jamshedpur

  • Dec 9 2019 6:09AM
Advertisement

एमजीएम : अस्पताल में खड़े-खड़े सड़ गये वाहन शव ले जाने को गाड़ी नहीं मिलने पर मचाया हंगामा

 जमशेदपुर  :  एमजीएम अस्पताल शव ले जाने के लिए वाहन नहीं मिलने पर रविवार को लोगों ने हंगामा किया. सड़क दुर्घटना में सिदगोड़ा बाबूडीह निवासी हाथीराम हेसा की मौत के बाद परिजन शव ले जाने के लिए अस्पताल प्रबंधन से वाहन की मांग कर रहे थे. अस्पताल प्रबंधन की ओर से बताया गया शव वाहन नहीं है इसलिए प्राइवेट गाड़ी में ही शव ले जाना होगा. 

 
उसी दौरान एक युवक की नजर अस्पताल में जंग खा रही शव गाड़ी पर पड़ी. उसने आपत्ति दर्ज करते हुए हंगामा किया. युवक का कहना था कि शव वाहन होते हुए अस्पताल प्रबंधन ने उसे सड़ा दिया ताकि लोग बाहर से मजबूरी में किराये की गाड़ी ले जा सके. कोई रास्ता नहीं बचने पर परिजन ऑटो से शव लेकर श्मशान गये और अंतिम संस्कार किया. 
 
मालूम हो कि शनिवार को वोट डालकर सरायकेला से लौट रहे बाइक सवार जीजा-साला को सीनी मोड़ के पास अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी थी. गंभीर हालत में जीजा हाथीराम हेसा और साला लाल सिंह कुंकल को एमजीएम अस्पताल लाया गया था. हाथीराम ने अस्पताल पहुंचने के पूर्व ही दम तोड़ दिया था. कुंकल गंभीर रूप से घायल था. कुंकल का इलाज एमजीएम अस्पताल में चल रह है.
 
सरायकेला से वोट देकर लौट रहे जीजा-साला को वाहन ने मारी थी टक्कर 
जीजा की मौत, साला का चल रहा इलाज 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement