Advertisement

Jehanabad

  • Jun 20 2018 5:46AM

हत्या के विरोध में बंद रहा जहानाबाद

 बंद समर्थकों के साथ सड़क पर उतरे मधेपुरा सांसद पप्पू यादव  

जहानाबाद नगर : पिछले दिनों शहर के मदारपुर में जन अधिकार पार्टी के छात्र नेता विनोद यादव की हत्या के विरोध में जाप ने जहानाबाद बंद का आयोजन किया. बंद के दौरान सड़कों पर वाहनों का परिचालन ठप रहा, जिससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा. वहीं, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के शटर गिरे रहे. बंद समर्थकों ने विनोद यादव के हत्यारे को शीघ्र गिरफ्तार करने तथा उनके परिवार को सरकारी मुआवजा देने की मांग कर रहे थे.
 
बंद समर्थकों के साथ मधेपुरा के सांसद सह जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव भी सड़क पर उतरे. उन्होंने विनोद के हत्यारे की अब तक गिरफ्तारी नहीं होने पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि प्रदेश में विधि-व्यवस्था गिरती जा रही है. यही कारण है कि अपराधियों का मनोबल लगातार बढ़ता जा रहा है. सरकार विधि-व्यवस्था को दुरुस्त रखने में सफल साबित नहीं हो रही है. उन्होंने कहा कि बढ़ते अपराध पर सरकार खामोश है. 
 
काको मोड़ के समीप बंद समर्थकों का रहा जुटान
मुख्य रूप से बंद समर्थकों ने काको मोड़ को अपना निशाना बनाया तथा सड़कों पर वाहनों को आड़े-तिरछे खड़ा कर यातायात को पूरी तरह बाधित कर दिया तथा नारेबाजी करने लगे. साथ ही सड़क पर बैठ कर पैदल यात्रियों का भी रास्ता रोक दिया. वहीं, व्यावसायिक प्रतिष्ठान भी सुबह में बंद रहे. हालांकि दिन चढ़ने के साथ ही व्यावसायिक प्रतिष्ठान एक-एक कर खुलने लगे. वहीं पुलिस की सक्रियता से सड़क जाम से भी लोगों को छुटकारा दिलाया गया.
 
वाहनों के परिचालन पर लगा ब्रेक, बंद रहे व्यावसायिक प्रतिष्ठान, यात्रियों को हुई परेशानी
कुनबा की लड़ाई में फंसी है विपक्ष
पप्पू यादव ने कहा कि  विपक्ष कुनबा की लड़ाई में फंसा हुआ है. राज्य में अापराधिक घटनाओं के बावजूद सरकार कुछ नहीं कर रही है. ऐसे में लोगों को बढ़ते अपराध के सवाल पर बंद को सफल बनाना चाहिए. उन्होंने राज्य में बढ़ती आपराधिक घटनाओं पर सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि सरकार सिर्फ हवा-हवाई बातें कर रही है. प्रदेश में अब विकास कोई मुद्दा नहीं रहा, अब यहां हिंदू, मुस्लिम और अगड़ी-पिछड़ी की राजनीति का ही मुद्दा बचा है. प्रदेश में राजनीतिक दलों को न तो रोजगार का मुद्दा दिखाई देता है और न ही विकास का. वे जनता को बेवकूफ बनाकर पैसे से वोट खरीदते हैं. वहीं विपक्षी पार्टी अपने कुनबे की लड़ाई में फंसी हुई है. परिवार के लोग ही लालू यादव की हत्या की साजिश में जुटे हैं. उन्होंने दरभंगा बाल गृह में लड़कियों के साथ यौन शोषण के मामले में भी सीबीआई जांच की मांग की. साथ ही कहा कि राज्य में बढ़ते अपराध की घटनाओं को लेकर सात जुलाई को बिहार बंद कराने की बात कही. इधर, अहले सुबह ही बंद समर्थक सड़क पर उतर आये थे.
 
Advertisement

Comments