भेज कर ऐबसेंटी नहीं देने पर जूता से मारने से लेकर अन्य आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग करते हुए अंजाम भुगतने की धमकी दी है. 
 
डरे सहमे मध्य विद्यालय अमौसी के प्रधानाध्यापक राजेश्वर कुमार ने डीएम, डीइओ सहित मोरकाही थाना में आवेदन देकर पूरी घटना की जानकारी देते कार्रवाई की गुहार लगायी है. हालांकि एचएम को धमकी देने के आरोप के घेरे में आये सहायक शिक्षक नवीन कुमार ने माना कि गुस्से में मैसेज भेज दिये थे. उन्होंने धमकी सहित सभी आरोपों बेबुनियाद बताया है. 
 
शिक्षक को देख ग्रामीणों ने काटा था बवाल 
अक्टूबर 2018 में निलंबन टूटने के बाद से सहायक शिक्षक नवीन कुमार को तत्कालीन बीइओ ने मध्य विद्यालय अमौसी में योगदान का आदेश दिया था. लेकिन वे महीनों तक विद्यालय नहीं आये.
 
 स्थिति यह है कि स्कूल से गायब इस सहायक शिक्षक को स्कूल के बच्चे से लेकर ग्रामीण पहचानते तक नहीं हैं. बताया जाता है कि 14 अगस्त 2019 को शिक्षक नवीन कुमार ने मध्य विद्यालय अमौसी में योगदान दिया. इसके बाद 13 सितंबर को विद्यालय खुलने के बाद ये स्कूल पहुंचे थे. इनके साथ मध्य विद्यालय बेनहर के निलंबित हेडमास्टर राजीव रंजन भी मध्य विद्यालय अमौसी में पंचायती करने आये थे. महीनों से विद्यालय नहीं आ रहे शिक्षक नवीन कुमार को देख ग्रामीणों का गुस्सा भड़क गया. जिसके बाद ग्रामीणों व सहायक शिक्षक नवीन के बीच तीखी नोंकझोंक हुई थी.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement