Advertisement

katihar

  • Sep 21 2019 8:46PM
Advertisement

बिहार में फिर मॉब लिंचिंग : छेड़खानी के आरोप में भीड़ ने विक्षिप्त युवक को जमकर पीटा, वीडियो वायरल

बिहार में फिर मॉब लिंचिंग : छेड़खानी के आरोप में भीड़ ने विक्षिप्त युवक को जमकर पीटा, वीडियो वायरल
विक्षिप्त को पीटती भीड़, बचाती पुलिस

कटिहार : बिहार के कटिहार में सहायक थाना क्षेत्र के मंडल कारा के समीप शुक्रवार की शाम ट्यूशन जा रही छात्रा को एक युवक ने उसके साथ छेड़खानी की घटना को अंजाम दे दिया. बस क्या था उस रास्ते से आवागमन कर रहे लोग आरोपित युवक को पकड़कर उसकी जमकर पिटायी शुरू कर दी. घटना की जानकारी मिलते ही पीड़िता के पिता घटनास्थल पर पहुंचे तथा आरोपित की पिटायी होते देख किसी प्रकार उसे बचाते हुए उसे सहायक थाना पुलिस के सुपूर्द कर दिया.

इधर, घटना को देखते हुए सहायक थाना पुलिस ने उक्त मामले में आरोपित की पिटायी करने के आरोप में भीड़ में शामिल 20-25 लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर आरोपितों की पहचान में जुटी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार सहायक थाना क्षेत्र के मंडल कारा समीप संतनगर निवासी एक युवती अपने साइकिल से ट्यूशन पढ़ने जा रही थी. उसी क्रम में मानसिक रूप से विछिप्त युवक ने छात्रा को रोक दिया तथा उसे फटकार लगाते हुए उसके साथ छेड़खानी कर दी. इसे देखकर स्थानीय लोग एकत्रित हो गये तथा युवक को दबोच कर उसकी पिटायी शुरू कर दी.

सूचना मिलते ही पीड़िता के पिता पहुंचे घटनास्थल
जब पीड़िता के सामने अचानक युवक आकर उसकी साइकिल रोक दी तो छात्रा भयभीत हो गयी और डर से रोने लगी. जब तक कोई कुछ समझ पाता लोगों ने उसकी पिटायी शुरू कर दी. वहां खड़े कुछ लोग वीडियो बना रहे थे. इस बात की जानकारी पीड़िता ने पिता को दी. सूचना मिलते ही पिता घटना स्थल पर पहुंचे, वह भी आक्रोशित थे, लेकिन युवक की स्थिति को देख उसे कुछ कहते नहीं बन रहा था. अंतत: पीड़िता के पिता ने आरोपित की पिटायी कर रहे लोगों से बचाने में जुट गये. इधर, घटना की जानकारी मिलते ही सहायक थाना पुलिस घटना स्थल पर पहुंच गयी. पीड़ित के पिता ने आरोपित युवक को सहायक थाना पुलिस के सुपूर्द कर दिया.

कहते हैं थानाध्यक्ष

थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने बताया कि आरोपित युवक मानसिक रूप से विछिप्त है. वह पश्चिम बंगाल का रहने वाला है. उसने साइकिल रोक दी या फिर वह साइकिल के बीच में आ गया. छेड़खानी भी कर दी हो, लेकिन इसका यह अभिप्राय नहीं कि लोग कानून को हाथ में लेकर आरोपित की पिटायी कर दे. पिटायी के मामले में 20-25 अज्ञात लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस वायरल वीडियो के आधार पर लोगों की पहचान में जुट गयी है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement