Advertisement

jamtara

  • Dec 21 2018 6:51AM

जामताड़ा : कानून बनाने से कुछ नहीं होगा, बिहार में हो रही है शराब की होम डिलिवरी : रघुवर दास

जामताड़ा : कानून बनाने  से कुछ नहीं होगा, बिहार में हो रही है शराब की होम डिलिवरी : रघुवर दास

जामताड़ा/नारायणपुर : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि बिहार में शराब की होम डिलिवरी हो रही है. एक सौ रुपये की जगह दो सौ रुपये  में लोगों के घर-घर शराब पहुंच जा रही है और लोग पी रहे हैं. 

कानून बनाने  से कुछ नहीं होगा. शराबबंदी सामाजिक जागरुकता से दूर होगी. दहेज व डायन  प्रथा पर कानून बना है, परन्तु आज भी यह घटना समाज में घटती रहती है. गुरुवार को आयोजित मुख्यमंत्री जन चौपाल में नारायणपुर प्रखंड के पबिया/रायडीह की ममता देवी ने बिहार की तर्ज पर झारखंड में भी शराबबंदी की मांग की, तब सीएम ने इस पर जवाब दिया. सीएम ने कहा कि जामताड़ा में गरीबी के कारण युवा भटक रहे हैं और साइबर अपराध से जुड़ कर लोगों के खून-पसीने की कमाई उड़ा रहे हैं. 

इस कारण पूरे देश में जामताड़ा जिले का नाम बदनाम हो रहा है. दूसरे राज्यों से पुलिस आकर आये दिन छापेमारी कर रही है. यह सही नहीं है. सीएम ने कहा कि यहां के युवा शॉर्टकट छोड़ दें, नहीं तो होटवार जेल जाने के लिए तैयार रहें. इस मार्ग को छोड़कर युवा एक ग्रुप बनाकर डेयरी फार्म खोल जीवन-यापन करें. यहां के युवाओं को इसके लिए 50 प्रतिशत सब्सिडी दी जायेगी. वहीं 50 प्रतिशत ऋण बैंक से मुहैया करायी जायेगी.

31 दिसंबर तक हर घर में होगी बिजली

सीएम ने कहा कि हमारी सरकार प्रदेश में 80 ग्रिड और 257 बिजली सब स्टेशन बनाने का काम कर रही है. जिसके तहत 31 दिसंबर 2018 तक हर गांव के घरों में बिजली पहुंचाने का काम किया जा रहा है. अधिकारियों को निर्देश देते हुए सीएम ने कहा कि हर हाल में 31 दिसंबर तक छूटे हुए गांव में बिजली कनेक्शन पहुंचाने का काम करें, नहीं तो कार्रवाई की जायेगी.

शौचालय निर्माण पर सवाल उठा

चौपाल में सीएम ने कहा कि महिलाओं एवं बेटियों की पीड़ा समझते हुए सरकार ने घर-घर में शौचालय बनवाने का काम किया है. सीएम रघुवर दास ने महिलाओं को हाथ उठाकर हामी भरने का इशारा किया. इस पर सैकड़ों महिलाओं ने हाथ उठाकर आज तक शौचालय नहीं बनने की बात से मुख्यमंत्री को अवगत कराया. इस पर मुख्यमंत्री ने डीसी आदित्य कुमार आनंद से पूछा तो उन्होंने कहा कि शत-प्रतिशत शौचालय का निर्माण करा लिया जायेगा. सीएम ने डीसी को गलत जानकारी नहीं देने की बात कही.

2019 से बेटियों के लिए योजना

वहीं सीएम ने कहा कि सरकार ने ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’और ‘पहले पढ़ाई फिर विदाई’ के तहत एक जनवरी 2019 से राज्य में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना का शुभारंभ किया जा रहा है. इसके तहत बेटी के जन्म होने के बाद पहली कक्षा में नामांकन होने पर व पांचवीं, नौवीं एवं 11वीं कक्षा में जाने पर उनके या उनके माता के खाते में सरकार प्रोत्साहन राशि भेजने का काम करेगी. वहीं बेटी के 18 वर्ष पूर्ण होने पर शादी के लिए पुन: प्रोत्साहन राशि भी सरकार की तरफ से दी जायेगी. कार्यक्रम के दौरान सीएम ने 110 महिला समूहों को 16 लाख 50 हजार की राशि का वितरण किया.

 

Advertisement

Comments

Advertisement