Advertisement

lohardaga

  • Nov 9 2019 2:45AM
Advertisement

सुखदेव के BJP में शामिल होने से उलझा आजसू पार्टी का गणित, जानें लोहरदगा विधानसभा क्षेत्र का हाल

सुखदेव के BJP में शामिल होने से उलझा आजसू पार्टी का गणित, जानें लोहरदगा विधानसभा क्षेत्र का हाल
गोपी/विनोद
 
लोहरदगा : अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित लोहरदगा विधानसभा में कांग्रेस पार्टी का कभी दबदबा हुआ करता था. लेकिन बीच में आजसू पार्टी की इंट्री ने कांग्रेस को दो बार पटखनी दे दी. अभी पूरे राज्य में लोहरदगा विधानसभा क्षेत्र हॉट केक बना हुआ है. यहां के कांग्रेस विधायक सुखदेव भगत जो कभी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष हुआ करते थे,  उन्होंने चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस छोड़ भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली. 
 
लोहरदगा विधानसभा सीट से आजसू नेता कमल किशोर भगत दो बार विधायक बने. आजसू के कार्यकारी अध्यक्ष रहे कमल किशोर भगत को रांची के प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ केके सिन्हा के साथ मार पीट के मामले में जून 2015 में सात साल की सजा सुनायी जाने के बाद लोहरदगा विधानसभा सीट में उप चुनाव हुआ . इसमें कांग्रेस के सुखदेव भगत ने कमल किशोर भगत की पत्नी नीरू शांति भगत को पराजित किया. 
 
सभी के लिए विकास किया : सुखदेव भगत
 
2015 के उपचुनाव में कांग्रेस के टिकट पर जीतनेवाले और अब भाजपा में शामिल सुखदेव भगत ने कहा : मैं विधायक बनकर आया तो लोहरदगा में समस्याओं का अंबार लगा हुआ था. 
 
समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर निदान किया. सड़क से लेकर सदन तक मैंने यहां की समस्याओं को रखा. मैंने जाति और धर्म से अलग हट कर विकास को प्राथमिकता दी. सभी समुदाय के लोगों का विकास किया. बाइपास सड़क निर्माण के लिए मैंने सदन में कई बार सवाल उठाये. 

कुल वोटर 240531

तीन महत्वपूर्ण कार्य जो हुए
 
1. नदिया जूरिया पथ का निर्माण
2. शहरी जलापूर्ति के लिए कोयल व शंख नदी में इंटक वेल का निर्माण
3. पेशरार तक सड़क का निर्माण
 
पुरुष वोटर 122898
 
महिला वोटर 117633
 
1. लोहरदगा में बाइपास सड़क का निर्माण नहीं हुआ
2.   शहरी क्षेत्र से नहीं हटा हिंडालको का बॉक्साइट डंपिंग यार्ड
3. किसानों के लिए नहीं बना कोल्ड स्टोरेज
पिछले तीन चुनाव का रिकाॅर्ड
 
वर्ष 2005 
 
जीते :  सुखदेव भगत (कांग्रेस),
 प्राप्त मत : 35021
हारे : सधनु भगत (भाजपा), 
प्राप्त मत : 28237
तीसरा स्थान : करमा उरांव (निर्दलीय) प्राप्त मत : 12158

वर्ष 2009
 
जीते :  कमल किशोर भगत (आजसू), प्राप्त मत : 35816
हारे : सुखदेव भगत (कांग्रेस), प्राप्त मत : 35210
तीसरा स्थान :  सधनु भगत (भाजपा), प्राप्त मत ) 28949
वर्ष 2014
जीते :  कमल किशोर भगत (आजसू पार्टी), प्राप्त मत : 56920
हारे : सुखदेव भगत  (कांग्रेस), 
प्राप्त मत : 56328
तीसरा स्थान :   सुखदेव उरांव (झामुमो),   प्राप्त मत : 13510
 
विधायक ने अपने परिवार को ही समृद्ध किया : नीरू भगत
 
2015 के उपचुनाव में दूसरे नंबर पर रहीं आजसू पार्टी की प्रत्याशी नीरू भगत का कहना है कि अब तक सुखदेव भगत ने अपने परिवार को समृद्ध किया. क्षेत्र में समस्याओं का अंबार है. 
 
लोहरदगा में न तो बाइपास सड़क है न ही किसानों के लिए कोल्ड स्टोरेज बना. सदर अस्पताल में कोई सुविधा नहीं है. यहां सिर्फ मरीजों को रेफर किया जाता है. बीएस कॉलेज में शिक्षकों की कमी एवं संसाधनों का अभाव है. रोजगार की तलाश में लोग दूसरे राज्यों में पलायन कर रहे हैं. सुखदेव भगत स्वार्थ की राजनीतिक करते रहे हैं. जनता की समस्याओ को दूर करने में विधायक ने कभी रुचि नहीं दिखायी.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement