Advertisement

jamshedpur

  • Apr 21 2017 8:17AM

पुलिस रिमांड की तैयारी में

जमशेदपुर. देहरादून से गिरफ्तार  विक्रम शर्मा को जिला पुलिस फर्जी दस्तावेज बनाने के मामले में घेरने में जुट गयी है. इस बीच विक्रम के अधिवक्ता ने जिला जज 12 रमेश चंद्रा  की अदालत में अरजी देकर पुलिस द्वारा उससे 20 सादे पेपर में साइन कराने की बात बतायी है. अधिवक्ता ने अंदेशा जताया है कि पुलिस विक्रम शर्मा को रिमांड पर लेने के लिए किसी भी थाना में झूठा मामला दर्ज कर सकती है.

अधिवक्ता ने कोर्ट को बताया है कि जेल भेजने से पूर्व जिला पुलिस ने विक्रम शर्मा से बिष्टुपुर थाना में 20 सादे पेपर में साइन कराया. देहरादून में विक्रम की  पत्नी से भी पुलिस ने कुछ पेपर में साइन कराया था. हालांकि कोर्ट ने अधिवक्ता की अरजी पर अभी कोई कोई आदेश नहीं दिया है. इससे पूर्व जिला पुलिस की ओर से नियुक्त स्पेशल पीपी जयप्रकाश ने विक्रम शर्मा को रिमांड पर लेने के लिए कोर्ट में अरजी दी, लेकिन कोर्ट ने मामले में चार्जशीट दाखिला होने के कारण रिमांड देने से इंकार किया. स्पेशल पीपी ने इसके बाद अरजी वापस ले लिया.  
इधर, एसएसपी अनूप टी मैथ्यू ने कहा कि विक्रम शर्मा के खिलाफ फरजी पैनकार्ड बनाने का मामला साकची थाना में दर्ज किया जायेगा. 
 
विक्रम के खाते में 20 लाख
विक्रम के चार बड़े बैंक खाते में 20 लाख रुपये बैलेंस हैं.  बैंक खाता बैंक ऑफ इंडिया, एसबीअाइ के अलावा अन्य दो बैंकों में हैं. पुलिस को जब्त दस्तावेज में विक्रम का एचडीएफसी बैंक में फिक्स डिपोजिट का पेपर, कुछ म्युचअल फंड में इनवेस्टमेंट तथा एलआइसी का पेपर भी मिला है. उसके आठ एटीएम कार्ड मिले हैं. पुलिस विक्रम शर्मा के एमजीएम थाना के आशियाना के फ्लैट नंबर इ011 में भी जाकर जांच करने के प्लान में हैं. फिलहाल डीएसपी सुधीर कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम जांच में जुटी हुई थी. टीम में एमजीएम थानेदार इमदाद अंसारी, उलीडीह थाना प्रभारी मुकेश चौधरी और बिष्टुपुर थाना प्रभारी श्रीनिवास शामिल हैं.
 
 

Advertisement

Comments