Advertisement

Jehanabad

  • Sep 11 2019 3:14PM
Advertisement

पत्नी के पांचवीं बार बच्ची जनने से चिंतित पति बैठे-बैठे गिर पड़ा, हुआ बेहोश, फिर...

पत्नी के पांचवीं बार बच्ची जनने से चिंतित पति बैठे-बैठे गिर पड़ा, हुआ बेहोश, फिर...

जहानाबाद : वर्तमान समय में जब बेटा-बेटी को एक समान माना जा रहा है. ऐसे में भी कुछ लोग हैं, जिन्हें बेटी पसंद नहीं. उन्हें तो वंश चलाने के लिए सिर्फ बेटा ही चाहिए. कुछ ऐसा ही मामला जहानाबाद में देखने को मिला. पत्नी द्वारा पांचवीं बार बेटी जनने की जानकारी मिलने पर उसका पति बेहोश हो गया. बेहोश पति को स्थानीय लोगों ने इलाज के लिए सदर अस्पताल में एडमिट कराना पड़ा, जहां उसका इलाज कराया जा रहा है. बेहोश व्यक्ति शकुराबाद थाना क्षेत्र के बदौली गांव का रहने वाला चनेश्वर दास का पुत्र राकेश कुमार (33 वर्ष) है. 

बताया जाता है कि राकेश की पत्नी द्वारा सोमवार को पांचवीं बार बेटी को जन्म दिया गया था. सदर अस्पताल में ही डिलीवरी हुई थी. बेटी जनने की जानकारी मिलते ही राकेश ने खाना-पीना त्याग दिया था. वह अस्पताल परिसर में ही बैठे-बैठे ही मंगलवार को बेहोश होकर गिर पड़ा. इसकी जानकारी मिलते ही अस्पताल प्रशासन द्वारा बेहोश युवक को इमरजेंसी वार्ड में एडमिट कराया गया और उसका इलाज कराया जा रहा है. बताया जाता है कि उसकी पत्नी पहले से चार बच्ची को जन्म दे चुकी थी. पांचवीं बार उसका प्रसव होना था. इस लिए परिजन उसे लेकर सदर अस्पताल आये हुए थे. इस बार सभी को उम्मीद थी कि बेटा ही जन्म लेगा. लेकिन, कुदरत को जो मंजूर था, वही हुआ. सोमवार को उसकी पत्नी ने एक बार फिर बेटी को जन्म दिया. इसकी जानकारी मिलते ही वह गुमशुम हो गया और खाना-पीना छोड़ दिया. अस्पताल में वह बैठे-बैठे ही अचानक बेहोश होकर गिर पड़ा और बेहोश हो गया.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement